Home » 4 सितंबर : इतिहास के पन्नों में आज के दिन क्या है ख़ास
Top News

4 सितंबर : इतिहास के पन्नों में आज के दिन क्या है ख़ास

september 4 indian history

भारत का इतिहास हमेशा से ही अपने-आप में एक मिसाल के तौर पर उभरा है। यहाँ पर होने वाली सभी गतिविधियाँ हमेशा से ही अपने साथ इन दिनों की महत्ता लेकर आते हैं। इस देश का इतिहास अपने-आप में एक मिसाल है और हमेशा ही रहेगा। इस देश का हर एक दिन इतना ख़ास रहा है कि यह इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया है।

आज का दिन है खास-

  • 1665 : मुगलों और छत्रपति शिवाजी महराज के बीच राजा जय सिंह संधि पर हस्ताक्षर हुए।
  • 1825 : राजनीतिज्ञ दादा भाई नौरोजी का जन्म हुआ।
  • 1880 : स्वतंत्रता संग्राम के प्रसिद्ध क्रांतिकारी, लेखक और समाजशात्री भूपेंद्रनाथ का जन्म हुआ।
  • 1888 : महात्मा गांधी ने इंग्लैंड के लिए समुद्री यात्रा शुरु की।
  • 1894 : प्रसिद्ध और अनुसंधानकर्ता ज्ञानचंद्र घोष का जन्म हुआ।
  • 1912 : भारतेंदु कालीन प्रमुख साहित्यकारों में से एक मोहनलाल विष्णु पांड्या का निधन हुआ।
  • 1946 : भारत में अंतरिम सरकार का गठन किया गया।
  • 1967 : 6.5 तीवत्रा वाले भूकंप की चपेट में आया महाराष्ट्र का कोयना बांध, 200 से ज्यादा लोगों की मौत हुई।
  • 1997 : धर्मवीर भारती का निधन हुआ।
  • 2008 : मायावती सरकार ने उत्तर प्रदेश संगठित अपराध विरोधी कानून (यूपीकोका) विधएयक 2007 को तत्काल प्रभाव से वापस करने का निर्णय किया।
  • 2008 : केंद्रीय कैबिनेट ने सातराज्यों में निर्वाचन क्षेत्रों के पुननिर्धारण के संबंध में परिसीमन आयोग की सिफारिशों में सुधार प्रस्ताव को मंजूरी दी।
  • 2009 : गुजरात हाई कोर्ट ने असवंत सिंह की मुहम्मद अली जिन्ना पर लिखई गई किताब पर गुजरात में लगे प्रतिबंध को हटाया।
  • 2009 : कोयला कंपनी SCCL को मिनी रत्न कंपनी के सम्मान स्वायत्ता दी गयी।

यह भी पढ़ें… 3 सितंबर : इतिहास के पन्नों में आज के दिन क्या है ख़ास

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

26 जून : जानें इतिहास के पन्नों में आज का दिन क्यों है ख़ास!

Deepti Chaurasia

पीएम मोदी ने 32वीं ‘मन की बात’ से किया जनता को संबोधित!

Vasundhra

नागालैंड में बर्खास्त हुई लीजीत्सू की सरकार!

Deepti Chaurasia