Home » 42 तस्वीरें: मंदिरों में उमड़ी भक्तों की भीड़, शिवजी के 12 ज्योतिर्लिंग हैं यहां!
सब

42 तस्वीरें: मंदिरों में उमड़ी भक्तों की भीड़, शिवजी के 12 ज्योतिर्लिंग हैं यहां!

mahashivratri images 2017

देश भर में महाशिवरात्रि 2017 का पर्व बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है।

  • शिवजी के प्राचीन मंदिरों, शिवालयों में देर रात से ही बम-बम भोले के जयकारे गूंज रहे हैं।
  • मंदिरों के बाहर भक्तों लंबी-लंबी कतारें देखने को मिलीं।
  • राजधानी लखनऊ के डालीगंज स्थित मनकामेश्वर मंदिर में भक्तों की भीड़ उमड़ी रही।
  • भोलेनाथ के दर्शन के लिए भक्त नंगे पर उनकी शरण में पहुंचे और अपनी मनोकामना पूरी करने की कामना की।

देखिये मनकामेश्वर मंदिर की भव्य तस्वीरें:

[ultimate_gallery id=”59105″]

12 शिवरात्रियों में से सबसे महत्वपूर्ण है महाशिवरात्रि

  • भोलेनाथ के बारह ज्योतिर्लिंग हैं जहां भक्त खूब पूजा-पाठ करते हैं।
  • मनकामेश्वर मंदिर की महंत दिव्यागिरि ने बताया कि एक साल में होने वाली 12 शिवरात्रियों में से सबसे महत्वपूर्ण महाशिवरात्रि को माना जाता है।
  • उन्होंने ने बताया कि महाशिवरात्रि पर सुबह से ही भगवान शिव के मंदिरों में बूढ़े, जवान, युवा, महिलाओं समेत तमाम भक्तों का तांता लगा हुआ है।
  • भक्त पारंपरिक तरीके से शिवलिंग की पूजा और प्रार्थना कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- मायावती ने ‘महाशिवरात्रि’ की बधाई देते हुए पीएम मोदी पर साधा निशाना!

यहां स्थापित हैं बारह ज्‍योर्तिलिंग

  • महाराष्ट्र की भीमा नदी के किनारे भीमशंकर ज्योतिर्लिंग स्थापित है।
  • महाराष्ट्र के ही नासिक में त्र्यंम्बकेश्वर ज्योतिर्लिंग स्थापित है।
  • महाराष्ट्र में ही एलोरा गुफा के पास वेसल गांव में घुमेश्वर ज्योतिर्लिंग स्थापित है।
  • गुजरात के काठियावाड़ में सोमनाथ शिवलिंग स्थापित है।
  • गुजरात के द्वारकाधाम के पास नागेश्वर ज्योतिर्लिंग स्थापित है।
  • मद्रास में भगवान श्रीराम द्वारा समुद्र के तट पर त्रिचनापल्ली में रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग स्थापित है।
  • मद्रास में कृष्णा नदी के किनारे पर्वत पर श्री शैल मल्लिकार्जुन शिवलिंग स्थापित है।
  • उज्जैन के अवंति नगर में महाकालेश्वर शिवलिंग स्थापित है।
  • मध्यप्रदेश के ओंकारेश्वर में नर्मदा तट पर ॐकारेश्वर (ममलेश्वर) ज्योतिर्लिंग स्थापित है।
  • बिहार के बाबा बैद्यनाथ धाम में द्वादश ज्योतिर्लिग स्थापित है।
  • उत्तराखंड में केदारनाथ ज्योतिर्लिंग स्थापित है।
  • उत्तर प्रदेश के वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर में विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग स्थापित है।

महाशिवरात्रि पर यह हैं पूजा का शुभ मुहूर्त

  • भगवान भोलेनाथ की पूजा के लिए महाशिवरात्रि के दिन सुबह 6:30 बजे से अगले दिन 7:37 बजे तक,
  • निशिथ काल पूजा 24:08 से 24:59 बजे तक,
  • 25 फरवरी को 06:54 से 15:24 बजे तक पारण का समय है,
  • 24 फरवरी को रात 21:38 बजे चतुर्दशी तिथि शुरू होगी और यह 25 फरवरी को 21:20 बजे चतुर्दशी तिथि समाप्त होगी।
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

Manoj Bajpayee made me comfortable on the sets ‘The Family Man’, says debutant Vijay Vikram Singh

Bollywood News

देश में 18 साल से ऊपर के करीब 99% भारतीयों के पास है आधार कार्ड

Sudhir Kumar

2007 मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामला : स्वामी असीमानंद को मिली ज़मानत!

Sudhir Kumar