Home » राजस्थान बॉर्डर पर घुसपैंठ को रोकेंगे अब ट्रिप फ्लेयर से !
Top News

राजस्थान बॉर्डर पर घुसपैंठ को रोकेंगे अब ट्रिप फ्लेयर से !

इंडो-पाक बॉर्डर राजेस्थान

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान की तरफ से आतंकवादिक गतिविधियाँ लगातार बढती जा रही हैं साथ ही पाकिस्तान लगातार भारतीय सीमा में घुसपैठ करने कि कोशिशों में लगा हुआ है । गौरतलब  है कि इस समय भी भारतीय सेना के जवान जम्मू-कश्मीर के पास पंपोर में पिछले 48 घंटे से आतंकवादियों से लड़ रहे हैं । पाकिस्तान द्वारा की जा रही भारतीय सीमा में घुसपैठ की इस समस्या के देखते हुए सेना कि आर्डिनेंस विंग ने राजस्थान के रेगिस्तान में भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर बीएसएफ के जवानों को ट्रिप फ्लेयर तकनीक से लैस करना शुरू कर दिया है।

कैसे काम करती है ट्रिप फ्लेयर तकनीक ?

  • राजस्थान के रेगिस्तान में भारत-पाकिस्तान बॉर्डर वाला इलाका काफी दुर्गम है।
  • ऐसी जगहों पर  पेट्रोलिंग करना आसान नहीं है ख़ास कर के रात के समय ।
  • ट्रिप फ्लेयर ऐसी जगहों पर लगाया जाता है जहाँ घुसपैठ कि सम्भावना सब से ज्यादा हो।
  • रेगिस्तान  के इलाके में घुसपैंठ रोकने में ट्रिप फ्लेयर तकनीक बेहद कारगर है।

ये भी पढ़ें :पम्पोर में आतंकियों पर सर्जिकल स्ट्राइक पिछले दो दिनों से जारी

  • क्यों कि ट्रिप फ्लेयर से निकलने वाली तेज़ आवाज़ और रौशनी को दूर से देखा जा सकता है।
  • दरअसल ट्रिप फ्लेयर में मिट्टी के रंग का पतला सा धागा रहता है।
  • जो रेगिस्तान के धूल में दबा रहता है।
  • जैसे ही किसी भी प्रकार का प्रेशर या लोड इस पर पड़ता है ये विस्फोट के साथ जलना शुरू कर देता है ।
  • इससे निकलने वाली तेज़ रौशनी को रात के अंधेरे में वाच टावरों पर से आसानी से देखी जा सकता है ।
  • ट्रिप फ्लेयर के जलते ही सेना तुरंत घुसपैठ वाली जगहों पर पहुँच कर घुसपैंठ रोक सकती है।
  • ट्रीप फ्लेयर पहले वहीं लगाया जाता था जो इलाका घुसपैठ के लिहाज से संवेदनशील हो।
  • मगर अब सेना द्वारा डीआरडीओ से इसे ज्यादा से ज्यादा संख्या में उपलब्ध करवाने के लिए कहा गया है।
  • ताकि पूरी सीमा पर तारबंदी के नीचे इसे लगाया जा सके।

ये भी पढ़ें :कार्यकर्ता मेहनत तो करते हैं, लेकिन सिद्धांतों को भूल गए हैं- सपा प्रमुख

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

मुंबई इलेक्शन वाच- 225 विजयी विधायकों में से 43 पर आपराधिक मामले और 144 करोड़पति!

Prashasti Pathak

मेनन : पाक को अपनी सेना से ही है परमाणु हथियारों का खतरा!

Vasundhra

गोवा सरकार-सुप्रीम कोर्ट का आदेश 16 मार्च को हो फ्लोर टेस्ट, पर्रिकर के शपथ ग्रहण पर रोक से इनकार!

Prashasti Pathak