गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा यात्रा पर पथराव के बाद भड़की हिंसा ने युवक चंदन की जान ले ली जिसके बाद पूरे कासगंज को हिंसा की आग ने अपनी चपेट में लिया. उत्तर प्रदेश के कासगंज जिला में तिरंगा यात्रा के दौरान हुई हिंसा के दौरान हिंसा में चंदन की हत्या के मामले में शनिवार को मृतक का अंतिम संस्कार किया गया. परिजन पहले तो अंतिम संस्कार के लिए तैयार नहीं थे लेकिन कड़ी सुरक्षा के बीच जब स्थानीय सांसद ने सीएम योगी से परिजनों की बात करवाई इसके बाद मृतक का अंतिम संस्कार किया गया. वहीं फायरिंग में गोली लगने से घायल नौशाद का इलाज अलीगढ़ में चल रहा है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित परिवार को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है. फोन पर हुई बातचीत के दौरान सीएम योगी ने कहा कि उनकी संवेदना परिवार के साथ है. किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जायेगा. वहीँ इस मामले पर जिग्नेश मेवाणी ट्वीट कर खुद ही फंसते दिखाई दिए जब उनके ट्वीट पर तीखी प्रतिक्रियाएं आने लगी.

जिग्नेश मेवाणी के इस ट्वीट पर मचा बवाल: 

कासगंज हिंसा को लेकर गुजरात के युवा नेता के तौर पर अपनी पहचान बनाने में जुटे जिग्नेश मेवाणी ने ट्वीट किया. जिग्नेश ने लिखा, ‘बस दो चार अफवाहें उड़ा दो, यहाँ जब चाहे दंगा करा दो, रोटी-वोटी लोग भूल जायेंगे, बस मंदिर-मस्जिद मुद्दा उठा दो.’

इसके जवाब में लोगों ने जिग्नेश को ही निशाना बनाना शुरू कर दिया.

इस ट्वीट पर एक यूजर ने लिखा..

https://twitter.com/Royal_Rajsthani/status/957310400206331904

दलित का चोला ओढ़ के कोंग्रेस का बेस बढ़ा दो आजादी आजादी चिल्ला के हिन्दुओं को हिन्दुओं से लड़ा दो.

आकांक्षा ने लिखा- ”जब कोई दलित या मुस्लिम मरता है तो तुम्हें अफवाह शब्द याद नहीं आता है, तब तो सीधा लोकतंत्र खतरे में आ जाता है.

निशांत ने लिखा.. आज के डेट में दंगा भड़काने में अभी भी तुम 1 नम्बर पे हो। तुम्हारे आजू बाजू में भी कोई नही है.

एक यूजर ने भीमा कोरेगांव हिंसा के लिए जिग्नेश और उमर खालिद को जिम्मेवार भी ठहराया.

https://twitter.com/539HKBAju7SMJgE/status/957478090032099329

वहीँ एक यूजर ने कहा, जनहित सूचना: भारत मे वन्देमातरम अपने रिस्क पर बोलें, अन्यथा जान भी जा सकती है.

शकील के घर से देशी बम और पिस्टल बरामद:

चन्दन की हत्या का आरोपी शकील अभी भी फरार है जबकि आज उसके घर से तलाशी के दौरान देशी बम और पिस्टल बरामद की गई है. कासगंज के कई इलाकों में आज भी आगजनी की घटनाएँ हुई हैं और बंद पड़ी कुछ दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया है. वहीँ पुलिस लगातार सघन तलाशी अभियान चलाकर दोषियों को पकड़ने की कोशिश में जुटी हुई है.

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें