Home » 7 सितंबर : इतिहास के पन्नों में आज के दिन क्या है ख़ास
Top News

7 सितंबर : इतिहास के पन्नों में आज के दिन क्या है ख़ास

september 7 indian history

भारत का इतिहास हमेशा से ही अपने-आप में एक मिसाल के तौर पर उभरा है। यहाँ पर होने वाली सभी गतिविधियाँ हमेशा से ही अपने साथ इन दिनों की महत्ता लेकर आते हैं। इस देश का इतिहास अपने-आप में एक मिसाल है और हमेशा ही रहेगा। इस देश का हर एक दिन इतना ख़ास रहा है कि यह इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया है।

आज का दिन है खास-

  • 1906 : बैंक ऑफ इंडिया की स्थापना हुई।
  • 1965 : चीन ने घोषणा की कि वह भारतीय सीमा पर तैनात अपने सैनिकों को सुदृढ़ करेगा।
  • 1965 : भारतीय सीमा पर चीन द्वारा सेना की तैनाती की घोषणा।
  • 2005 : तेल के बदले अनाज कार्यक्रम की जांच रिपोर्ट पेश किया गया।
  • 2008 : भारत-अमेरिका परमाणु करार के तहत NSG के 45 सदस्यों ने भारत को अंतर्राष्ट्रीय बिरादरी से परमाणु व्यापार की छूट दी।
  • 2008 : बंगाल के राज्यपाल गोपालकृष्ण गांधी, राज्य के मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य व तृणमूल कांग्रेस के अध्यक्ष ममता बनर्जी के बीच सिंगूर में टाटा मोटर्स के मामले में सहमति बनी।
  • 2008 : कनाडा ने जोसेफ केरोन को भारत में अपना नया उच्चायुक्त नियुक्त किया।
  • 2009 : सूखे को देखते हुए वित्त मंत्रालय ने गैर योजना खर्च में 10% की कटौती के आदेश दिये।
  • 2009 : भारत के पंकज आडवाणी ने विश्व पेशेवर बिलियडर्स का खिताब जीता।
  • 2009 : 55वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार 2007 में सर्वश्रेष्ठ फिल्म का खिताब निर्देशक प्रियदर्शन की फिल्म ‘कोजीवरम’ को मिला।
  • 2011 : दिल्ली में रात 11. 28 बजे रिक्टर फैमाने पर 4.2 तीव्रता का 6 सेकेंड तक चलने वाला भूकंप आया।
  •  भूकंप का केंद्र हरियाणा के सोनीपत में स्थित था।
  • 2011 : दिल्ली उच्च न्यायालय के परिसर के द्वार संख्या 5 पर सूटकेस में बम  विस्फोट हुआ।
  • इस विस्फोट में 11 लोगों की मौत हो गई और 74 लोग घायल हो गये।

यह भी पढ़ें… 5 सितंबर : इतिहास के पन्नों में आज के दिन क्या है ख़ास

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

नोटबंदी के 56वें दिन पीएम मोदी ने दिखाया ’56 इंच’ का सीना!

Divyang Dixit

सूरत नहीं सीरत से हुआ प्यार, एसिड अटैक सरवाइवर से रचाई शादी!

Namita

गोवा : मरगाँव में 7 तारीख को फिर से होगा मतदान, दोषपूर्ण प्रक्रिया के चलते लगाई थी रोक!

Vasundhra