Home » देश » रेप देश के लिए शर्म की बात, राजनीतिकरण न करें : पीएम मोदी

रेप देश के लिए शर्म की बात, राजनीतिकरण न करें : पीएम मोदी

pm-narendra-modi-speaks-on-kathua-case-in-londoon-webminster

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लंदन में वेबमिंस्टर हॉल में वहां रह रहे भारतीयों को संबोधित करते हुए देश में हो रहे बलात्कार के मुद्दे पर अपनी बात खुलकर रखी। इस दौरान पीएम ने कठुआ की घटना का जिक्र किया और कहा कि आरोप-प्रत्यारोप नहीं होना चाहिए ऐसे मामलों में। एक बेटी के साथ अत्याचार हम सहन नहीं कर सकते हैं। मैंने खुद लालकिले से कहा था कि बेटियों से सवाल करने वाले बेटों से क्यों सवाल नहीं करते हैं।

लंदन में अपने सम्बोधन में कठुआ-उन्नाव रेपकेस पर बोले पीएम:

कठुआ और उन्नाव गैंगरेप मामले में कार्रवाई को लेकर आलोचनाओं का सामना कर रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि इसपर राजनीति नहीं किया जाना चाहिए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को लंदन के सेंट्रल हॉल वेस्टमिंस्टर में कहा कि रेप, रेप होता है और इसका राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा , ‘‘हम हमेशा अपनी बेटियों से पूछते हैं कि वो क्या कर रही हैं, कहां जा रही हैं. हमें अपने बेटों से भी पूछना चाहिये. जो व्यक्ति ये अपराध कर रहा है, वह भी किसी का बेटा है.’’

पीएम मोदी ने कहा कि बेटी के साथ जघन्य अपराध करने वाला भी किसी का बेटा ही है. ऐसे में लोगों को यह सवाल अपने बेटों से भी करना चाहिए. हम इस तरह के अत्याचार को बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं। इससे पहले भी पीएम मोदी ने इस घटना पर बोलते हुए कहा था कि इस मामले में जो भी दोषी हो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी, फिर वह चाहे जो भी व्यक्ति हो.

पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने दी पीएम मोदी को नसीहत: 

बता दें कि कठुआ और उन्नाव रेप मामले में पीएम मोदी की चुप्पी पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी हमला बोला था और कहा था कि पीएम जो सलाह मुझे देते थे उसका उन्हें खुद पालन करना चाहिए और उन्हें बोलना चाहिए.

इन मामलों को याद दिलाते हुए कांग्रेस समेत ज्यादातर विपक्षी पार्टियां बीजेपी की सरकार को महिला सुरक्षा को लेकर कठघरे में खड़ी कर चुकी है. कांग्रेस का कहना है कि सरकार पीड़िता को न्याय दिलाने के बजाय आरोपियों के पक्ष में खड़ी है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए कहा था कि सच में बेटियों को न्याय दिलाने के प्रति गंभीर हैं तो फास्ट ट्रैक कोर्ट को केस सौंप देना चाहिए. राहुल गांधी ने ट्विट कर कहा था कि 2016 में 19 हजार 675 नाबालिग से रेप की वारदातें हुई. यह शर्मनाक है. अगर प्रधानमंत्री सच में देश की बेटियों को न्याय दिलाने के लिए गंभीर हैं तो इन सभी मामलों को वह फास्ट ट्रैक कोर्ट में ट्रांसफर करें और जो दोषी है उनको सजा दिलाएं.

पीएम ने याद दिलाया लाल किले पर दिया अपना भाषण: 

‘भारत की बात, सबके साथ’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कहा , ‘‘मैं इस सरकार और उस सरकार में रेप की घटनाओं की संख्या की गिनती में कभी शामिल नहीं हुआ. रेप, रेप है, चाहे वह अब हुआ या पहले हुआ हो. यह बेहद दुखद है.’’ उन्होंने कहा कि किसी बेटी से रेप देश के लिये शर्म का विषय है. पीएम मोदी ने लंदन में आयोजित कार्यक्रम में अपनी सरकार की तारीफ के साथ कांग्रेस को भी आड़े हाथों लिया. उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक, विदेश नीति, सरकार के कामकाज समेत अन्य मसलों पर राय रखी.

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के कठुआ और उत्तर प्रदेश के उन्नाव में रेप की घटनाओं को लेकर राष्ट्रीय स्तर पर आक्रोश है. विरोध-प्रदर्शनों और विपक्षी दलों के हमलों के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों कहा था कि देश या राज्य के किसी भी हिस्से में ऐसी घटनाएं मानवता को उद्वेलित करती हैं. मैं देश को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि कोई दोषी बच नहीं पाएगा. इंसाफ होगा. पूर्ण रूप से न्याय होगा. बेटियों को इंसाफ मिलेगा. हमें साथ मिलकर इस बुराई को समाज से समाप्त करना होगा.

पीएम मोदी से अपनी तुलना न करें मनमोहन सिंह: रवि शंकर प्रसाद

 

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : pm-narendra-modi-speaks-on-kathua-case-in-londoon-webminster

Related posts

PNB में 11500 करोड़ का देश का सबसे बड़ा बैंकिंग घोटाला

Kamal Tiwari

मोहन भागवत का बयान, सेना 6-7 महीने में होगी तैयार, हमें लगेंगे 2 दिन

Kamal Tiwari

World Sparrow Day! Conserve and save this tiny, beautiful bird

Ketki Chaturvedi