विशेष: इस मंदिर में रहता है 1000 साल का नाग!

विशेष: इस मंदिर में रहता है 1000 साल का नाग!

दुनिया भर में हिन्दू देवी-देवताओं के मंदिरों की संख्या काफी ज्यादा है। भारत में खासकर मंदिरों की संख्या लाखों में मानी जाती है। भारत में नागों के भी अनेको मंदिर हैं जो दुनिया भर में प्रसिद्द है मगर एक मंदिर ऐसा है जिसकी खासियत लोगों को दूर-दूर से यहाँ पर खिंच कर ले आती है। आज हम आपको भारत के इसी नाग मंदिर की खासियत को विस्तार में बताएँगे।

उज्जैन में स्थित हैं मंदिर :

  • भारत देश में नागों के वैसे तो कई मंदिर देखने को मिल जाएँगे।
  • मगर एक खास मंदिर ऐसा है जिसकी खासियत सभी को हैरान कर देगी।
  • उज्जैन में स्थित इस ख़ास मंदिर का नाम नागचंद्रेश्वर रखा गया है।
  • दुनिया भर में मशहूर इस मंदिर के दरवाजे सिर्फ नागपंचमी के दिन ही खोले जाते हैं।
  • नागपंचमी पर इस मंदिर के कपाट रात 12 बजे खुलेंगे और सिर्फ 24 घंटें के लिए ही खुलेंगे।
  • इस मंदिर की खासियत है कि यहाँ पर नाग के फैले हुए फन पर शिव-पार्वती बैठे दिख रहे हैं।
  • मान्यता है कि ये प्रतिमा नेपाल से लाई गयी है और ऐसी दूसरी प्रतिमा कहीं नहीं है।
ये भी पढ़ें, तस्वीरें: कीचड़ के इस तालाब में नहाने के लिए दुनिया भर से आते है पर्यटक!
  • लोग ये भी मानते है कि नागपंचमी के दिन किस्मतवालों को नाग देवता के दर्शन भी होते हैं।
  • उज्जैन में बने इस मंदिर में दर्शन के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं।
  • नागपंचमी के एक दिन पहले से ही यहाँ पर लाइन लगना शुरू हो जाती है।
  • मंदिर के अंदर आते ही भगवन नागचंद्रेश्वर की मूर्ति के अद्भुत दर्शन होते हैं।
  • इसके बाद शेषनाग पर आसीन भगवन शिव और माता पार्वती के भी दर्शन होते हैं।
  • इस मंदिर के बारे में दुनिया भर में अलग-अलग चर्चा का माहौल बना हुआ है।
ये भी पढ़ें, तस्वीरें: इन घरो की बनावट सभी का 'सिर घूमा' देगी!

Share it
Share it
Share it
Top