जम्मू : वैष्णो देवी मंदिर की प्राचीन गुफा के रास्ते जाएंगे खोले!

पूरे जम्मू-कश्मीर में मौसम सुहाना बना हुआ है पूरे क्षेत्र में बर्फ़बारी हो रही है. ऐसे में जम्मू के कटरा स्थित माता वैष्णो देवी मंदिर श्राइन बोर्ड द्वारा एक निर्णय लिया गया है. जो यहाँ आने वाले श्रद्धालुओं के चेहरे पर मुस्कान ले आयेगा.

भैरों बाबा के दर्शन पर फ़िलहाल लगी रोक :

  • पूरे जम्मू-कश्मीर में बर्फबारी हो रही है रास्ते में दो तीन फुट बर्फ जमी हुई है.
  • ऐसा लगता है पूरे रास्ते मानों बर्फ की सफेद की चादर किसी ने बिछा दी है.
  • हालांकि बर्फबारी की वजह से श्राइन बोर्ड प्रशासन ने भैरों बाबा की यात्रा पर फिलहाल रोक लगा दी है
  • क्योंकि ऐसे मौसम में इस रास्ते पर भूस्खलन और चट्टान गिरने का खतरा बना रहता है.
  • बेशक बर्फबारी की वजह से कुछ यात्रियों को दिक्कत आ रही है,
  • परंतु ऐसे मौसम का आनंद उठाते हुए माता के दर्शन करने का कुछ लोग शौक रखते हैं.
  • लोगों का मानना है कि ऐसे में एक पंथ दो काज हो जाते हैं.
  • माता के दर्शन भी होते हैं और बर्फबारी का आनंद भी उठा लिया जाता है.
  • यही वजह है कि इतनी बर्फबारी होने के बावजूद श्राइन बोर्ड ने यात्रा को रोका नहीं है.
  • यही नहीं यात्रियों की सुविधा के लिए श्राइन बोर्ड तो अब माता की पुरानी गुफा को सारा दिन खुला रखने को सोच रहा है.
  • प्रशासन ने भीड़ कम होने पर वैष्णो देवी के दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को आकर्षित करने के लिए प्राचीन गुफा के रास्ते फिर खोल दिए हैं.
  • बता दें कि प्रशासन ऐसा पहले भी करता रहा है.
  • पिछले साल भी जब यात्री कम हुए थे, तो श्राइन बोर्ड प्रशासन ने पुराने रास्ते खोल दिए थे.
  • खबर है कि रोजाना इन दिनों सिर्फ 12-14 हजार श्रद्धालु ही माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए आ रहे हैं.
  • इसी वजह से प्राचीन गुफा के द्वार खोलने पर फिर विचार हो रहा है.
  • बता दें कि श्रद्धालु प्राचीन गुफा के जरिए दर्शन पाने के इच्छुक रहते हैं.

माँ वैष्णो देवी को भक्तों ने 1.90 करोड़ के पुराने नोट चढ़ाये भेट!

हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा 8 नवंबर से लागू हुए नोटबंदी के निर्णय से पूरा देश जहाँ अपना पुराना पैसा बैंकों में जमा करने के लिए लाइनों में लगा है. वही कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अपने काले धन को पार लगाने के लिए किसी भी हद तक उतर रहे हैं. ऐसा ही एक वाक्या जम्मू के कटरा स्थित माता वैष्णो मंदिर से आ रहा है.

श्राइन बोर्ड ने दी पीओएस मशीनें की सुविधा :

  • हाल ही में माता वैष्णो देवी मंदिर से एक वाक्या सामने आ रहा है.
  • जहाँ नोटबंदी के फैसले के बाद से अब तक मंदिर के दान पत्र को लोग अपना निशाना बना रहे हैं.
  • बताया जा रहा है की यहाँ आये भक्त 500-1000 रुपये को दान देने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं.
  • जिसके बाद अब तक मंदिर को पुराने नोटों में 1.90 करोड़ रुपये का दान मिला है.
  • हालाँकि मंदिर बोर्ड ने श्रद्धालुओं को नकदी रहित भुगतान की सुविधा देने के लिए POS मशीनें लगा रखी थीं.
  • मंदिर के मुख्य अधिकारी एके साहू के अनुसार अब तक पुराने नोटों में कुल 1.90 करोड़ रुपये दान पात्रों में पाया गया है.
  • जिसके बाद इन नोटों को बैंक में उचित ढंग से जमा किया गया है.
  • उन्होंने बताया की पुरानी मुद्रा अब भी दान पात्रों में मिल रही हैं.
  • परंतु इनकी संख्या में उल्लेखनीय कमी आई है.