Home » बिहार : नाबालिग को बांधकर जिंदा जलाया, लड़की की हुई मौत!
Top News

बिहार : नाबालिग को बांधकर जिंदा जलाया, लड़की की हुई मौत!

bihar minor girl burnt alive

देश में महिलाओं के साथ होने वाली घटनाओं में काफी इज़ाफा हो गया है. देश के हर क्षेत्र से महिलाओं से साथ होने वाली घटनाओं की आये दिन खबरें आती रहती हैं. इसी क्रम में बिहार से एक खबर आ रही है. जिसमे एक नाबालिग लड़की को पहले बाँध दिया गया जिसके बाद उसे ज़िंदा जला दिया गया है.

दो लड़कों द्वारा किया गया यह अपराध :

  • बिहार के समस्तीपुरा से दिल दहला देने वाली खबर आ रही है.
  • बता दें कि यहाँ एक नाबालिग लड़की को बंदकर ज़िंदा जला दिया गया है.
  • इस कृत्य को अंजाम देने वाले दो युवक हैं जिन्होने पहले लड़की को बांधा और बाद में उसे जला दिया.
  • बता दें कि घटना के बाद उस लड़की की जलने के कारण मौत हो गयी है.
  • बता दें कि इस मामले में पुलिस द्वारा मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच हो रही है.
  • पुलिस ने पहली सूरत में इसे किसी पिछली घटना का बदला बताया है.
  • साथ ही कहीं न कहीं यह आशंका जताई है कि इस लड़की से साथ कुछ गलत भी किया गया है.
  • हालाँकि लड़की का शरीर बुरी तरह से झुलस जाने के कारण इसका पोस्टमार्टम होना मुश्किल लग रहा है.
  • आपको बता दें कि देश में महिलाओं के साथ आये दिन किसी ना किसी घटना को अंजाम दिया जा रहा है.
  • यही नहीं इस घिनौने कृत्य में अब हैवान छोटी बच्चियों को भी नहीं बख्श रहे हैं.
  • साथ ही जहाँ जिस परिस्थिति में मौक़ा मिल रहा है वे उसे हैवानियत में बदल रहे हैं.
  • आपको बता दें कि हाल ही में राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम से एक महिला के साथ दुष्कर्म की घटना की खबर आई थी.
  • आरोपियों पर हैवानियत इस तरह हावी थी कि उन्हें महिला की नौ माह की बच्ची पर भी तरस नहीं आया.
  • जिसके बाद उन्होंने इस बच्ची को चलते ऑटों से बाहर फेंक दिया था जिसके चलते उस बच्ची की मौत वहीँ हो गयी थी.
  • साथ ही उस महिला की आबरू को भी लूट लिया गया.

यह भी पढ़ें : राष्ट्रपति चुनाव : बीजेपी उम्मीदवार 23 जून को भरेंगे नामांकन!

 

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

खुले पैसे की कमी से देश में हाहाकार-टोल पर जाम,पेट्रोल पंप बंद

Mohammad Zahid

Zakir Musa and Majid Mir Phone Call redrawing militant alliances

Anil

31 मार्च : रिज़र्व बैंकों के बाहर पुराने नोट बदलने के लिए उमड़ी भीड़!

Vasundhra