Home » निर्वाचन आयोग ने केजरीवाल से मांगी दलित घोषणापत्र की दो कापियां !
Top News

निर्वाचन आयोग ने केजरीवाल से मांगी दलित घोषणापत्र की दो कापियां !

arvind-kejriwal

अगले साल के आरम्भ में पंजाब में चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने 9 दिनों का पंजाब दौरा किया था। इस दौरे के दौरान अरविंद केजरीवाल ने पंजाब में आम आदमी पार्टी का ‘दलित घोषणापत्र’ भी जारी किया था । यही घोषणा पत्र अब केजरीवाल के लिए मुसीबत बन गया है। बता दें कि इस घोषणा पत्र में अरविन्द केजरीवाल ने पंजाब में दलित को उप मुख्यमंत्री बनाने का वादा करके मुसीबत मोल ले ली है। चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी के दलित घोषणापत्र की 2 कॉपियां मंगवाई है।

निर्वाचन आयोग ने क्यों माँगा दलित घोषणापत्र ?

  • बता दें कि 1 नवंबर को निर्वाचन आयोग ने मतदाताओं को लुभाने और वोट पाने के लिए चुनाव में झूठे,फर्जी और बड़े बड़े वायदे करने वाली राजनीतिक पार्टियों पर रोक लगाने के लिए कुछ नियम बनाये थे।
  • जिसके अंतर्गत सभी राजनीतिक पार्टियों को मतदाताओं से वायदा करने से पहले।
  • इन वायदों का एक एफिडेविट बना कर चुनाव आयोग को सौपना था  ।
  • ऐसा ना करने कि स्थिति में चुनाव आयोग पार्टियों से उनका चुनाव चिन्ह वापस ले सकता है।
  • इसी नियम के अंतर्गत आयोग ने आप पार्टी के दलित घोषणापत्र की 2 कॉपियां मंगवाई है।
  • बता दें कि केजरीवाल ने जालंधर जिले के गोराया में अलग से दलित घोषणा पत्र जारी किया था।
  • जिसमें उन्होंने दलित समुदाय से उप-मुख्यमंत्री बनाने का वादा किया था।
  • यही नही केजरीवाल ने ये भी वादा किया था की पंजाब में पिछले 10 सालों में दलितों के खिलाफ हुए अत्याचार की जांच के लिए एक विशेष जांच दल का भी गठन किया जायेगा।
  • चुनाव आयोग को दलित घोषणापत्र में किये गए कुछ वादों पर एतराज़ है।
  • हालांकि चुनाव आयोग को किस वादे पर एतराज है, ये आयोग ने भी तक ज़ाहिर नही किया है।

ये भी पढ़ें :कालेधन पर एक और हमला, लोकसभा में पास हुआ आयकर संशोधन बिल

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

राहुल गाँधी ने मोदी को संसद में ईमानदार रहने की दी सलाह

Prashasti Pathak

अमरिंदर सिंह ने जेल ब्रेक पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह को लिखा पत्र!

Mohammad Zahid

वीआइपी कल्चर : आदेश जारी होते ही इन मंत्रियों ने हटाई लालबत्ती!

Vasundhra