Home » विवाह कोई डील नहीं एक पवित्र सम्बन्ध है, इसे गंभीरता से लें-दिल्ली हाईकोर्ट
Top News

विवाह कोई डील नहीं एक पवित्र सम्बन्ध है, इसे गंभीरता से लें-दिल्ली हाईकोर्ट

Delhi High Court

दिल्ली हाईकोर्ट द्वारा एक महिला द्वारा दाखिल उस याचिका पर सुनवाई चल रही थी जिसमें महिला को कानूनी तौर पर पत्नी मानने से इनकार कर दिया था.इस पर दिल्ली हाईकोर्ट ने जवाब दिया है.शादी की पवित्रता को समझे ये कोई डील नहीं है.इस मामले में दस्तावेज़ द्वारा किसी अंतिम फैसले पर पहुंचना असंभव है.मामला पूरी तरह ज्ञात होना चाहिए.

महिला द्वारा की गई थी नौकरी की मांग

  • महिला द्वारा इस मामले में एक याचिका दायर की गयी थी.
  • महीले की पति की म्रत्यु हो चुकी है.
  • उसने अनुकम्पा के आधार पर पति की नौकरी की मांग की थी.
  • पति सरकारी अस्पताल में सफाई कर्मचारी था.
  • पति ने चिकित्सा अधिकारी को पत्नी को ड्यूटी करने की मांग की थी.

बिना शादी किये महिला के साथ रह रहा था

  • उच्च न्यायालय द्वारा इसपर सवाल उठाया जा रहा है.
  • जून 1990 में विवाह संबंधी दस्तावेज के जरिए इस तथ्य पर सवाल उठाए जा रहे हैं.
  • मई 1994 में पत्नी का निधन हो गया था.
  • इस मामले  में कोर्ट द्वारा सवाल उठाया जा रहा है.
  • दो जून 1990 को व्यक्ति की पत्नी जीवित थी.
  • जबकि व्यक्ति बिना शादी के अपनी पहली पत्नी के साथ रह रहा था.
  • महिला के कहने से वो उसकी पत्नी नहीं मानी जा सकती है.
  • वो किस आधार पर खुद को पत्नी बता रही है.
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

बजट सत्र 2017 : कांग्रेस आज उठायेगी पेट्रोल व एलपीजी के बढ़ते दामों का मुद्दा!

Vasundhra

रायपुर: भयंकर आग लगने से धूं-धूं कर जली गाड़ियां, तस्वीरें!

Namita

नोटबंदी का असर : 15 वर्षों में इस शीतकालीन सत्र में सबसे ज्‍यादा हुआ हंगामा!

Vasundhra