Home » देश » लोकसभा के चुनवा के साथ अगर तीन राज्यों के चुनाव होते है तो क्या काग्रेंस इसके लिए तैयार है?

लोकसभा के चुनवा के साथ अगर तीन राज्यों के चुनाव होते है तो क्या काग्रेंस इसके लिए तैयार है?

lok sabha election 2019

लोकसभा चुनाव के साथ तीन राज्यों की ( महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखण्ड) के चुनाव करना काग्रेस के पक्ष में जा सकता इसके लिए काग्रेस तैयार भी है।

पिछली बार तीन राज्यों की चुनाव लोक सभा चुनाव के बाद ही हुए थे जिससे काग्रेंस की सरकार तीन राज्यों में चली गयी थी।
काग्रेंस के एक वरिष्ठ नेता भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने कहा है कि इससे काग्रेंस को फायदा ही होगा क्योंकि काग्रेस अभी तीन राज्यों की चुनाव जीत के उत्साहित है और जनता का मन भी काग्रेंस के पक्ष में है। साथ ही साथ भूपेन्द्र सिंह कहते है कि इसके लिए पार्टी तैयार है। और उनका यह भी मानना है कि यह जनादेष काग्रेंस के पक्ष में है तथा इसके लिए काग्रेंस तैयार है। यदि तीन राज्यों का चुनाव लोकसभा के साथ होता हैं तो इससे काग्रेंस को फायदा ही मिलेगा।

लोकसभा चुनाव के साथ उड़ीसा, अरूणाचल प्रदेश, तेलगांना तथा सिक्किम होते है।

  • लेकिन तेलगाना के चुनाव हो चुके है।
  • बाकि के राज्यों के चुनाव अक्टूबर से दिसम्बर के बीच होने है।
  • इसके लिए अटकले लगायी जा रही थी कि चुनाव लोकसभा के साथ कराने के अटकले चल रही थी परन्तु तीन राज्यो ( मध्य प्रदेष, राजस्थान, छतीसीगढ़) के परिणाम के बाद इस अटकले धीमी पड रही है।
  • क्योकि इसका सबसे बड़ा कारण है परिणाम भाजपा के पक्ष में नहीं आया है।
  • लोकसभाके साथ चुनाव कराने के पीछे दो तरक है था कि पहला भाजपा इससे अपना नफा नुकसान जोड़ रही थी
  • दूसरा एक राष्ट्र एक चुनाव का भी डिडोरा पीट रही थी।
  • लेकिन तीन राज्यों के परिणाम के बाद यह अटकले कमजोर पड़ती दिखाई दे रही है।

गडकरी ने आपत्ति जताई कि उनके बयानों को गलत तरीके से प्रस्तुत किया गयाः

  • गडकरी का कहना था कि चुनाव के हारजीत समय और संदेष अहम होता है।
  • परिणाम के बाद काग्रेंस मे खुषी की लहर है और ऐसे समय वह किसी भी चुनाव के लिए तैयार है और समय भी कम बचा है।
  • वही काग्रेंस के नेता भूपेन्द्र सिंह का कहना है कि इस परिणाम से सष्ट है कि जनमानस काग्रेंस के पक्ष में है और जब परिणाम आपके पक्ष में है तो इसके प्रभाव के अन्य चुनाव पर भी पडे़गा।
  • जहाँ तक स्पष्ट है कि उनका इस ओर इषारा है कि अन्य राज्यों के चुनाव भी काग्रेंस के पक्ष में जा सकते है।
  • उन्होंने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव के हारके बाद काग्रेस के सभी राज्यों की सरकार गिर गयी।
  • लोकसभा का परिणाम अन्य चुनाव पर भी पड़ा इससे स्पष्ट है कि जनमानस काग्रेंस के पक्ष में दिख रहा है।
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Uttar Pradesh Desk

Related posts

मुंबई मे नेतन्याहू 26/11 हमले में मारे गये लोगों को देंगे श्रद्धांजलि

UP News Desk

ट्रिपल तलाक बिल: स्टैंडिंग कमेटी को लेकर विपक्ष अड़ा

Divyang Dixit

मोदी सरकार ने लांच किया ये खास ऐप, अब घर बैठे होंगे सारे काम

Praveen Singh

Leave a Comment