‘ झूठा पाउडर’ रखे जाने को रामगोविंद ने बताया सरकार की साजिश!

उत्तर प्रदेश के विधानसभा के मानसून सत्र की कार्यवाही(monsoon session proceedings) बीते 11 जुलाई से शुरू हुई थी, जिसके तहत सत्र के पहले दिन ही योगी सरकार ने अपना पहला बजट भी पेश किया था, इसी क्रम में गुरुवार से योगी सरकार ने अपने विभागों के बजट पेश करने शुरू कर दिए हैं। शुक्रवार 21 जुलाई को विधानसभा में विभागीय बजट पेश किये जाने हैं.

विपक्ष का सांकेतिक धरना:

  • विपक्षी विधायक धरने पर बैठ गए हैं.
  • विधानसभा में कार्रवाही का विरोध करने वाले विधायक मुंह पर पट्टी बांधकर विरोध जता रहे हैं.
  • चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के सामने विपक्षी विधायकों का सांकेतिक धरना शुरू हुआ है.
  • मुंह पर पट्टी बांधकर ये सभी विधायक विरोध कर रहे हैं.
  • वहीँ नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने योगी सरकार पर हमला बोला है.
  • राम गोविंद चौधरी ने कहा कि गरीबों के नेता चौधरी चरण सिंह की आत्मा को ज्ञापन दिया है.
  • उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार को सद्बुद्धि दे.
  • भाजपा सरकार लोकतंत्र की विधान सभा में हत्या कर रही है.
  • रामगोविंद चौधरी ने कहा कि इस सरकार में अघोषित इमरजेंसी जैसा माहौल है.
  • झूठा पाउडर लाकर विधान सभा को किले में बदल दिया गया.
  • अघोषित इमरजेंसी को पूरी तरह इमरजेंसी में बदलने के लिए पाउडर रखे जाने की शाजिस सरकार ने की है.
  • सरकार अब अपने जाल में खुद ही फंस गई है.

विस्फोटक ‘बम’ से विपक्ष ने ‘योगी सरकार’ पर बोला हमला!

उत्तर प्रदेश की विधानसभा (up assembly) में बीते 12 जुलाई को विस्फोटक पदार्थ मिला था, जिसके बाद आतंकी हमले की साजिश के चलते यूपी विधानसभा की सुरक्षा बढ़ा दी गयी थी. साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अनुरोध के बाद यूपी विधानसभा अध्यक्ष ह्रदय नारायण दीक्षित ने मामले की जाँच NIA से कराने के आदेश दिए थे.

  • वहीँ इस मुद्दे पर आज पूरा विपक्ष लामबंद दिखाई दिया.
  • विपक्ष ने आरोप लगाया कि इतने गंभीर मुद्दे पर योगी सरकार सदन में बहस क्यों नही हो रही है.
  • विधान सभा में नेता विपक्ष राम गोविंद चौधरी ने कहा कि विस्फोटक रखे जाने पर चर्चा क्यों नहीं हो रही है.
  • विधान सभा में इतने गम्भीर मुद्दे पर चर्चा होनी चाहिए.
  • वहीँ सीएम विधान सभा की कार्यवाई में शामिल हुए.
  • विपक्ष ने सदन में विस्फोटक पदार्थ पाए जाने का मुद्दा उठाया है.
  • काँग्रेस के विधायक सदन के वेल में प्रदर्शन करने लगे.
  • सपा ने भी सदन में कहा कि मामला सदस्यों की सुरक्षा से जुड़ा है.
  • बसपा के लालजी वर्मा ने सदन में कहा कि इसपर उचित कार्रवाई की जानी चाहिए.
  • कांग्रेस विधान मंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू ने विधान सभा में विस्फोटक रखे जाने की घटना पर चर्चा की मांग उठाई है.

कैसे पहुंचा होगा विस्फोटक:

  • विधानसभा के गेट पर सुरक्षाकर्मी तैनात रहते हैं.
  • मेटल डिटेक्टर के साथ सुरक्षाकर्मी खड़े रहते हैं.
  • लेकिन हैरानी की बात ये है कि मल्टी लेयर सुरक्षा घेरे को तोड़कर कोई विस्फोटक लेकर कैसे पहुँच गया?
  • वहीँ इस पूरे घटनाक्रम में साजिश से इंकार भी नहीं किया जा सकता है.
  • इस प्रकार की वारदात के बाद सुरक्षा को लेकर सवाल उठने लगे हैं.
  • विस्फोटक नीले रंग के पॉलीथीन में रखा गया था.
  • जब राजधानी स्थित विधानसभा सुरक्षित नहीं है तो पूरे प्रदेश में सुरक्षा के प्रबंध कैसे होंगे?
  • ATS को इस मामले में जाँच के आदेश दिए गए हैं.
  • 2011 में दिल्ली हाईकोर्ट के बाहर हुए धमाके में PETN का इस्तेमाल किया गया था.
  • ये एक गंधहीन पदार्थ होता है और इसको X-रे मशीन भी नहीं पकड़ पाती है.
  • ये छोटी से छोटी मात्रा में बढ़ा धमाका कर सकता है.
  • वहीँ ये भी बात सामने आई है कि सदन के भीतर जाने वालों की तलाशी नहीं होती है.

शारदा प्रताप शुक्ला को नरसंहार स्थल जाने से रोका गया!

रायबरेली-ऊंचाहार में हुए नरसंहार (raebareli murder) को लेकर राजनीति थमी नहीं है. इटौराबुजुर्ग जाते हुए पूर्व मंत्री शारदा प्रसाद शुक्ला समर्थकों को रोका गया. आदेश नहीं मानने पर उन्हें समर्थकों समेत गिरफ्तार कर लिया गया.

मृतकों के परिजनों से मिले सतीश चन्द्र मिश्र(satish chandra mishra):

  • बीते 27 जून को रायबरेली जिले में 5 लोगों को पीट-पीटकर हत्या कर दी गयी थी.
  • जिसके बाद बुधवार को सतीश चन्द्र मिश्र प्रतापगढ़ पहुंचे थे.
  • जहाँ उन्होंने मृतकों के परिजनों से मुलाकात की थी.
  • बसपा नेता सतीश चन्द्र मिश्र ने पूर्व प्रधान रोहित शुक्ला समेत पीड़ितों को न्याय का भरोसा दिलाया.
  • साथ ही बसपा नेता ने कहा कि, उनकी सरकार बनी तो घटना की सीबीआई जांच होगी.
  • सतीश मिश्र ने आगे कहा कि, मामले को राज्यसभा में उठाया जायेगा.
  • उन्होंने आगे कहा कि, बसपा की सरकार में हर परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाएगी.

मामले में हो रही है जमकर राजनीति(satish chandra mishra):

  • रायबरेली नरसंहार के बाद सूबे में हलचल मच गई थी.
  • इस नरसंहार की गूंज सदन तक पहुंची जब बजट सत्र के दौरान विपक्ष ने कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या का इस्तीफा भी माँगा था.
  • बसपा ने कल सदन में भी योगी सरकार पर दबाव बनाया था.
  • पूरा विपक्ष लामबंद होकर स्वामी प्रसाद मौर्या के इस्तीफे की मांग कर रहा था.
  • इस हत्याकांड के बाद ब्राह्मण संघ ने भी स्वामी प्रसाद मौर्या के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था और लखनऊ में प्रदर्शन भी किया था.
  • उन्होंने इस प्रदर्शन के दौरान अपनी मांगों से भी अवगत कराया था.

राष्ट्रपति चुनाव के लिए तैयारियां अंतिम चरण में!

कांग्रेस ने लोकसभा की पूर्व स्पीकर मीरा कुमार को राष्ट्रपति का उम्मीदवार (presidential elections) घोषित किया था. मीरा कुमार 5 बार की लोकसभा सांसद और लोकसभा स्पीकर रह चुकी हैं. कांग्रेस ने आज अपने सहयोगी दलों की सहमति के बाद ये फैसला किया. वहीँ NDA की तरफ से रामनाथ कोविंद उम्मीदवार हैं. राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव 17 को होंगे.

लखनऊ में भी होगा मतदान:

 

  • विधानसभा के तिलक हॉल में 17 जुलाई को सुबह 10 बजे से 5 बजे तक राष्ट्रपति के लिए मतदान होगा.
  • वोटिंग के लिए तिलक हॉल में 4 टेबल होगी.
  • राष्ट्रपति चुनाव के मतदान के लिए तैयारियां अंतिम चरण में हैं.
  • टेबल क पर चुने हुए सांसद मत देंगे.
  • अन्य 3 टेबलों को विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के क्रम में बांटा गया है.

मीरा के समर्थन में उतरी माया:

वहीँ मायावती ने भी बसपा का रुख स्पष्ट कर दिया है. मायावती ने कहा है कि बसपा राष्ट्रपति चुनाव में रामनाथ कोविंद को समर्थन नहीं देगी. बसपा मीरा कुमार का साथ देगी. इसकी जानकारी सतीश मिश्रा ने दी. उन्होंने कहा कि बसपा सुप्रीमो ने निर्देश दिया है कि मीरा कुमार को राष्ट्रपति चुनाव में समर्थन किया जाए.

कोविंद हैं NDA के उम्मीदवार:

  • रामनाथ कोविंद को NDA का राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाये जाने पर मायावती ने अपनी राय रखी थी.
  • मायावती ने कहा कि वो एक कोरी जाति से आते हैं.
  • इनकी संख्या सूबे में बहुत ही कम है.
  • कोविंद संघ और बीजेपी के साथ जुड़े रहे हैं.
  • इसकी राजनीतिक पृष्ठभूमि से मैं सहमत नहीं हूँ.
  • उन्होंने कहा कि इसके कारण इनके नाम की घोषणा की गई है.
  • मायावती ने कहा था कि कोई अन्य दलित उम्मीदवार आने पर बसपा रामनाथ कोविंद को समर्थन नहीं देगी.
  • वहीँ बिहार में इस चुनाव को लेकर भी तकरार सामने आयी.
  • लालू चाहते हैं कि गठबंधन की सरकार UPA के उम्मीदवार का समर्थन करे.
  • लेकिन नितीश कुमार ने स्पष्ट कर दिया था कि वो रामनाथ कोविंद के समर्थन में हैं.

सुरक्षा नहीं कर सकते तो श्रृंगार करके घर बैठे PM मोदी!

11

अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले के विरोध में आज ताज नगरी आगरा स्थित जिला मुख्यालय पर श्री महामाई मित्र मंडल सेवा समिति दावारा विरोध प्रदर्शन किया गया. इस दौरान महिलाओं ने सिटी मजिस्ट्रेट को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम ज्ञापन भी दिया. अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले से नाराज़ महिलाओं का कहना है कि प्रधानमंत्री अगर देश की सुरक्षा नहीं कर सकते हो पद छोड़ दे और विदेश यात्राएं करते रहे. महिलाओं ने आगे कहा कि हम प्रधानमंत्री को श्रृंगार का सामान दे रहे हैं, पीएम श्रृंगार करे और घर बैठे हम महिलाएं खुद अपनी सुरक्षा कर लेंगी. प्रदर्शन के दौरान महिलाओं ने पीएम मोदी को चूड़ियाँ देते हुए ‘नरेंद्र मोदी चूड़ी लो’ जैसे नारे भी लगाए.

ये भी पढ़ें: मनकामेश्वर मठ की ओर से फूंका गया आतंकवाद का पुतला!

पकिस्तान मुर्दाबाद के नारों के साथ जलाया गया पाक का झंडा-

ये भी पढ़ें: अमरोहा: कलेक्ट्रेट परिसर में महिलाओं की पिटाई!

  • अमरनाथ यात्रियों के पर हुए इस आतंकी हमले की निंदा देश के साथ विदेशों में भी की जा रही है.
  • इसके साथ ही इस कायरता पूर्ण आतंकी हमला की निंदा देश के पक्ष-प्रतिपक्ष के तमाम नेताओं द्वारा भी की जा रही है.

ये भी पढ़ें:अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले की आजम खां ने की कड़ी निंदा!

  • जिसके बाद से अमरनाथ यात्रियों पर हुए इस हमले की की निंदा और विरोध प्रदर्शन देश भर में किया जा रहा है.
  • इसी क्रम में आज ताज नगरी आगरा के जिला मुख्यालय पर श्री महामाई मित्र मंडल सेवा समिति दावारा विरोध प्रदर्शन किया गया.

ये भी पढ़ें: गिरफ़्तारी से बचने के लिए मेदांता भागी हाजी याकूब की गुंडा बेटी!

  • इस प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों ने जहाँ पाकिस्तान विरोधी नारे लगाये.
  • वहीँ इन्होंने पाकिस्तान के झंडे को भी आग के हवाले कर दिया.

ये भी पढ़ें: योगी के कई मंत्रियों और विधायकों की सुरक्षा केंद्र ने ली वापस!

अमरनाथ यात्रियों पर कब-कब हुए हमले:

  • 2000: पहलगाम बेस कैंप पर आतंकियों ने हमला कर दिया था.
  • इस हमले में 30 श्रद्धालु मारे गए और 60 से ज्यादा घायल हुए थे.

ये भी पढ़ें: अमरनाथ यात्रा पर हमले की मौलाना कल्बे जवाद ने की निंदा!

ये भी पढ़ें:अमरनाथ हमला: अधिवक्ताओं ने हड़ताल कर दर्ज कराया विरोध!

  • जिसमें 12 श्रद्धालु मारे गए और 15 लोग घायल हुए थे.
  • 2002: जुलाई में आतंकियों ने जम्मू के पास श्रद्धालु पर हथगोला फेंका और फिर गोलियां चलाईं थी.

ये भी पढ़ें: योगी के कई मंत्रियों और विधायकों की सुरक्षा केंद्र ने ली वापस!

  • इस आतंकी हमले में 2 श्रद्धालु मारे गए और 2 घायल हुए थे.
  • 2002: एक बार फिर अगस्त में जम्मू कश्मीर में अमरनाथ यात्रियों के एक कैंप पर आतंकियों ने हमला कर दिया था.

ये भी पढ़ें: हंटर से छात्राओं को पीटने वाले तनवीर ,शादाब सहित 6 गिरफ्तार!

  • इस हमले में 10 से ज्यादा श्रद्धालु मारे गए और 30 घायल हुए थे.
  • 2006: आतंकियों ने एक बार फिर अमरनाथ यात्रियों को निशाना बनाया था.
  • इस हमले में एक श्रद्धालु की मौत हो गई थी.

ये भी पढ़ें: अमरनाथ यात्रा पर हमले की मौलाना कल्बे जवाद ने की निंदा!

11

मनकामेश्वर मठ की ओर से फूंका गया आतंकवाद का पुतला!

1

जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले में बीती रात अमरनाथ यात्रियों (Amarnath Yatra attack) पर आतंकी हमला किया गया था. इस अमरनाथ आतंकी हमले में 7 श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी. अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले के विरोध में मनकामेश्वर मठ मंदिर की ओर से मंगलवार को डालीगंज मठ मंदिर परिसर में श्रीमहंत देव्यागिरि ने शान्ति हवन किया. इसके साथ ही आक्रोशित विभिन्न समुदाय के लोगों ने आतंकवाद का पुतला मंदिर परिसर के बाहर फूंका.

ये भी पढ़ें:अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले की आजम खां ने की कड़ी निंदा!

मुस्लिम समाज के लोगों ने भी आतंकवाद के खिलाफ उठायी आवाज-

  • अनंतनाग में बीती रात अमरनाथ यात्रियों पर आतंकी हमला किया गया था.
  • इस विरोध प्रदर्शन में मुस्लिम समाज के लोगों ने आतंकवाद के खिलाफ आवाज उठायी.
  • शौकत अली, आरिफ खान, नवाब गाजी, हाफिज सैय्यद मुहम्मद वसी, महबूब अंसारी ने इस विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया.

ये भी पढ़ें: गिरफ़्तारी से बचने के लिए मेदांता भागी हाजी याकूब की गुंडा बेटी!

  • प्रदर्शनकारियों ने आतंकवाद मुर्दाबाद और भारत माता की जय जैसे नारे लगाकर आक्रोश जताया.
  • श्रीमहंत देव्या गिरि महाराज ने कहा कि 10 जुलाई को सावन का पहला सोमवार था.
  • इस पवित्र अवसर पर आतंकवादियों ने कायरतापूर्वक अमरनाथ के श्रद्धालुओं पर हमला किया है.

ये भी पढ़ें: योगी के कई मंत्रियों और विधायकों की सुरक्षा केंद्र ने ली वापस!

  • श्रीमहंत देव्या गिरि महाराज ने इस आतंकी हमले की घोर निंदा की.
  • उन्होंने कहा कि आतंकी घटना में बेगुनाह सात श्रद्धालू शहीद हुए है.
  • देव्या गिरि ने कहा कि यह सीधे-सीधे देश की अखंडता पर हमला है.
  • इसका केंद्र सरकार की ओर से पुरजोर जवाब दिया जाना चाहिए.

सात शहीदों में पांच गुजरात के और दो महाराष्ट्र के थे-

  • एक ओर तीन आतंकवादियों ने अर्द्धसैनिक बल की छावनी पर हमला किया.
  • फिर रात 8:20 बजे खानाबल के पास यात्रियों से भरी बस पर अंधाधुंध गोलाबारी कर दी.
  • गुजरात के बनासकांठा जिला की उस बस पर हुए इस घिनौने हमले में 32 श्रद्धालू गंभीर रूप से जख्मी हुए.

ये भी पढ़ें: अमरनाथ यात्रा पर हमले की मौलाना कल्बे जवाद ने की निंदा!

  • उस बस में 56 श्रद्धालू  थे जो गुजरात, दमन दीव और महाराष्ट्र के थे.
  • यह और चिंतनीय है कि जिन सात श्रद्धालुओं की मृत्यु हुयी, उनमें 5 स्त्रियां थी.
  • सात शहीदों में पांच गुजरात के और शेष दो महाराष्ट्र के थे.
  • जम्मू और कश्मीर पुलिस के अनुसार हमले में पाकिस्तानी इस्लामी आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का हाथ हैं.

ये भी पढ़ें:अमरनाथ हमला: अधिवक्ताओं ने हड़ताल कर दर्ज कराया विरोध!

अमरनाथ के शहीदों की आत्मा की शान्ति के लिए हुआ शान्ति हवन-

mankameshwar math

  • मनकामेश्वर मठ मंदिर में हुए शान्ति हवन में उपस्थित भक्तों ने शहीद श्रद्धालुओं की आत्मा की शान्ति के लिए आहूतियां दीं।
  • हवन के बाद शहीद श्रद्धालुओं की आत्मा की शन्ति के लिए दो मिनट का मौन भी रखा गया।
  • इसके बाद मंदिर परिसर के बाहर आतंकवाद के खात्मे के लिए आतंकवाद के पुतले का दहन किया गया।
  • इस मौके पर सर्वेश त्रिवेदी, एडवोकेट सत्येन्द्र सिंह, जितेन्द्र राजपूत, संजय सोनकर, अमित गुप्ता, जगदीश गुप्ता, अमित विश्वकर्मा, उपमा पाण्डेय, पूजा, शिवानी, नम्रता मिश्रा समेत मंदिर के सेवादार मौजूद रहे.

ये भी पढ़ें: लीबिया के तानाशाह गद्दाफी और कैटरीना की तस्वीर हुई वायरल!

1

अमरनाथ हमला: अधिवक्ताओं ने हड़ताल कर दर्ज कराया विरोध!

सोमवार 10 जुलाई को जम्मू कश्मीर में अमरनाथ यात्रा से लौट रहे यात्रियों पर हुए आतंकी हमले के बाद देश भर में लोगों में गुस्सा देखने को मिल रहा है. कानपुर में वकीलों ने हड़ताल कर अपना विरोध दर्ज कराया. बार एसोसिएशऩ भवन के बाहर वकीलों ने पाकिस्तान और आतंकवाद के विरोध में जमकर नारेबाजी की. वकीलों का कहना है कि इस तरह की घटना की जितनी भी निन्दा की जाए वह कम है. अमरनाथ यात्रियों पर हमला पाकिस्तान पोषित आतंकियों की कायराना हरकत है. केन्द्र सरकार को आतंकियों से सख्ती से निपटना चाहिए.

ये भी पढ़ें:अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले की आजम खां ने की कड़ी निंदा!

अमरनाथ यात्रियों पर कब-कब हुए हमले:

  • 2000: पहलगाम बेस कैंप पर आतंकियों ने हमला कर दिया था.
  • इस हमले में 30 श्रद्धालु मारे गए और 60 से ज्यादा घायल हुए थे.
  • ये अबतक का सबसे बड़ा आतंकी हमला था.
  • 2001: यात्रियों के एक कैंप पर आतंकियों ने दो हथगोले फेंके थे.
  • जिसमें 12 श्रद्धालु मारे गए और 15 लोग घायल हुए थे.
  • 2002: जुलाई में आतंकियों ने जम्मू के पास श्रद्धालु पर हथगोला फेंका और फिर गोलियां चलाईं थी.

ये भी पढ़ें: योगी के कई मंत्रियों और विधायकों की सुरक्षा केंद्र ने ली वापस!

  • इस आतंकी हमले में 2 श्रद्धालु मारे गए और 2 घायल हुए थे.
  • 2002: एक बार फिर अगस्त में जम्मू कश्मीर में अमरनाथ यात्रियों के एक कैंप पर आतंकियों ने हमला कर दिया था.
  • इस हमले में 10 से ज्यादा श्रद्धालु मारे गए और 30 घायल हुए थे.
  • 2006: आतंकियों ने एक बार फिर अमरनाथ यात्रियों को निशाना बनाया था.
  • इस हमले में एक श्रद्धालु की मौत हो गई थी.

ये भी पढ़ें: अमरनाथ यात्रा पर हमले की मौलाना कल्बे जवाद ने की निंदा!

अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले की आजम खां ने की कड़ी निंदा!

1
जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले में बीती रात अमरनाथ यात्रियों (Amarnath Yatra attack) पर आतंकी हमला किया गया था. इस अमरनाथ आतंकी हमले में 7 श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी. अमरनाथ यात्रियों पर हुए इस हमले की देश भर में निंदा की जा रही है. इस दौरान सपा के कद्दावर नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खां ने भी इस हमले की कड़ी निंदा करते कहा है कि इसके लिए उनके पास अल्फाज नहीं हैं.
ये भी पढ़ें: गिरफ़्तारी से बचने के लिए मेदांता भागी हाजी याकूब की गुंडा बेटी!

आतंकवादी का कोई धर्म नहीं होता- आज़म खां

  • पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खां ने आज अमरनाथ यात्रियों  पर हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा दी.
  • इस दौरान उन्होंने कहा कि आतंकवादी का कोई धर्म नहीं होता.
  • आज़म खान ने कहा कि सहारनपुर से जिस आतंकवादी को पकड़ा गया है उसने कई बड़ी वारदातें अंजाम दी हैं.

ये भी पढ़ें: योगी के कई मंत्रियों और विधायकों की सुरक्षा केंद्र ने ली वापस!

  • उन्होंने आगे कहा कि वह मुसलमान नहीं है.
  • इससे साबित होता है कि आतंकवादी का कोई धर्म नहीं होता.
  • आज़म खान ने कहा कि नफरतों को कम कर इससे लोगों को सबक लेना चाहिए.
  • उन्होंने ये भी कहा कि किसी की जान बचाना बड़ा पुण्य का काम है.

अमरनाथ यात्रियों पर कब-कब हुए हमले:

  • 2000: पहलगाम बेस कैंप पर आतंकियों ने हमला कर दिया था.
  • इस हमले में 30 श्रद्धालु मारे गए और 60 से ज्यादा घायल हुए थे.
  • ये अबतक का सबसे बड़ा आतंकी हमला था.
  • 2001: यात्रियों के एक कैंप पर आतंकियों ने दो हथगोले फेंके थे.
  • जिसमें 12 श्रद्धालु मारे गए और 15 लोग घायल हुए थे.
  • 2002: जुलाई में आतंकियों ने जम्मू के पास श्रद्धालु पर हथगोला फेंका और फिर गोलियां चलाईं थी.
  • इस आतंकी हमले में 2 श्रद्धालु मारे गए और 2 घायल हुए थे.
  • 2002: एक बार फिर अगस्त में जम्मू कश्मीर में अमरनाथ यात्रियों के एक कैंप पर आतंकियों ने हमला कर दिया था.
  • इस हमले में 10 से ज्यादा श्रद्धालु मारे गए और 30 घायल हुए थे.
  • 2006: आतंकियों ने एक बार फिर अमरनाथ यात्रियों को निशाना बनाया था.
  • इस हमले में एक श्रद्धालु की मौत हो गई थी.
 ये भी पढ़ें: अमरनाथ यात्रा पर हमले की मौलाना कल्बे जवाद ने की निंदा!
1

बच्चों ने की पुलिस से दोस्ती, एसपी-ASP ने बांटे गिफ्ट!

1

वैसे पुलिस (deoria SP ASP) की वर्दी देखते ही अपराधी तो दूर आम जनता के भी पसीना आ जाता है। लेकिन देवरिया में स्कूली बच्चों ने पुलिस से दोस्ती कर ली है। पुलिस से दोस्ती करने के बाद देवरिया के कप्तान राजीव मल्‍होत्रा व एएसपी चिरंजीव नाथ सिन्‍हा ने बच्‍चों को पाठ्य पुस्‍तके व खेल-कूद सामाग्री गिफ्ट के रूप में बांटी।

deoria police

767 बकाएदारों को नोटिस भेजने का सिलसिला शुरू!

  • उपहार मिलते ही बच्चों के चेहरे खुशी से खिल गए।
  • इस दौरान पुलिस अधिकारियों ने बच्चों को गणित और विज्ञान का पाठ भी पढ़ाया।
  • पुलिस के इस नेक काम की चर्चा तो इलाके में खूब हो रही है।
  • वहीं पुलिस को अपने बीच देखकर बच्चे भी काफी उत्साहित हैं।

deoria police

राज्यपाल ने डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयन्ती पर अर्पित की पुष्पांजलि!

दोनों अधिकारियों ने गोद लिए हैं विद्यालय

  • बता दें कि पुलिस अधीक्षक राजीव मल्होत्रा ने पूर्व माध्यमिक विद्यालय खोराराम व अपर पुलिस अधीक्षक चिरंजीवनाथ सिन्हा ने प्राथमिक विद्यालय खोराराम को गोंद लिया है।
  • ये दोनों अधिकारी अब तक दो दिन इन स्कूलों में पहुंच कर बच्चों की क्लास ले चुके हैं।
  • गुरुवार की सुबह जिले के एसपी और एएसपी दोनों बच्‍चों के लिए अच्‍छे-अच्‍छे गिफ़ट लेकर पहुंचे थे।

deoria police

एयर इंडिया की अगस्त से पटना के लिए सीधी उड़ान!

  • इन दोनों अधिकारियों ने बच्चों को रेनकोट, बैग व अन्य पाठ्य सामग्रियां देने के साथ ही बेहतर भविष्य के लिए प्रेरित किया।
  • अधिकारियों ने डेढ़ सौ बच्चों को यह सामग्री वितरित की।

पूरे प्रदेश में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने किया प्रर्दशन!

  • एसपी ने क्लास ने के दौरान कुछ बच्चों से सवाल भी पूछे।
  • उन्होंने बच्चों की हौसला आफजाई करते हुए अच्छी पढ़ाई कर बड़ा अधिकारी बनने का वादा लिया।
  • वहीं अपर पुलिस अधीक्षक ने वहां मौजूद शिक्षकों से स्कूल में बेहतर व्यवस्था करने और हर संभव मदद का वायदा किया।

अब मुलायम को लखनऊ पुलिस ने डाक से भेजा नोटिस!

  • करीब घंटे भर तक दोनों अधिकारी इस विद्यालय पर रहे।
  • विद्यालय (deoria SP ASP) से जाने के बाद बच्चे काफी खुश थे।
  • बच्चों के साथ उनके अभिभावक भी प्रसन्न मुद्रा में नजर आये।

वीडियो: बदमाशों ने दिनदहाड़े आश्रम में डाली डकैती!

1