CM योगी ने अपनी पहली बैठक में अधिकारियों को लेकर किया ‘बड़ा फैसला’!

CM योगी ने अपनी पहली बैठक में अधिकारियों को लेकर किया ‘बड़ा फैसला’!

[nextpage title="CM yogi" ]उत्तर प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने सोमवार 20 मार्च से ही अपने घोषणा पत्र के वादों को पूरा करना शुरू कर दिया है। इसके साथ ही अपने कार्यकाल के पहले दिन मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने पहले बूचड़खानों पर बड़ा फैसला लिया। इसके बाद मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने लोक भवन में सूबे के अधिकारियों के साथ बैठक में एक बहुत बड़ा फैसला लिया है।

अगले पेज पर जानें मुख्यमंत्री योगी का पहली बैठक में लिया गया ‘बड़ा फैसला’:

[nextpage title="CM yogi2" ]

अधिकारी देंगे संपत्ति का ब्यौरा:

  • उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने सोमवार को लोक भवन में बैठक बुलाई थी।
  • बैठक में सूबे के सभी सचिव और प्रमुख सचिव आदि को तलब किया गया था।
  • मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने बैठक में सभी अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए।
  • जिस दौरान पहला आदेश यह जारी किया गया कि, सभी सचिव और प्रमुख सचिव अपनी संपत्ति का ब्यौरा सरकार को देंगे।
  • जिसके लिए सभी अधिकारियों को 15 दिनों का समय दिया गया है।

स्वच्छता की दिलाई गयी शपथ:

  • उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने लोक भवन में सभी सचिव और प्रमुख सचिव की बैठक बुलाई थी।
  • इस दौरान उन्होंने सभी अफसरों को स्वच्छता की शपथ दिलाई।
  • इसके साथ ही बैठक में सभी अधिकारियों को 24 घंटे में संकल्प पत्र पढ़कर उसे लागू करने के आदेश दिए गए हैं।
  • इसके साथ ही सूबे में गन्दगी की समस्या को लेकर भी सख्त निर्देश जारी किये गए हैं।
  • मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने यह भी साफ़ किया कि, सरकार भ्रष्टाचार के मामले में जीरो टॉलरेंस अपनाएगी।
  • बैठक में यह भी कहा गया कि, रोजगार, किसान और मजदूरों के मुद्दे पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

Share it
Share it
Share it
Top