वीडियो: मिलिए ‘अखिलेश जूनियर’ से, बातें सुन कर हो जाएंगे इनके कायल!

उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी में चल रहा गृहयुद्ध ख़त्म होने का नाम नहीं ले रहा है। इसके बावजूद समाजवादी पार्टी और अखिलेश समर्थकों में लगातार चुनाव को लेकर तयारियाँ शुरू की जा रही है। सोशल मीडिया पर इन दिनों अखिलेश यादव के एक ऐसे ही कार्यकर्ता का वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वह अखिलेश यादव के बारे में कुछ अनसुनी बातें बोल रहा है।

सोशल मीडिया पर हो रहा वायरल :

  • सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो समाजवादी पार्टी की किसी जनसभा का है.
  • यहाँ एक 10 साल का लड़का भी आया है.
  • पत्रकारों द्वारा पूछने पर वह बताता है कि वह समाजवादी पार्टी का स्टार प्रचारक है.
  • वह मुलायम सिंह यादव की तारीफ करता है
  • इसके अलावा वह अखिलेश यादव को अपना आदर्श बताता है और उनसे खुद को प्रेरित बताता है
  • हालाँकि यह वीडियो कहाँ की जनसभा का है, इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है.
  • मगर यह इस समय सोशल मीडिया पर इन दिनों काफी तेजी से देखा और शेयर किया जा रहा है.
  • समाजवादी पार्टी इस समय पार्टी के भीतरी झगड़ों को सुलझाने में लगी हुई है.
  • इसका बड़ा प्रभाव आगामी चुनाव में समाजवादी पार्टी को देखना पड़ेगा.
  • समाजवादी पार्टी में चल रहा ये गृहयुद्ध काफी समय से चल रहा है.

अलीगढ़: CM के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट UP 100 का हुआ शुभारंभ !

अलीगढ़: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट UP 100 का आज अलीगढ़ स्थित पुलिस ग्राउंड में शुभारम्भ किया गया ।

  • इस कार्यक्रम में शहर के विधायक ज़फर आलम भी मौजूद थे ।

loading ...

  • विधायक ज़फर आलम ने UP 100 की 75 इनोवा व बोलेरो कारों को हरी झंडी दिखाई ।
  • कार्यक्रम में DIG राजेंद्र प्रसाद सिंह यादव, SSP राजेश पांडेय सहित अन्य सभी थानाध्यक्ष व पुलिसकर्मी भी मौजूद थे ।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का विदेश दौरा कल से!

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव जी कल अपने विदेश दौरे के लिये रवाना होने वाले हैं। अखिलेश यादव कल ऑस्ट्रेलिया के लिये रवाना होंगे। उसके बाद अखिलेश यादव के इंग्लैंड जाने की भी सम्भावना है। अखिलेश यादव के 7 दिन के लिये विदेश दौरे पर जाने की उम्मीद है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव जी 8 तारीख को वापस आ सकते हैं। इससे पहले अखिलेश सरकार के 15 विधायकों के विदेश दौरे पर जाने की भी सूचना मिली थी।

बुन्देलखण्ड की वीर प्रसूता व ऐतिहासिक धरती पर पहुँचे उत्तर प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री “अखिलेश”!

बुन्देलखण्ड की वीर प्रसूता धरती अपनी ऐतिहासिकता और अध्यात्मिकता के लिए भी प्रसिद्ध है। भगवान रामचन्द्र की तपस्थली कामदगिरि, तुलसी की मानस रचना का स्थल, मन्दाकिनी के पवित्र रामघाट और डा0 लोहिया की रामायण मेला की कल्पना को सजीव करने वाले बुन्देलखण्ड में जब 31 मार्च को मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव पहुँचे तो वहाँ जन सामान्य का उत्साह और उल्लास देखते बनता था। बच्चे, बूढे़, नौजवान, बुजुर्ग, महिलांए सभी के मन में यह विश्वास था कि समाजवादी सरकार यहाँ विकास के जिस एजेंडा को लागू कर रही है उससे उनकी हालत सुधरेगी और उनका जीवन ज्यादा खुशहाल तथा सुरक्षित होगा। मुख्यमंत्री जी ने यहाँ सोलर पावर प्लांट दिया। वे क्षेत्रीय असुंतलन के शिकार इस क्षेत्र के विकास के लिए संकल्पित है।

uttar pradesh chief minister in bundelkhand
uttar pradesh chief minister in bundelkhand

सकंट की घड़ी में गरीबों के साथ खड़े होने की परंपरा समाजवादियों की रही है। मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने इसी का अनुसरण करते हुए महोबा में 1500 अंत्योदय परिवारों को सूखा राहत सामग्री के पैकेट बाँटे। इसके तहत हरेक को 10 किलो आटा, 5 किलो चने की दाल, 1 लीटर देशी घी, 1 किलो मिल्क पाउडर, 5 लीटर सरसों का तेल तथा 25 किलो आलू उपलब्ध कराया गया। उन्होंने महोबा में 14788,36 लाख लागत की 19 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण तथा 13 परियोजनाओं का शिलान्यास किया।

बुन्देलखण्ड दौरे के दौरान मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कलिजंर का किला, रामघाट, कामदगिरि परिक्रमा, रामायण मेला स्थल देखा। बाँदा जिले में कलिंजर का किला में शेरशाह सूरी की एक दुर्घटना में मौत हो गयी थी। उसने वर्षो शासन किया लेकिन इस बीच उसने पहला रुपिया जारी किया। उसका नाम देश में सबसे बड़े सड़क मार्ग ग्रांड ट्रंक रोड जी0टी0 रोड के निर्माण के लिए लिया जाता है। यह सड़क भारत-पाकिस्तान के बीच परिवहन के लिए इस्तेमाल की जाती है। 10वीं सदी में बने कलिंजर के किले में ग्रेनाइट पत्थरों का इस्तेमाल हुआ है।

chief minister, up on a visit to kalinjer fort (Bundelkhand)
chief minister, up on a visit to kalinjer fort (Bundelkhand)

कामदगिरि पर्वत जहाँ वनवास के दिनों में भगवान श्री रामचन्द्र जी साढ़ें 11 वर्षो तक रहे, वहाँ भी मुख्यमंत्री जी गए। उन्होंने मन्दाकिनी नदी के किनारे रामघाट के भी दर्शन किये जहाँ संत तुलसीदास ने रामचरितमानस की रचना की थी। यहाँ प्रचलित है ‘‘तुलसीदास चन्दन घिसे, तिलक करत रघुवीर’’। रामायण मेला की कल्पना डा0 राम मनोहर लोहिया ने की थी जिसको अमली जामा पहनाने का काम समाजवादियों ने ही किया।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव जहाँ भी गए वहाँ-वहाँ साधु संत, स्थानीय नर नारी सभी उनके स्वागत में उमड़ रहे थे। महिलांए और वृद्धजन उन्हें आशीर्वाद दे रहे थे। यह संयोग ही है कि बुन्देलखण्ड की मुख्यमंत्री जी की यात्रा एक ऐतिहासिक घटना है। अगर शेरशाह सूरी ने ग्रांड ट्रंक रोड के निर्माण से शोहरत हासिल की तो मुख्यमंत्री जी ने भी देश की सबसे आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे 6 लेन और पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे बनाकर सड़क परिवहन को सुगम बनाया है। यही नही, इसके किनारे-किनारे किसानों के लिए मंडी स्थल भी बनाए जा रहे है और पर्यटन तथा आवासीय योजनाओं को भी प्रोत्साहित किया जा रहा है। समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस वे 348.10 किमी लंबी है। जिससे लखनऊ से बलिया की यात्रा आसान होगी। आगरा- लखनऊ एक्सप्रेस-वे से इसी साल ट्रैफिक दौड़ने के इंतजार में है। इसी तरह का एक एक्सप्रेस-वे समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का प्रस्ताव है जो पूर्वी उत्तर प्रदेश को लखनऊ से जोड़ेगा जिससे नई दिल्ली और नोएडा क्षेत्र का विकास पूर्वी उत्तर प्रदेश तक पहुँच सकेगा। इस 348.10 किमी0 लंबी सड़क से दिल्ली दूर नही रहेगी। लखनऊ से बलिया कुछ घंटो में पहुँचा जा सकेगा।

Bundelkhand
Bundelkhand

बुन्देलखण्ड के दौरे में श्री अखिलेश यादव के प्रति प्रदर्शित जनविश्वास से विपक्षियों को सबक लेना चाहिए मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव के 4 वर्ष के समाजवादी सरकार के कार्यकाल में अधिकांश चुनावी वादे पूरे हो चुके है। सरकार ने कृषि अर्थव्यवस्था के साथ अवस्थापना सुविधाओं का विस्तार कर संतुलित विकास का मार्ग अपनाया है। ऐसी ताकतों को जो समाज में विघटनकारी गतिविधियों को बढ़ाती है और लोकतंत्र को क्षति पहुँचाती है उत्तर प्रदेश की सरकार से सबक लेना चाहिए। इन चार वर्षो में सरकार और मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव के प्रति भरोसा मजबूत हुआ है और विकास की नई दिशा का निर्धारण हुआ है। लोकतंत्र की असली ताकत यही है।

 

 

उत्तर प्रदेश पुलिस से जनता बेहाल, फिर भी सो रही “अखिलेश” सरकार!

लखनऊ में बढ़ते अपराधों से दहशत का माहौल बना हुआ है। उत्तर प्रदेश सरकार का पुलिस प्रशासन पर कोई भी नियंत्रण नहीं है। जिसकी वजह से पिछले कुछ दिनों से आये दिन नए-नए अपराधिक मामले सामने आ रहे हैं। जिनमें बलात्कार की घटनायें सबसे ज्यादा हैं। उत्तर प्रदेश सरकार अपराधिक घटनाएँ रोकने में विफल साबित हो रही है। आइये आपको बताते है कि कौन-कौन से वो मामले जो पुलिस अभी तक सुलझा नहीं पाई है-

  • अलीगढ़ में युवक की हत्या, पुलिस नहीं कर पाई अब तक शव का शिनाख्त।
  • लखनऊ में CO कैंट ऑफिस के पास 40 वर्षीय महिला का मिला शव। दुष्कर्म के बाद हत्याकर शव फेंके जाने की आशंका।
  • लखनऊ के आशियाना क्षेत्र के देवीखेड़ा इलाके में मिला शव। युवती के साथ रेप के बाद उसकी हत्या कर दी गयी
  • लखनऊ पुलिस हाथ पे हाथ धरे बैठी है।
  • काकोरी में दम्पति की घर के भीतर हत्या।
Crime In Uttar Pradesh
Crime In Uttar Pradesh
  • हजरतगंज में माफिया के गुर्गों ने पत्रकार को बेरहमी से पीटा।
  • विकासनगर में पुष्पजीत हत्याकांड का अबतक खुलासा नहीं।
  • गैंगरेप-मर्डर मामल में भी अब तक ठोस निष्कर्ष नहीं।
  • बड़े अफसरों के अहंकार,छोटे अफसरों के PR में फंसी पुलिस।
  • लाशों का डम्पिंग यार्ड भी बना राजधानी लखनऊ।
  • दूसरे जिलों की लाशों को राजधानी में फेंका जाता है।
  • गश्त की बजाए वसूली में लगी रहती है राजधानी पुलिस।
  • लखनऊ में हत्या कर फेंकी गई एक और लाश मिली।
dead body in gomti river
dead body in gomti river
  • गोमती नदी के तट पर हत्या कर फेंकी गई लाश।
  • गौतमपल्ली थाना क्षेत्र इलाके में हत्या कर लाश फेंकी।
  • एक ही दिन में राजधानी से दो लाशें बरामद।
  • पुलिस विभाग के बड़े अफसर मौके पर भी नहीं जाते।
  • इलाहाबाद में दारोगा को महिला ने घर बुलाकर बनाया बंधक।
  • इलाहाबाद में आशिकी में आधी रात में महिला के घर पहुंचे थे दरोगा।
  • महिला ने इलाहाबाद के दारोगा पर लगाया छेड़खानी का आरोप।
  • दारोगा साहब बचाव में बोले सट्टा पकड़ने पहुंचे थे महिला के घर। बिना वर्दी,बिना फोर्स दारोगा पहुंचे थे सट्टा पकड़ने।
  • उन्नाव में अधिवक्ता के बेटे की निर्मम हत्या का नहीं हुआ खुलासा।
  • पीड़ित परिजन लगा रहें हैं हसनगंज कोतवाली के चक्कर। होली के दिन फोन से बुलाकर की गई थी युवक की हत्या।
  • मृतक का बरामद मोबाइल भी परिजनों ने पुलिस को सौंपा। हसनगंज कोतवाली क्षेत्र के मोहनीखेड़ा गांव में हुई थी हत्या।
  • बरेली में शोहदों की करतूत से ब्यूटी पार्लर संचालिका परेशान। 3 महीने से कर रहे छेड़छाड़,अपहरण का किया प्रयास।
  • कई जगह शिकायत पर भी नहीं हो रही कार्रवाई। इज्जतनगर इलाके में रहती है पीड़िता।

राजधानी की पुलिसिंग व्यवस्था अब भगवान भरोसे ही है। राजधानी पुलिस पर अब अफसरों का नियंत्रण नहीं गया है,सीनियर अफसरों को खुश करने के लिए थानेदारों की तैनाती।

 

इटावा: मुख्यमंत्री “अखिलेश” के “मंत्री” के बिगड़ते बोल, CM”अखिलेश” के सामने दिया “गुंडागर्दी” करने का मन्त्र!

अखिलेश सरकार के मंत्री अपने बयानों के चलते अक्सर विवाद में रहते हैं, चाहें फिर वो आज़म खान हो या फिर कोई और। ताजा मामला अखिलेश सरकार के कृषि मंत्री विनोद कुमार सिंह उर्फ पंडित सिंह का है। कृषि मंत्री विनोद कुमार सिंह उर्फ पंडित सिंह का बेहद चौंकाने वाला बयान आया है।

https://www.youtube.com/watch?v=YJyps_M25nI

  • कृषि मंत्री विनोद कुमार सिंह ने कहा कि जैसे हम पूर्वांचल में कब्जा किए रहते हैं।
  • आप भी 2017 के विधान सभा चुनाव में मारपीट कर कब्जा करने का काम करियेगा। तभी हमारे युवा मुख्यमंत्री बनेंगे।
  • सैफई में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय कृषि मेले के कार्यक्रम में पंडित सिंह ने ये बातें कहीं।
Agriculture Minister Vinod Kumar Singh And Uttar Pradesh Chief Minister Akhilesh Yadav
Agriculture Minister Vinod Kumar Singh And Uttar Pradesh Chief Minister Akhilesh Yadav
  • पंडित सिंह ने कहा कि अखिलेश यादव का यह कार्यकाल गरीबी दूर करने के लिए था।
  • अगले पांच साल में इन गरीबों को बड़ा आदमी बनाने का काम हमारे मुख्यमंत्री करेंगे।
  • हैरानी की बात यह है जब कृषि मंत्री विनोद कुमार सिंह उर्फ पंडित सिंह यह बात कह रहे थे।
  • उस समय सभा में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और बड़े नेता भी उपस्थित थे
  • हजारों लोगों के सामने कहीं ये बात।

क्या अखिलेश के मंत्री इस तरह से अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनायेंगे? क्या अखिलेश यादव अपने मंत्रियो के इस तरह के बयानों पर लगाम लगा पायेंगें? ये तो वक़्त ही बताएगा। मगर ऐसे बयानों से अखिलेश सरकार की छवि को काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है, और इसका नकारात्मक असर अगले साल होने वाले विधान सभा चुनाव में भी देखने को मिल सकता है।