Home » देश » एक फिरकापरस्त पुलिस अधिकारी द्धारा की गई एक सिख युवक की निर्ममता पूर्वक पिटाई

एक फिरकापरस्त पुलिस अधिकारी द्धारा की गई एक सिख युवक की निर्ममता पूर्वक पिटाई

A police officer thrashed a Sikh youth by ruthlessness

एक फिरकापरस्त पुलिस अधिकारी द्धारा की गई एक सिख युवक की निर्ममता पूर्वक पिटाई

भरतपुर (राजस्थान)।  बीते दिन जैसे ही सोशल मिडिया पर एक फिरकापरस्त पुलिस हवलदार का एक गरीब रिक्शा चालक लबाना सिख युवक की पिटाई करते का वीडियो वायरल हुआ। सिख संगत आक्रोश ली लहर दौड़ गई। सिख एडवाइज़री कमेटी राजस्थान के कन्वीनर तेजिंदर पाल सिंह टिम्मा ने तुरंत घटना की जानकारी जत्थेदार श्री अकाल तख्त साहिब को दी। ज्ञानी हरप्रीत सिंह जी ने घटना की निंदा करते हुए। सिख जत्थेबंदियों को निर्देश दिया कि जुल्म सरकारी या गैर सरकारी हो उसका विरोध करना चाहिए। सिंह साहिब जी के निर्देश पर कन्वीनर टिम्मा ने तुरंत डाक्टर गुरदीप सिंह भरतपुर व भरतपुर गुरद्वारा कमेटी के प्रधान इंदरपाल सिंह जी से बात कर सारी जानकारी ली।

  • एक जागरूक व जिम्मेवार प्रधान होने के नाते वो पहले ही कमान संभाल चुके थे।

पुलिस अधीक्षक व आईजी को दी गई इस बावत जानकारी

सारी जानकारी लेने के बाद टिम्मा ने आई जी भरतपुर श्री भूपेंदर साहू व पुलिस अधीक्षक श्री हैदर जैदी से बात कर सिख संगत के आक्रोश की जानकारी दी। व तुरंत एक्शन लेने का निवेदन किया। सिख संगत की भावनाओं व अपने फ़र्ज़ के मद्देनज़र अधिकारीयों ने तुरंत हवलदार प्रताप सिंह को सस्पेंड कर दिया। जिस पर टिम्मा ने सिख पंथ की तरफ से अधिकारीयों को चेताया कि जब तक फिरकापरस्त हवलदार पर केस दर्ज़ कर सलाखों के पीछे बंद नहीं किया जाता। सभी सिख जत्थेबंदियों ने एक गरीब लबाना सिख व सिख कौम के स्वाभिमान के लिए इस संघर्ष में साथ देने के लिए डाक्टर गुरदीप सिंह भरतपुर, इंदरपाल सिंह भरतपुर, एडवोकेट राजेश टंडन अजमेर, इक़बाल सिंह अजमेर, वीर देविंदर अग्रवाल हनुमानगढ़ सहित सभी सिख संगतों का आभार व्यक्त किया।

  • चाहे इसके लिए हमे जयपुर जाकर मुख्यमंत्री का घेराव भी क्यों ना करना पड़े।
  • कौम अपने स्वाभिमान से कभी समझौता नहीं करेगी।
  • और जालम अधिकारी को सबक सिखाकर रहेगी।
  • तब तक सिख पंथ शांत नहीं बैठेगा।
  • आज अगर केस दर्ज़ नहीं हुआ तो सोमवार को सिख जत्थेबंदियों का एक शिष्टमंडल भरतपुर आई जी साहब से मिलेगा।
  • जयपुर में मीटिंग बुलाकर अगली रणनीति तय करेगा।
  • और जो भी सख्त से सख्त कदम उठाना पड़ा सिख जत्थेबंदियां उठाएंगी।
  • जिन्होंने एक जालिम के जुल्म के खिलाफ कौम का साथ दिया।
  • सिख जत्थेबंदियों ने भी दो टूक बोल दिया कि अगर इन्साफ नहीं मिला तो आर पार की लड़ाई लड़ेंगे।
  • हालात बिगड़े तो जिम्मेवारी राज्य सरकार की होगी।
  • ये लड़ाई किसी एक सिख की लड़ाई नहीं बल्कि कौमी स्वाभिमान की लड़ाई है।
मीडिया जगत भी कर रहा मामले की कड़ी निंदा व न्याय हेतु एसपी व आईजी से की फोनिक वार्तालाप

वही इस मामले में यूपी के सिक्ख संगत में रोष व्याप्त है। वे भी अपने कौम की आन बान व शान के लिए हर मोड़ पर न्याय दिलाने के लिए तैयार होने का ऐलान कर चुके है। अपनी कौम के साथ नाइंसाफी नही होने दी जाएगी। अगर उक्त दोषी के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत करके उसे जेल न भेजा गया तो सिक्ख समाज यूपी में भी इसका पूर्ण जोर विरोध करेगा। इसी मामले में ठोस कदम न्यूज़ के प्रधान संपादक ने भी निंदा करते हुए सरकार व प्रशासन से जल्द की उक्त दोषी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही करने की मांग की है। जिसमे उन्होंने पुलिस अधीक्षक व आईजी भरतपुर से टेलीफोनिक वार्तालाप कर उचित कार्यवाही कर न्याय देने की मांग की।

  • जिसमे आईजी ने एसपी को तत्काल कार्यवाही करने की निर्देश दिया।
  • एसपी हैदर जैदी ने एप्लिकेशन देने पर एफआईआर दर्ज करने का भी आश्वासन दिया है।
  • कि उन्हें एप्लिकेशन मिलने पर ही तत्काल मुकदमा पंजीकृत कर दिया जाएगा।
  • व अगली कार्यवाही करते हुए वे न्याय अवश्य देंगे।
रिपोर्ट:- संजीत सिंह सनी
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : UP ORG DESK

Related posts

नरोदा दंगा मामले में आया फैसला, माया कोडनानी हुईं बरी

Yogita

11 बजे तक नागालैंड में 44% और पंजाब में 31% तक मतदान

Shivani Awasthi

AAP के 20 पूर्व विधायकों की अपील पर HC में सुनवाई टली

Kamal Tiwari

Leave a Comment