* एक लाख पच्चीस हज़ार और नौकरी दी जाएँगी 31 दिसंबर 2021 तक

अजय हरिनाथ सिंह की कंपनी डार्विन प्लेटफार्म ग्रुप ऑफ़ कम्पनीज (DPGC) ने मई 2021 में कोविड-19 महामारी के बीच में मेगा एम्प्लॉयमेंट स्कीम की घोषणा की थी। द डार्विन प्लेटफार्म ग्रुप ऑफ़ कम्पनीज ने 27 और अलग वेंचर्स में एक्सपेंशन प्लान अन्नोउंस किये है। यह अनाउंसमेंट माइनिंग, एयरलाइन,शिपिंग, फार्मिंग, फाइनेंस, वाइनरी और मास मीडिया इंडस्ट्री के लिए की गयी है और उनका टारगेट है भारत के हर राज्य में मिनिमम 20000 मंथ के पेरोल पर डेढ़ लाख लोगों को नौकरी देना। इस से वह  पूरे देश में 40 लाख के करीब डायरेक्ट रोजगार जेनरेट कर पाएंगे।

आज तक, डार्विन ग्रुप ने 34000 नौजवानो को अलग अलग सेक्टर से हायर किया है। डार्विन की टीम दिन रात मेहनत करके एलिजिबल कैंडिडेट को शॉर्टलिस्ट कर रही है।

अजय हरिनाथ सिंह, कंपनी के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर ने बताया, “125000 और नौकरियाँ 31 दिसंबर तक लोगों को दी जाएगी , क्यूंकि हम देख रहे है  धीरे धीरे मार्किट मूव कर रही है , जैसे जैसे मार्किट खुलेंगी वैसे वैसे गाइड लाइन फॉलो करते हुए और नौकरियां भी दी जाएँगी। हर नौकरी घर से नहीं की जा सकती है और फील्ड नौकरी के लिए वैक्सीनेशन जरुरी है। अभी फिलहाल हम उड़ीसा , उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखण्ड, तमिल नाडु और कर्नाटक से लोग हायर कर रहे है।

डार्विन प्लेटफार्म ग्रुप ऑफ़ कम्पनीज के तहत, अजय हरिनाथ सिंह सुखोई 30 और MIG एयरक्राफ्ट को रूस से दूसरे देशो में भी बेच रहे है।उनके पास  ईस्ट यूरोप में एक आयल रिग और रिफाइनरी भी है और वह अब अपना आयल बिज़नेस रूस में फैलाना चाहते है। वह सल्तनत ऑफ़ ओमान में इंफ्रास्ट्रक्चर और बैंकिंग बिज़नेस में भी है। डार्विन ग्रुप ऑफ़ कम्पनीज , बैंकिंग, रियल्टी, हॉस्पिटैलिटी, माइनिंग, फार्मास्युटिकल्स, और फिल्म  प्रोडक्शन में इन्वॉल्व्ड है। सिंह और संस डार्विन प्लेटफार्म ग्रुप ऑफ़ कम्पनीज की पैरेंट कंपनी है और वह 11 देशो में फैली हुई है और उसका नेट वर्थ 41000 करोड़ है और वह पूरी तरह से डेब्ट फ्री है।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें