Home » देश » भाजपा के खिलाफ राहुल का हल्लाबोल, आज एक दिन के उपवास पर कांग्रेस

भाजपा के खिलाफ राहुल का हल्लाबोल, आज एक दिन के उपवास पर कांग्रेस

congress nationwide-fast-and-rahul-gandhi-at-rajghat

आगामी कर्नाटक विधानसभा चुनाव और साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस और भाजपा ने एक-दूसरे के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इस समय दलितों के मुद्दे को लेकर भी राजनीति शुरू हो गई है। दोनों ही दल खुद को दलितों का हितैषी बताने में लगे हुए हैं। इसी के तहत कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज राजघाट में बापू की समाधि के सामने एक दिन का उपवास रखेंगे। वहीं मोदी सरकार भी 12 अप्रैल को उपवास रखेंगी.

दलितों के मुद्दे कांगेस देशव्यापी उपवास पर, राहुल करेंगे राजघाट पर अनशन:

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी हर ओर से केंद्र की मोदी सरकार को घेरने में जुटे हुए हैं. देश में सांप्रदायिक सौहार्द और दलितों के खिलाफ अत्याचार के मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी अनशन करेंगें. राहुल अकेले ही इस मैदान में नहीं उतरे हैं। उनके आह्वान पर सभी राज्यों और जिला मुख्यालयों पर कांग्रेस कार्यकर्त्ता  भी एक दिन का उपवास रखेंगे। इसी कड़ी में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी दिल्ली में राजघाट स्थिति महात्मा गांधी की समाधि पर उपवास करेंगे. उनके साथ कांग्रेस के सभी आला नेता होंगे.

राहुल सीबीएसई पेपर लीक, पीएनबी घोटाले, कावेरी मुद्दे, आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने और दलितों के खिलाफ हो रहे हमले जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर संसद में चर्चा कराने में केंद्र सरकार की नाकामी के खिलाफ यह उपवास कर रह रहे हैं।

कांग्रेस के नए संगठन महासचिव अशोक गहलोत की तरफ से पार्टी के सभी प्रदेश अध्यक्षों, एआईसीसी महासचिवों/प्रभारियों और विधायक दल के नेताओं के भेजे गए दिशा निर्देश में कहा गया है कि सांप्रदायिक सौहार्द को बचाने और बढ़ाने के लिए सभी राज्यों और जिलों के कांग्रेस मुख्यालयों में 9 अप्रैल को उपवास रखा जाए. इसमें 2 अप्रैल को भारत बंद के दौरान हुई गड़बड़ियों और हिंसा के हवाले से कहा गया है कि ये दुर्भाग्यपूर्ण है. बीजेपी शासित केन्द्र और राज्य की सरकारों ने हिंसा रोकने और दलितों के हक के संरक्षण के लिए कुछ नहीं किया. ऐसे मुश्किल वक्त में कांग्रेस को आगे बढ़ कर नेतृत्व करने की जरुरत है।

भाजपा 12 को रखेंगी उपवास:

गौरतलब है कि भाजपा भी विपक्ष पर संसद न चलने देने का आरोप लगाते हुए 12 अप्रैल को अपने सांसदों को उपवास का निर्देश दे चुकी है। सरकार ने विपक्ष पर फूट डालने की राजनीति करने का आरोप लगाया है। संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा कि कांग्रेस लोकतंत्र का गला घोट रही है। सभी भाजपा सांसद अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में 12 अप्रैल को एक दिन का उपवास रखेंगे। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी गत शुक्रवार को इसकी घोषणा की थी।

बता दें कि राहुल गांधी और कांग्रेस का उपवास बीजेपी के उपवास से दो दिन पहले हो रहा है। दलितों के मामले ने जिस तरह से तूल पकड़ा और भारत बंद के दौरान जो हिंसा हुई उसके पीछे बीजेपी विपक्ष को ज़िम्मेदार ठहरा रही है. जाहिर है कांग्रेस और बीजेपी दोनों उपवास के ज़रिए अपने अपने तरीक़े से दलितों के हक़ में खड़ा दिखने की कोशिश कर रहे हैं.
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : congress nationwide-fast-and-rahul-gandhi-at-rajghat

Related posts

100 दिन तो दूर, 40 दिन भी मजदूर को मनरेगा से काम मिलना मुश्किल

Kamal Tiwari

सीपीएम ने भी दिया मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव

Shivani Awasthi

प्राचीन धरोहर की रक्षा के लिए संसद में ‘प्राइवेट मेंबर बिल’ लाऊंगा-सांसद संजय सिंह

Desk