ATS ने संदिग्ध आतंकी को मुंबई एयरपोर्ट से किया गिरफ्तार!

ATS ने संदिग्ध आतंकी को मुंबई एयरपोर्ट से किया गिरफ्तार!

यूपी एटीएस ने महाराष्ट्र पुलिस की मदद से मुंबई एयरपोर्ट से एक (suspected let terrorist) संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार करने का दावा किया है। एटीएस का दावा है कि सलीम खान नाम का यह आतंकी लश्कर से जुड़ा है। एटीएस सूत्रों के मुताबिक संदिग्ध आतंकी से पूछताछ की जा रही है।चंद्र ग्रहण 2017: बंद रहेंगे मनकामेश्वर मंदिर के कपाट!
  • यह संदिग्ध 15 अगस्त को लेकर रेकी कर रहा था।
  • साथ ही किसी बड़े हमले की साजिश करने की योजना बना रहा था।
  • हालांकि इस संदिग्ध आतंकी के गिरफ्तार होने की कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।
अब हृदय रोग संस्थान में मरीजों पर गिरा एसी डक्ट, 3 घायल!

फतेहपुर जिले का रहने वाला है संदिग्ध आतंकी

  • बता दें कि पकड़ा गया संदिग्ध सलीम खान पुत्र मुकीम खान उत्तर प्रदेश के फतेहपुर के बंदीपुर थाना हाथ गांव का रहने वाला है।
  • वह यूपी एटीएस से वांछित था।
  • सुरक्षा एजेंसी पिछले कई माह से उसकी तलाश कर रही थीं।
  • आतंकी गतिविधियों
    में लिप्त लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी को गोपनीय सूचना के आधार पर मुंबई एयरपोर्ट पर सोमवार को गिरफ्तार किया गया है।
  • सलीम से यूपी एटीएस की टीम मुंबई में पूछताछ कर रही है।
CBCID ने शुरू की डिंपल के निर्विरोध निर्वाचन की जांच!

पाकिस्तान में आतंकी कैम्पों में ले चुका प्रशिक्षण

  • बता दें कि सलीम खान पाकिस्तान में आतंकी कैंप में रहकर प्रशिक्षण भी ले चुका है।
  • आतंकी सलीम पिछले माह 3 मई 2017 को फैजाबाद से गिरफ्तार आफताब अली पुत्र वाजिद अली निवासी कंघी वाली गली ख्वासपुरा
    फ़ैजाबाद
    को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर फंडिंग करने में संलिप्त रहा है।
  • एटीएस की गिरफ़्तारी के बाद खुलासा हुआ था कि इस आईएसआई एजेंट को पाकिस्तानी दूतावास के एक अधिकारी मेहरबान अली को सेना की गोपनीय सूचना उपलब्ध कराने के आरोप में यूपी एटीएस द्वारा फैजाबाद से गिरफ्तार किया गया था।
मेरठ में फिर डबल मर्डर, दंपत्ति के कमरे में मिले शव!

नाम बदल कर कर रहा था फंडिंग

  • गौरतलब है कि आतंकी आफताब अली की गिरफ्तारी के बाद फंड उपलब्ध कराने में एक व्यक्ति दानिश का नाम सामने आया था।
  • सोमवार को मुंबई एयरपोर्ट पर गिरफ्तार सलीम ही दानिश है जो आफताब को फंडिंग प्रकरण में यूपी एटीएस से वांछित था।
  • पकड़ा गया संदिग्ध आतंकी नाम बदल कर आतंकियों को फंडिंग उपलब्ध करवा रहा था।
  • सूत्रों के मुताबिक अब एटीएस के अधिकारी इस संदिग्ध आतंकी को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर लखनऊ लाने की तैयारी कर रहे हैं।
  • जहां से आगे की कार्रवाई तय की जायेगी।
वीडियो: ये हैं कलयुग के ‘श्रवण कुमार’, माता-पिता को करा रहे यात्रा!

ये भी पढ़ें:

आतंकी आदिल से पूछताछ कर रही यूपी एटीएस!पिछले दिनों जम्मू कश्मीर में गिरफ्तार संदीप कुमार शर्मा उर्फ आदिल (sandeep kumar sharma) पुत्र राम कुमार शर्मा निवासी थाना नई मंडी जनपद मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश से यूपी एटीएस की टीम द्वारा J&K पहुंच कर अन्य सुरक्षा एजेंसियों के साथ पूछताछ की जा रही है। यह जानकारी यूपी 
एटीएस
 के आईजी असीम अरुण ने दी।
आखिर भाजपा सरकार में ही क्यों होते हैं आतंकी हमले!

लश्कर के आतंकियों के साथ चलाता था गाड़ी

  • आईजी ने बताया कि पूछताछ में यूपी एटीएस की टीम को संदीप शर्मा उर्फ आदिल से जानकारी मिली कि वह लश्कर-ए-तोएबा के आतंकियों के साथ वेपन ट्रेनिंग का प्रशिक्षण ले चुका है।
  • लश्कर के साथ उनके वाहन ड्राइविंग का कार्य भी करता था।
  • पूछताछ में संदीप शर्मा उर्फ आदिल ने तीन घटनाओं की जानकारी दी है।
डॉक्टर ने नाबालिग का अश्लील वीडियो बनाकर किया वॉयरल!
  • 1- 3 जून 2017 को काजीगुंड मे आर्मी कानबाई के ऊपर हमला किया था।
  • 2- 13 जून 2017 को अनंतनाग से जस्टिस निवास गार्ड पोस्ट से हथियार लूटने की घटना को अंजाम दिया था।
  • 3- 16 जून 2017 को पुलिस पार्टी के ऊपर अच्छबाल मे हुए हमले में वाहन चलाना तथा फायरिंग करने में अपनी संलिप्तता भी उसने स्वीकार किया है।
तस्वीरें: गंदगी से भयानक बदबू, सड़क पर चलनें की जगह नहीं!

संदीप शर्मा की आईडी दिखाकर खुद को बचाता था

  • यूपी एटीएस टीम को संदीप शर्मा उर्फ आदिल से यह भी जानकारी मिली कि वह कई बार रोके टोके जाने पर संदीप शर्मा नाम बताकर तथा इसी नाम से बनी हुई ID को दिखाकर संदेह न होने का लाभ लेते हुए वह बच भी निकलता था।
कानपुर चिड़ियाघर में वेतन ना मिलने पर श्रमिकों ने काटा हंगामा!
  • यूपी एटीएस द्वारा संदीप शर्मा
     के अन्य किसी भी मामलों में संलिप्तता के बारे में जानकारी हेतु पूछताछ की जा रही है।
  • यूपी एटीएस टीम का नेतृत्व उपनिरीक्षक सचिन कुमार द्वारा की जा रही है।
  • बता दें कि संदीप 2012 में कश्मीर घाटी आया था और यहां एक वेल्डर के रूप में काम कर रहा था।
  • लश्कर-ए-तैयबा में शामिल होने से पहले वह शाहिद अहमद के संपर्क में आया था।
  • इसके बाद (sandeep kumar sharma) आतंकी गतिविधियों में लिप्त हो गया
आतंकवादियों को मारने के लिए सेना को मिले खुली छूट!

Share it
Share it
Share it
Top