बड़ी खबर: सुपरटेक बिल्डर का एक और 'कारनामा' उजागर

बड़ी खबर: सुपरटेक बिल्डर का एक और

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सुपरटेक जार सूट्स प्रोजेक्ट मामले में अवैध फलैटो को सील करने का आदेश दिया था. लेकिन इसके बाद भी सुपरटेक बिल्डर ‘Supertech Builder’ सुधरने का नाम नही ले रहा है.

सुपरटेक बिल्डर मामले में और बड़ा खुलासा: 

सुपरटेक ने धोखाधड़ी की हर सीमा पार कर दी है.
सुपरटेक ने गाजियाबाद में ग्रीन बेल्ट कब्जा की है.
सुपरटेक के वसुंधरा प्रोजेक्ट में ग्रीन बेल्ट कब्जा है.
सुपरटेक के फ्रॉड औऱ गुंडागर्दी से जीडीए डर रहा है.
फाइल में ध्वस्तीकरण दिखाया,मौके पर कब्जा है.
आरोप हैं कि सुपरटेक ने नोएडा में दो बड़े फर्जीवाड़े किए हैं.
सेक्टर 34 प्रोजेक्ट में 86 अवैध फ्लैट बनाए.
सुपरटेक के 137 प्रोजेक्ट में भी फ्रॉड बताये जा रहे हैं.
सेक्टर 137 प्रोजेक्ट में 150 फ्लैट अवैध बताये जा रहे हैं.
बताया जा रहा है कि नोएडा अफसरों की मिलीभगत से अवैध मंजूरी मिली.

आरके अरोड़ा, शक्तिनाथ, निर्मल सिंह की तिकड़ी:

  • बता दें कि इस मास्टरप्लान में आरके अरोड़ा, शक्तिनाथ, निर्मल सिंह की तिकड़ी है.
  • जिसके तहत सुपरटेक बिल्डर का नोएडा में फ्रॉड का मामला सामने आया है.
  • बता दें कि नोएडा के सेक्टर 34 में अवैध फ्लैट बनाए गए हैं.
  • वहीँ मंजूर नक्शे के विपरीत 100 अवैध फ्लैट गए हैं.
  • यही नहीं सुपरटेक ने ग्राहकों को झूठ बोल कर इस तरह ठगने का काम किया है.
  • आपको बता दें कि अथॉरिटी ने 100 फ्लैट अवैध घोषित किए हैं.
  • इसलिए सुपरटेक में निवेश बहुत जोखिम भरा हो गया है.

Share it
Share it
Share it
Top