ड्रग कंट्रोलर ऑफ इंडिया ने भारत में दो कोरोना वैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की दी मंजूरी ।

ड्रग कंट्रोलर ऑफ इंडिया ने भारत में दो कोरोना वैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की दी मंजूरी ।

कोविशील्ड और कोवैक्सिन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मिली मंजूरी ।

ड्रग कंट्रोलर ऑफ इंडिया (DCGI) ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा विकसित वैक्सीन कोविशील्ड(Covishieled) और स्वदेशी भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सिन(Covaxin) के आपात इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है। कोरोना महामारी से लड़ाई के मद्देनजर लंबे समय से कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) का इंतजार किया जा रहा था । यह इंतजार अब खत्म हो गया है।

इससे पहले इन दोनों कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल की सिफारिश करने वाली सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमिटी (CEC) ने कुछ शर्तों के साथ दोनों वैक्सीन के आपात इस्तेमाल को हरी झंडी दी थी, जिस पर आज ड्रग कंट्रोलर ऑफ इंडिया (DCGI)  ने आखिरी मुहर लगाई है।

आक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसीत वैक्सीन को सीरम इंस्टीट्यूट कोविशील्ड नाम से भारत में उत्पादन कर रहा है, वहीं स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सिन को भारत बायोटेक और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) ने विकसित किया है।

डीसीजीआइ से मंजूरी मिलने के बाद अब देश में कोरोना वैक्सीन का इस्तेमाल शुरू हो जाएगा।

देश में दो कोरोना वैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिलने के बाद पीएम मोदी ने बधाई दी है।

पीएम मोदी ने एक ट्वीट में कहा है कि एक उत्साही लड़ाई को मजबूत करने के लिए ये एक निर्णायक मोड़! उन्होंने लिखा कि DCGI भारत के सीरम संस्थान और भारत बायोटेक के टीकों को स्वीकृति प्रदान करते हुए स्वस्थ और COVID मुक्त राष्ट्र के लिए मार्ग को तेज करता है। भारत को बधाई। हमारे मेहनती वैज्ञानिकों और नवप्रवर्तनकर्ताओं को बधाई।

भारत में दो कोरोना वैक्सीन को आपातकाल में इस्तेमाल की मंजूरी मिलने का विश्व स्वास्थ्य संगठन(डब्ल्यूएचओ) ने स्वागत किया है।

डब्ल्यूएचओ दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र की क्षेत्रीय निदेशक डॉ. पूनम खेत्रपाल सिंह ने कहा है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने COVID19 वैक्सीन के लिए भारत द्वारा आपातकालीन उपयोग के अधिकार देने के निर्णय का स्वागत किया है।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें
Next Post