You Already Reviewed
राजेश वर्मा के सांसद आदर्श ग्राम मीरा नगर का #RealityCheck (Star Rating : 0)

सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत सीतापुर के सांसद राजेश वर्मा ने मीरा नगर को गोद लिया है. गोद लेने के वक़्त वादों की झड़ी लगा दी गयी मगर साढ़े तीन साल बाद भी गाँव की सूरत ज्यादा नहीं बदली.

राजेश वर्मा के सांसद आदर्श ग्राम मीरा नगर का #RealityCheck

यह इलाका किसी भी मायने में अपने आसपास के गाँवों से अलग नहीं दिखता. मीरा नगर में विकास की सुस्त रफ़्तार के बावजूद सांसद महोदय ने हुमायूँपुर गाँव को भी गोद लिया है. गाँव की मुख्य सड़क तो अच्छी है मगर ज़्यादातर सड़के अब भी खडंजा वाली है और वो भी सांसद के गोद लिए जाने से पहले की बनी है. गाँव की नालियों की पक्कीकरण का काम अब भी ठंडे बस्ते में है.

यहाँ आंशिक विद्युतीकरण हुआ है जिसे अब सौभाग्य योजना के माध्यम से पूरा किया जा रहा है. गाँव में बिजली आपूर्ति भी पहले जैसी ही है. गाँव में स्वास्थ्य व्यवस्थायें ख़ुद बीमार नज़र आती है. ऐसे में लोगों के लिए जिला अस्पताल ही एकमात्र सहारा है. सांसद महोदय ने पानी की समस्या को दूर करने का वादा किया था मगर यह भी जस की तस है. पानी की टंकी बनाने का काम अभी तक शुरू भी नहीं हो सका है. यहाँ आठवीं के बाद पढाई के साधन नहीं होना भी ग्रामीणों की परेशानी का सबब है.

यह भी पढ़ें : REALITY CHECK : SANSAD ADARSH GRAM YOJANA (SAGY) OF UTTAR PRADESH

गाँव में केवल नाम मात्र के शौचालय बने है और खुले में शौच मुक्त होने के लिए इस थोडा और इंतज़ार करना होगा. गाँव के लोग बैंक और डाक घर के खुलने के इंतज़ार में है जिसका सांसद राकेश वर्मा ने वादा किया था. गाँव के लोगों का कहना है की सांसद ने बिना गाँव आये ही इस गाँव को गोद लिया था.

2016 तक एक गाँव को आदर्श बनाना था मगर राकेश शर्मा के गोद लिए दोनों ही गाँवों में कछुए की रफ़्तार से विकास हो रह है.

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

0

Leave a Comment

Related posts

Mukhtar Ansari

UP News Desk

Sushil Kumar Shakya

UP News Desk

Rahul Prakash

UP News Desk