प्रतापगढ़ में लगभग 200 दलित शिक्षकों का गलत तरीके से वेतन फ्रीज!

प्रतापगढ़ में लगभग 200 दलित शिक्षकों का गलत तरीके से वेतन फ्रीज!

प्रदेश के 12 दलित प्रधानाध्यापकों को गलत तरीके से रिवर्ट किये जाने व प्रतापगढ़ में लगभग 200 दलित शिक्षकों का गलत तरीके से वेतन फ्रीज किये के मामले पर संघर्ष समिति संयोजकों ने प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा (deputy cm dinesh sharma) से मुलाकात की।ये भी पढ़ें- नगर निगम में बह रही उल्टी गंगा, जानिए कैसे!
  • उप मुख्यमंत्री ने संघर्ष समिति के ज्ञापन पर आख्या तलब करते हुए दिया आश्वासन कहा यदि अधिकारियों ने गलत रिवर्शन किया होगा तो जेल जायेंगे।
  • प्रदेश के सभी विभागों में दलित कार्मिकों के उत्पीड़न पर जल्द ही संघर्ष समिति प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी से भी मुलाकात करेगी।
  • 3 लाख दलित शिक्षकों में रोष माध्यमिक शिक्षा विभाग में 12 दलित प्रधानाध्यापकों को गलत तरीके से 2 दिन पूर्व रिवर्ट किये जाने जो जनपद कन्नौज, बिजनौर, हरदोई, झाॅसी, बाॅदा, हमीरपुर, एटा, हाथरस, पीलीभीत एवं अमरोहा मे राजकीय हाईस्कूल में कार्यरत थे।
  • साथ ही प्रतापगढ़ में लगभग 200 दलित शिक्षकों का वेतन फ्रीज किये जाने के मुद्दे पर आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति, उ0प्र0 के संयोजक अवधेश कुमार वर्मा के नेतृत्व में अन्य संयोजकों डॉ0 रामशब्द जैसवारा, आर0पी0 केन, अनिल कुमार, अन्जनी कुमार व जय प्रकाश ने आज सचिवालय में प्रदेश के उप मुख्यमंत्री एवं माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा मंत्री दिनेश शर्मा से मुलाकात कर एक ज्ञापन सौंपा।
  • चर्चा उपरान्त यह बताया कि माध्यमिक शिक्षा विभाग में आरक्षण अधिनियम 1994 की धारा-3(2) के तहत पदोन्नति पाये 12 प्रधानाध्यापकों को विगत 2 दिन पूर्व गलत तरीके से रिवर्ट कर दिया गया है।
  • जो सुप्रीम कोर्ट आदेश की परिधि में नहीं आते।
  • जिससे पूरे प्रदेश में लगभग 3 लाख दलित शिक्षकों में काफी रोष व्याप्त है।
ये भी पढ़ें- तो क्या कुर्सी बचाने के लिए SSP ने जारी करवाई ऑडियो क्लिप!

सीएम से करेंगे मुलाकात

  • प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने संघर्ष समिति संयोजकों के सामने ही ज्ञापन पर अविलम्ब पूरे मामले पर आख्या तलब करने का निर्देश दिया।
  • साथ ही संघर्ष समिति को आश्वस्त भी किया कि यदि गलत तरीके से रिवर्शन किया गया है तो रिवर्शन करने वाले अधिकारी निश्चिततौर पर जेल जायेंगे और उनके खिलाफ कठोर कार्यवाही होगी।
  • समिति के नेताओं ने पुनः अपनी बात दोहराते हुए कहा कि जिस प्रकार से सपा सरकार में कुछ दलित विरोधी मानसिकता के अधिकारियों द्वारा 5 साल दलित कार्मिकों का उत्पीड़न किया गया।
  • उसी तर्ज पर भाजपा सरकार में भी कुछ आरक्षण विरोधी मानसिकता के उच्चाधिकारी सभी विभागों में दलित कार्मिकों के उत्पीड़न पर आमादा हैं।
  • सभी विभागों की रिर्पोट तैयार की (deputy cm dinesh sharma) जा रही है।
  • बहुत जल्द ही संघर्ष समिति प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी से मुलाकात कर पूरे मामले की जानकारी दी जायेगी।
ये भी पढ़ें- LDA भेजा स्पीडपोस्ट, डाक विभाग ने पहुंचा दिया हरिद्वार!

Share it
Share it
Share it
Top