Exclusive: 25 तस्वीरों में देखिये अखिलेश के साथ ईद!

1

ईद मुस्लिम भाइयों का पवित्र त्यौहार है। पूरा देश ईद का पर्व हर्षोउल्लास के साथ मना रहा है। ख़ुशी के इस मौके पर लोग एक दूसरे के गले मिलकर मुबारकबाद दे रहे हैं। ईद के मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (akhilesh yadav) ने राजधानी लखनऊ में सभी को मुबारकबाद दी।

अगले पेज पर देखिये बच्चे ने अखिलेश के सामने गाया गाना तो…

पहले 500 रूपये दिए फिर वापस लेकर दिए 2000

  • ईद के मौके पर अखिलेश यादव के सामने एक मासूम ने एक गाना गाया।
  • इस दौरान अखिलेश ने बच्चे को 500 रुपये दिए।
  • इसके बाद उन्होंने बच्चे को 2000 रूपये दिए और 500 वापस ले लिए।

ये भी पढ़ें- राज्यपाल ऐशबाग ईदगाह पहुंचे, दी ईद की मुबारकबाद!

अगले पेज पर देखिये 5 तस्वीरें:

  • अखिलेश (akhilesh yadav) ने इस पवित्र मौके पर सभी की खुशहाली की कामना की।

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

ये भी पढ़ें- उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने भी दी ईद की मुबारकबाद!

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

ये भी पढ़ें- पुलिस लाइन में युवती से सिपाहियों ने किया गैंगरेप!

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

अगले पेज पर देखिये 5 तस्वीरें:

  • अखिलेश ने इस दौरान कहा कि प्रदेश के वर्तमान हालात और देश में अमन-चैन व अच्छी कानून-व्यवस्था की दुआ करना जरूरी है।
  • समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी ईद-उल-फितर की बधाई दी।

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

अगले पेज पर देखिये 5 तस्वीरें:

  • अखिलेश ने कहा कि ईद खुशी और मेल-मिलाप का पैग़ाम लेकर आती है।
  • यह सभी को समाज में अमन-चैन और सौहार्द का संदेश देता है।

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

अगले पेज पर देखिये 5 तस्वीरें:

  • समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी ईद-उल-फितर की बधाई देते हुए कहा कि ईद के दिन खुले मन और पवित्र भाव से गरीबों और वंचितों को भी गले लगाना चाहिए।
  • उन्होंने कहा कि ईद की खुशी में सबको एक दूसरे के गले मिलकर मुबारकबाद देनी चाहिए।

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

अगले पेज पर देखिये 5 तस्वीरें:

शांति और भाई चारे का पर्व है ईद

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

  • इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि ईद शांति और भाईचारे का पर्व है।
  • उन्होंने कहा कि इस दिन मुस्लिम भाई एक दूसरे के गले मिलकर ईद की मुबारकबाद देते हैं।

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

  • अखिलेश ने ईद का पर्व शांति के साथ मनाने की अपील की।
  • उनके साथ कई मुस्लिम धर्मगुरु भी मौजूद रहे।

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

  • अखलेश जैसे ही ऐशबाग ईदगाह के मंच पर पहुंचे वैसे ही युवाओं का जोश दोगुना हो गया।

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

  • सभी अखिलेश भैया जिंदाबाद के नारे लगाने लगे।

akhilesh yadav greetings eid in lucknow

  • पूर्व सीएम को देखकर उनके समर्थक उतावले दिख रहे थे।

1

उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने भी दी ईद की मुबारकबाद!

ईद के मौके पर उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा (Dinesh Sharma) सोमवार को ऐशबाग ईदगाह पहुंचे। दिनेश के आगमन को लेकर जिला प्रशासन ने पुराने लखनऊ में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए। दिनेश शर्मा सुबह ऐशबाग ईदगाह पहुंचे। उन्होंने कई मुस्लिम धर्म गुरुओं से मुलाकात भी हुई।

ये भी पढ़ें- राज्यपाल ऐशबाग ईदगाह पहुंचे, दी ईद की मुबारकबाद!

  • उन्होंने सभी को ईद की मुतबारक़बाद दी।
  • उनके साथ पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, राज्यपाल राम नाईक सहित मुस्लिम धर्मगुरु भी मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें- अखिलेश ऐशबाग ईदगाह पहुंचे, दी ईद की मुबारकबाद!

मिनी भारत है यूपी

  • उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने अखिलेश, राज्यपाल का अभिवादन स्वीकार करते हुए कहा कि नवाबों का शहर लखनऊ गंगा जमुनी तहजीब के लिए जाना जाता है।
  • ईद मुस्लिम भाइयों का खास पर्व है।
  • इस दिन लोग एक दूसरे के गले मिलकर सारी बुराइयां छोड़कर अच्छाई के मार्ग पर चलने का भी प्रण लेते हैं।
  • उन्होंने कहा कि हमारा यूपी मिनी भारत है।
  • यहां लाखों की संख्या में मुसलमान भाई हैं।
  • उन्होंने शांति के साथ ईद मनाने के साथ सभी को ईद की मुबारकबाद दी है।

ये भी पढ़ें- पुलिस लाइन में युवती से सिपाहियों ने किया गैंगरेप!

सुरक्षा के थे पुख्ता इंतजाम

  • शांति व्यवस्था और भाईचारा बनाए रखने के लिए पुराने लखनऊ में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए।
  • मस्जिदों के आस-पास साफ सफाई की पूरी व्यवस्था है।
  • जिला प्रशासन ने ईद की नमाज के दौरान पुराने लखनऊ की सभी बड़ी मस्जिदों के आस पास भारी पुलिस बल, बैरीकेडिंग और भारी तादाद में पुलिस बल की तैनाती की है।
  • इसके अलावा पांच ड्रोन कैमरों से भी निगरानी की जा रही है।
  • अलग-अलग इलाकों में 15 मैजिस्ट्रेट स्तर के अधिकारियों की तैनाती की गई है।
  • किसी भी आपात सूचना के लिए कलेक्ट्रेट स्थित जनसुविधा केंद्र को कंट्रोल रूम बनाया गया है।

ये भी पढ़ें- अखिलेश ने ये वीडियो ट्वीट कर दी ईद की मुबारकबाद!

ये भी पढ़ें- आज इधर से ना जायें, ईद पर बदली है ट्रैफिक व्यवस्था!

राज्यपाल ऐशबाग ईदगाह पहुंचे, दी ईद की मुबारकबाद!

ईद के मौके पर गर्वनर राम नाईक सोमवार को ऐशबाग ईदगाह (Aishbagh Idgah) और टीले वाली मस्जिद पहुंचे। राज्यपाल के आगमन को लेकर जिला प्रशासन ने पुराने लखनऊ में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए। राम नाईक सुबह ऐशबाग ईदगाह और टीले वाली मस्जिद पहुंचे। इन दोनों जगहों पर राज्यपाल की कई मुस्लिम धर्म गुरुओं से मुलाकात भी हुई। राज्यपाल ने सभी को ईद की मुतबारक़ बाद दी। उनके साथ मुस्लिम धर्मगुरु भी मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें- अखिलेश ऐशबाग ईदगाह पहुंचे, दी ईद की मुबारकबाद!

अमन, चैन और त्याग का प्रतीक है ईद

  • ईद के मौके पर राज्यपाल ने सभी को मुबारकबाद देते हुए कहा कि ईद खुशहाली का त्योहार अमन, चैन और त्याग का प्रतीक है।
  • उन्होंने कहा कि ईद का पर्व है सभी लोग मिल-जुलकर मनाते हैं।
  • हम सभी को संकल्प लेना चाहिए कि आपसी भाईचारे और सौहार्द के वातावरण को बनाए रखें।
  • उन्होंने कहा यह सदियों से एक परंपरा चली आ रही है इसे हमें ऐसे ही बनाये रखना है।
  • खुशहाली और मिलजुल कर ईद मनाने से हमारे देश का नाम ऊंचा होता है।

ये भी पढ़ें- उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने भी दी ईद की मुबारकबाद!

सुरक्षा के थे पुख्ता इंतजाम

  • शांति व्यवस्था और भाईचारा बनाए रखने के लिए पुराने लखनऊ में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए।
  • मस्जिदों के आस-पास साफ सफाई की पूरी व्यवस्था है।
  • जिला प्रशासन ने ईद की नमाज के दौरान पुराने लखनऊ की सभी बड़ी मस्जिदों के आस पास भारी पुलिस बल, बैरीकेडिंग और भारी तादाद में पुलिस बल की तैनाती की है।
  • इसके अलावा पांच ड्रोन कैमरों से भी निगरानी की जा रही है।
  • अलग-अलग इलाकों में 15 मैजिस्ट्रेट स्तर के अधिकारियों की तैनाती की गई है।
  • किसी भी आपात सूचना के लिए कलेक्ट्रेट स्थित जनसुविधा केंद्र को कंट्रोल रूम बनाया गया है।

ये भी पढ़ें- पुलिस लाइन में युवती से सिपाहियों ने किया गैंगरेप!

ये भी पढ़ें- आज इधर से ना जायें, ईद पर बदली है ट्रैफिक व्यवस्था!

अखिलेश ऐशबाग ईदगाह पहुंचे, दी ईद की मुबारकबाद!

ईद के मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (akhilesh yadav) सोमवार को ऐशबाग ईदगाह पहुंचे। अखिलेश के आगमन को लेकर जिला प्रशासन ने पुराने लखनऊ में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए। अखिलेश सुबह ऐशबाग ईदगाह पहुंचे। उन्होंने कई मुस्लिम धर्म गुरुओं से मुलाकात भी हुई। अखिलेश ने सभी को ईद की मुबारकबाद दी। उनके साथ मुस्लिम धर्मगुरु भी मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें- पुलिस लाइन में युवती से सिपाहियों ने किया गैंगरेप!

शांति और भाई चारे का पर्व है ईद

  • इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि ईद शांति और भाईचारे का पर्व है।
  • उन्होंने कहा कि इस दिन मुस्लिम भाई एक दूसरे के गले मिलकर ईद की मुबारकबाद देते हैं।
  • अखिलेश ने ईद का पर्व शांति के साथ मनाने की अपील की।
  • उनके साथ कई मुस्लिम धर्मगुरु भी मौजूद रहे।
  • अखिलेश जैसे ही ऐशबाग ईदगाह के मंच पर पहुंचे वैसे ही युवाओं का जोश दोगुना हो गया।
  • सभी अखिलेश भैया जिंदाबाद के नारे लगाने लगे।
  • पूर्व सीएम को देखकर उनके समर्थक उतावले दिख रहे थे।

ये भी पढ़ें- राज्यपाल ऐशबाग ईदगाह पहुंचे, दी ईद की मुबारकबाद!

सुरक्षा के थे पुख्ता इंतजाम

  • शांति व्यवस्था और भाईचारा बनाए रखने के लिए पुराने लखनऊ में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए।
  • मस्जिदों के आस-पास साफ सफाई की पूरी व्यवस्था है।
  • जिला प्रशासन ने ईद की नमाज के दौरान पुराने लखनऊ की सभी बड़ी मस्जिदों के आस पास भारी पुलिस बल, बैरीकेडिंग और भारी तादाद में पुलिस बल की तैनाती की है।
  • इसके अलावा पांच ड्रोन कैमरों से भी निगरानी की जा रही है।
  • अलग-अलग इलाकों में 15 मैजिस्ट्रेट स्तर के अधिकारियों की तैनाती की गई है।
  • किसी भी आपात सूचना के लिए कलेक्ट्रेट स्थित जनसुविधा केंद्र को कंट्रोल रूम बनाया गया है।

ये भी पढ़ें- उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने भी दी ईद की मुबारकबाद!

loading ...

अखिलेश ने ये वीडियो ट्वीट कर दी ईद की मुबारकबाद!

दुनिया भर में ईद का त्यौहार बड़े ही हर्षोउल्लास के साथ मनाया जा रहा है। इस ईद के खास पर्व पर तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मुस्लिम भाइयों को एक खास वीडियो (akhilesh yadav tweets) के माध्यम से मुबारकबाद दी है।

ये भी पढ़ें- शहर में बढ़ रहा अपराध और धुंधली हुई तीसरी आंख!

अगले पेज पर देखिये वीडियो:

ये वीडियो अखिलेश ने किया ट्वीट

  • अखिलेश यादव ने जो वीडियो ट्वीट किया है। इसमें एक बेहद शानदार पुराना गीत है।
  • अखिलेश ने अपने ट्विटर पर लिखा है कि Eid Mubarak. May this Eid brings a lot of joy & happiness.

ये भी पढ़ें- 24 घंटे के भीतर फिर होने से बचा IIM रोड जैसा कांड!

  • उन्होंने सभी को ईद की मुबारकबाद दी है।
  • अखिलेश यादव का यह वीडियो लोगों को खूब पसंद आ रहा है।
  • इस (akhilesh yadav tweets) वीडियो को देखकर 12 घंटे में 501 रिप्लाई, 835 रीट्वीट और 3400 लाइक आ चुके थे।

ये भी पढ़ें- अपराधों से थर्रा रही राजधानी, लेकिन पुलिस ने 58 दिन में दर्ज की केवल एक सेंधमारी!

ये भी पढ़ें- चारबाग रेलवे स्टेशन से सेना का फर्जी अधिकारी गिरफ्तार!

राष्ट्रपति उम्मीदवार को लेकर शिवपाल का आया बयान!

देश के अगले राष्ट्रपति का चुनाव होने जा रहा है. इसको लेकर तमाम राजनीतिक दल अपने समीकरण बना रहे हैं. मुलायम सिंह यादव ने रामनाथ कोविंद का समर्थन करने की बात कही थी. लेकिन शिवपाल यादव (shivpal yadav) का भी राष्ट्रपति पद को लेकर बयान आया है.

राष्ट्रपति उम्मीदवार को लेकर शिवपाल यादव का बयान:

  • सपा नेता ने कानपुर में रोजा इफ्तार पार्टी में शिरकत की थी.
  • बासमंडी में आयोजित इफ्तार पार्टी के बाद उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात की थी.
  • शिवपाल यादवने कहा कि राष्ट्रपति के चुनाव में जो नेता जी फैसला लेंगे वहीँ हम मानेंगे.
  • उन्होंने कहा कि समाजवादी मोर्चा का काम शुरु कर दिया गया है.
  • ईद के बाद पूरे प्रदेश में दौरा करके समाजवादी पार्टी से उपेक्षित किए गए पुराने कार्यकर्ताओं को जोडा जाएगा.
  • सही समय पर मोर्चे का गठन कर देगें.
  • सूबे की कानून व्यवस्था पर सवाल पूछने पर शिवपाल यादव ने कहा कि उन्होने प्रदेश सरकार को छह महीने की मोहलत दी है.
  • छह महीने का कार्यकाल पूरा होने तक सरकार के विरोध में कुछ नही बोलेंगे.
  • लेकिन जहां भी अन्याय होगा वहां लोगों को इन्साफ दिलाने का प्रयास किया जाएगा.
  • उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी कमजोर हुई है. इसलिए वह मोर्चा का गठऩ कर रहे हैं.
  • जितने उपेक्षित लोग हैं मोर्चे में इक्कठा कर बडी ताकत बन कर लडाई लडेंगे.

मुलायम के डिनर में शामिल होने पर स्वामी का आया बयान!

योग दिवस के मौके पर स्वामी प्रसाद मौर्या (swami prasad) बहराइच में थे. योग दिवस पर सपा के साइकिल अभियान पर उन्होंने प्रतिक्रिया दी है.

स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि योग दिवस पर सपा ने साईकिल चला कर योग दिवस को स्वीकार किया। ये स्वागत योग्य कदम है. सीएम योगी के यहाँ भोज में शामिल होकर मुलायम सिंह ने अपना राष्ट्रीय धर्म निभाया है. अखिलेश की इफ्तार पार्टी में मुलायम के शामिल न होने पर कहा कि ये बाप-बेटे का मसाला है.

डिनर था बहाना, राष्ट्रपति पद के लिए समर्थन था जुटाना:

  • सीएम योगी की मेजबानी में इस डिनर का आयोजन किया गया.
  • मुलायम सिंह यादव पहले ही सीएम आवास पर पहुंचे थे.
  • जबकि अखिलेश यादव इस डिनर पार्टी में शामिल नहीं हुए थे.
  • पीएम मोदी भी इस दौरान मौजूद रहे.
  • इस डिनर के जरिये राष्ट्रपति पद को लेकर नामित उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के नाम पर सहमति बनाना माना जा रहा था.
  • दलित कार्ड खेलकर बीजेपी ने मायावती के सामने मुसीबत खड़ी कर दी है.
  • ऐसे में ये लड़ाई दिलचस्प होगी अगर कोई और उम्मीदवार मैदान में आया.
  • लिहाजा इस डिनर का एक अपना अलग महत्त्व है.
  • राष्टपति चुनाव को लेकर हर प्रकार से बीजेपी कोशिश में है कि कोविंद के नाम पर समर्थन बने.

सतर्कता बरतते हुए लखनऊ पुलिस ने गिरफ़्तारी की शुरू!

सीएम योगी के काफिले पर हमला करने वाले सपा छात्रसंघ के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने पकड़ लिया था. लेकिन इस दौरान हुई लापरवाही के कारण लखनऊ पुलिस की बहुत किरकिरी हुई थी. पीएम मोदी के दौरे को देखते हुए अब लखनऊ पुलिस पहले की गलती को दोहराना नहीं चाहती नहीं है.

सतर्कता बरतते हुए पुलिस ने सपा युवा दल के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह देव और वीपी मोनू सिंह को गिरफ्तार कर लिया है.

LIU की लिस्ट में 27 उपद्रवी शामिल:

  • पीएम मोदी के दौरे को देखते हुए संदिग्ध उपद्रवियों की धर-पकड़ तेज कर दी गई है.
  • लखनऊ पुलिस ने शहर के कई इलाकों में छापेमारी की है.
  • महानगर, हसनगंज आशियाना, इलाके में छापेमारी की गई.
  • LIU ने 27 छात्र-छात्राओं की लिस्ट दी है जो संदेह के दायरे में हैं.
  • इनमें समाजवादी छात्रसंघ के अलावा आइसा के छात्रों का नाम भी शामिल है.
  • गौरतलब है कि सीएम योगी के फ्लीट पर हमला होने के बाद लखनऊ पुलिस चौकन्नी है.
  • पीएम के लखनऊ दौरे पर ऐसी कोई चूक न हो, इसके लिए सावधानी बरती जा रही है.
  • संदिग्धों को दबोचने के लिए पुलिस ने कई जगह छापेमारी की है.
  • सीएम के काफिले पर हमले की घटना के बाद लखनऊ पुलिस पर सवाल उठे थे.
  • एसएसपी इस प्रकार की वारदात को लेकर सतर्क हैं.

गायत्री ने रेप की जमानत के लिए जजों-वकीलों को दी थी 10 करोड़ की रिश्वत!

बलात्कार और यौनशोषण के आरोप में फंसे उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति (10 crores bribe) भले ही जमानत पर हैं। लेकिन इसको लेकर अब एक और विवाद पैदा हो गया है। एक प्रतिष्ठित अंग्रेजी अख़बार की रिपोर्ट के अनुसार गायत्री प्रसाद प्रजापति को जमानत मिलना पहले से ही तय था।

  • गायत्री को जमानत दिलवाने में एक वरिष्ठ जज भी शामिल थे।
  • जमानत मिलने के पीछे 10 करोड़ रुपये का लेन-देन हुआ था।
  • रिपोर्ट के अनुसार, रेप और हत्या जैसे मामलों की सुनवाई करने वाले जजों की पोस्टिंग में भी भ्रष्टाचार की बात आई है।

ये भी पढ़ें- सीबीआई करेगी गोमती रिवर फ्रंट में हुई अनियमितताओं की जांच!

क्या कहती है रिपोर्ट

  • जस्टिस भोसले की रिपोर्ट के अनुसार, सेशन जज ओ.पी. मिश्रा को रिटायर होने से 3 हफ्ते पहले ही प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस के जज के रूप में तैनात हुए थे।
  • 25 अप्रैल को उन्होंने प्रजापति को जमानत दी थी।
  • रिपोर्ट के अनुसार, ओ.पी. मिश्रा की नियुक्ति में नियमों की अनदेखी हुई थी।
  • आईबी ने भी जज की गलत पोस्टिंग की बात को माना है।
  • रिपोर्ट में कहा गया है कि गायत्री प्रजापति को 10 करोड़ रुपये के ऐवज में जमानत दी गई थी।
  • जिसमें से 5 करोड़ रुपये उन तीन वकीलों को दिए गए जो मामले में बिचौलिए की भूमिका निभा रहे थे।

ये भी पढ़ें- भाजपा ने की प्रधानमंत्री के भव्य स्वागत की तैयारी!

  • वहीं बाकी के 5 करोड़ रुपये पॉक्सो जज (ओपी मिश्रा) और उनकी पोस्टिंग संवेदनशील मामलों की सुनवाई करने वाली कोर्ट में करने वाले जिला जज राजेंद्र सिंह को दिए गए थे।
  • अभी तक इस मामले में जिला जज राजेंद्र सिंह से पूछताछ की जा चुकी है।
  • मामले के सामने आने के बाद राजेंद्र सिंह को पदोन्नत कर हाई कोर्ट में तैनात किया जाना था।
  • लेकिन इस मामले के सामने आने के बाद सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने उनका नाम वापस ले लिया है और आगे की प्रक्रिया लंबित है।
  • अपनी रिपोर्ट में जस्टिस भोसले ने कहा कि 18 जुलाई 2016 को पोक्सो जज के रूप में लक्ष्मी कांत राठौर की तैनाती की गई थी।
  • वह बेहतरीन काम कर रहे थे।
  • उन्हें अचानक से हटाने और उनके स्थान 7 अप्रैल 2017 को ओपी मिश्रा की पॉक्सो जज के रूप में तैनाती के पीछे कोई औचित्य या उपयुक्त कारण नहीं था।
  • उन्होंने बताया कि मिश्रा की तैनाती तब की गई जब उनके रिटायर होने में मुश्किल से तीन सप्ताह का समय था।

ये भी पढ़ें- योग दिवस के पूर्वाभ्यास पर सीएम योगी पहुंचे रामाबाई अंबेडकर पार्क!

क्या है मामला

  • गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के सख्त आदेश के बाद यूपी पुलिस ने गायत्री और उनके सहयोगियों अशोक तिवारी, पिंटू सिंह, विकास शर्मा, चंद्रपाल, रूपेश और आशीष शुक्ला के खिलाफ आईपीसी की धारा 376, 376डी, 511, 504, 506 और पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया था।
  • आईपीसी की धारा- 376 के तहत रेप का केस दर्ज होता है।
  • इसमें आरोपी को 10 साल की कैद या उम्रकैद होती है।
  • धारा- 376 डी के तहत गैंगरेप का केस दर्ज होता है, जिसमें उम्रकैद की सजा होती है।
  • अब इस रिपोर्ट के बाद नया विवाद खड़ा हो गया है।

ये भी पढ़ें- गायत्री ने रेप की जमानत के लिए जजों-वकीलों को दी थी 10 करोड़ की रिश्वत!