कभी थे ये अखिलेश के ‘करीबी’, अब सड़क पर बेच रहे हैं भुट्टा!

1

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के बाद से ही समाजवादी पार्टी में बिखराव जारी है. अमित शाह के लखनऊ दौरे पर 2 सपा एमएलसी ने इस्तीफा देने के बाद बीजेपी का दामन थाम लिया था. उसके बाद से ही सपा में इस्तीफे का सिलसिला जारी है, लेकिन आज हम आपको एक ऐसे सपा नेता के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी अखिलेश यादव से लेकर आजम खान तक पहुंच थी और इसकी सुरक्षा में रात दिन गनर तैनात थे. लेकिन योगी सरकार आते ही ये सपा नेता (samajwadi party leader) अब सड़क पर भुट्टा बेच रहा है…

 

अगले पेज पर पढ़ें ये पूरी खबर…

सपा नेता सड़क पर बेच रहा भुट्टा (samajwadi party leader):

  • बता दें उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार में एक शख्स का रुतबा ऐसा था.
  • कि उसकी सुरक्षा में रात दिन गनर तैनात रहते थे.
  • जी हां इस नेता के पास रुतबे से लेकर एक पहुंच तक सब कुछ था.
  • बता दें कि इस नेता की अखिलेश यादव से लेकर आजम खान तक उसकी पहुंच थी.
  • लेकिन कहतें हैं न अर्श से फर्श पर आने में ज्यादा समय नहीं लगता है.
  • जी हां सूत्रों के मुताबिक समाजवादी पार्टी के इस नेता के साथ भी ऐसा ही हुआ है.
  • बता दें कि आजम खान के करीबी रह चूका ये नेता आज सड़क पर भुट्टा बेच रहा है.
  • वैसे इस नेता का ये हाल देखकर बहुत से सवाल दिमाग में आ रहें होंगे.
  • लेकिन ये सच है कि इस सपा नेता का हाल अब ऐसा हो गया है.
  • अगले पेज पर जाने समाजवादी पार्टी के इस नेता के बारे में…

सोशल मीडिया पर फोटो हो रही वायरल… 

  • सोशल मीडिया पर इन तस्वीरों में मौजूद इस अनजान चेहरे ने तहलका मचा कर रख दिया है.
  • बता दें ये शख्स कभी यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ तस्वीर में दिखता है.

12

  • तो कभी पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवपाल यादव के साथ और किसी तस्वीर में ये शख्स आजम खान के साथ भी खड़ा है.
  • लेकिन ये सपा नेता इस तस्वीर में भुट्टे के ठेले पर हाथ में भुट्टा लिए खड़ा हुआ है.

  • सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद इस शख्स की ये दुर्गति हुई है.
  • बता दें कि इस सपा नेता का नाम राशिद अब्बासी है और ये उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर का रहने वाला है.

23

  • लेकिन सपा (samajwadi party leader) सरकार में गनर प्राप्त नेता आज मुजफ्फरनगर की गलियों में भुट्टा छिल रहा है.

ये भी पढ़ें, लड़की की तस्वीर में छिपा ये ‘सच’ जानकर आपके होश उड़ जायेंगे!

1

योगी के बाद अब अखिलेश रखेंगे रामलला की भूमि पर कदम!

1

उत्तर प्रदेश की धरती पर बीते दिनों भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के कदम रखने से पहले ही बसपा के 1 और समाजवादी पार्टी के 2 एमएलसी ने इस्तीफ़ा दे दिया था।समाजवादी पार्टी के लिये खास तौर पर ये काफी बड़ा झटका था। अब समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सीएम योगी और पीएम मोदी को घेरने की तैयारी (samajwadi party ayodhya) भी शुरू कर दी है. जिसकी शुरुवात वह अयोध्या में रैली को संबोधित करते हुए करेंगे…

अगले पेज पर पढ़ें ये पूरी खबर…

75 जिलो में रैली करेगी सपा (samajwadi party ayodhya):

  • उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में सपा को भाजपा के हाथों बुरी हार का सामना करना पड़ा था.
  • इसके बाद से ही समाजवादी पार्टी में अखिलेश और शिवपाल के टकराव देखने को मिलता था.
  • चुनाव के बाद पहली बार सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सड़क पर प्रदर्शन करने की तैयारी में हैं
  • इस प्रदर्शन के जरिये अखिलेश यादव सीएम योगी और पीएम मोदी पर एकसाथ निशाना साधेंगे.
  • 9 अगस्त को समाजवादी पार्टी की रैली का कार्यक्रम रखा गया है.
  • उत्तर प्रदेश के सभी 75 जिलों में समाजवादी पार्टी को इस रैली को करने की तैयारी में है.
  • अगले पेज पर जाने पूर्व मुख्मंत्री अखिलेश यादव ने अपने लिए अयोध्या क्यूँ चुना…

अखिलेश ने अपने लिए चुना अयोध्या:

  • बता दें समाजवादी पार्टी (samajwadi party ayodhya) आने वाली 9 अगस्त को यूपी के सभी 75 जिलों में ”देश बचाओ, देश बनाओ” आंदोलन करेगी.
  • अखिलेश यादव के नेतृत्व में ये रैली उत्तर प्रदेश के अयोध्या से शुरू की जा रही है.
  • सूत्रों से पता चला है कि यूपी के सभी जिलों में होने वाली रैली के लिए कौन सा नेता किस जिले में रहेगा, ये सब तय हो चुका है.
  • बता दें कि सीएम बनने के बाद योगी आदित्यनाथ दो बार अयोध्या जा चुके हैं.
  • लेकिन अब पार्टी के चीफ अखिलेश यादव ने अपने लिए अयोध्या चुना है.

ये भी पढ़ें, सीएम योगी और पीएम मोदी को घेरने के लिए अखिलेश यादव ने दिया ‘नया नारा’!

1

सपा में देवी देवताओं को गाली देने वाले को आगे सीट पर मिलती है जगह!

1

सपा नेता नरेश अग्रवाल (naresh agrawal) के हिन्दू देवी-देवताओं को शराब से जोड़कर दिए गए बयान से प्रदेश भर में लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. ऐसे में सपा कार्यालय में हुई बैठक के दौरान देवी देवताओं को गाली देने वाले नरेश अग्रवाल को मंच की पहली पंक्ति में अतिरिक्त सम्मान दिया जा रहा है. जबकि इस बैठक में अहमद हसन जैसे सीनियर नेता पीछे बैठे नज़र आये.

abuser get front seat in samajwadi party uttar pradesh
abuser get front seat in samajwadi party uttar pradesh

भगवान पर की टिप्पणी :

  • साल 1991 में अयोध्या के आन्दोलन के समय ही रामभक्तो ने जेल में ये लाइने लिखी थी.
  • सपा नेता के विवादित बयान के बाद ही भारतीय जनता पार्टी ने भी उन्हें घेरना शुरू कर दिया था.
  • बीजेपी ने कहा कि नरेश अग्रवाल ने हिन्दू देवी-देवताओं का संसद के अंदर अपमान किया है.
  • इसी के बाद ही राज्यसभा को कुछ समय के लिए स्थगित कर दिया है।
  • नरेश अग्रवाल के इस बयान को राज्यसभा की कार्रवाही से हटा दिया गया था.
1

‘ झूठा पाउडर’ रखे जाने को रामगोविंद ने बताया सरकार की साजिश!

उत्तर प्रदेश के विधानसभा के मानसून सत्र की कार्यवाही(monsoon session proceedings) बीते 11 जुलाई से शुरू हुई थी, जिसके तहत सत्र के पहले दिन ही योगी सरकार ने अपना पहला बजट भी पेश किया था, इसी क्रम में गुरुवार से योगी सरकार ने अपने विभागों के बजट पेश करने शुरू कर दिए हैं। शुक्रवार 21 जुलाई को विधानसभा में विभागीय बजट पेश किये जाने हैं.

विपक्ष का सांकेतिक धरना:

  • विपक्षी विधायक धरने पर बैठ गए हैं.
  • विधानसभा में कार्रवाही का विरोध करने वाले विधायक मुंह पर पट्टी बांधकर विरोध जता रहे हैं.
  • चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के सामने विपक्षी विधायकों का सांकेतिक धरना शुरू हुआ है.
  • मुंह पर पट्टी बांधकर ये सभी विधायक विरोध कर रहे हैं.
  • वहीँ नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने योगी सरकार पर हमला बोला है.
  • राम गोविंद चौधरी ने कहा कि गरीबों के नेता चौधरी चरण सिंह की आत्मा को ज्ञापन दिया है.
  • उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार को सद्बुद्धि दे.
  • भाजपा सरकार लोकतंत्र की विधान सभा में हत्या कर रही है.
  • रामगोविंद चौधरी ने कहा कि इस सरकार में अघोषित इमरजेंसी जैसा माहौल है.
  • झूठा पाउडर लाकर विधान सभा को किले में बदल दिया गया.
  • अघोषित इमरजेंसी को पूरी तरह इमरजेंसी में बदलने के लिए पाउडर रखे जाने की शाजिस सरकार ने की है.
  • सरकार अब अपने जाल में खुद ही फंस गई है.

मानसून सत्र में विपक्ष के कारण पड़ा ‘अकाल’

उत्तर प्रदेश के विधानसभा के मानसून सत्र की कार्यवाही(monsoon session proceedings) बीते 11 जुलाई से शुरू हुई थी, जिसके तहत सत्र के पहले दिन ही योगी सरकार ने अपना पहला बजट भी पेश किया था, इसी क्रम में गुरुवार से योगी सरकार ने अपने विभागों के बजट पेश करने शुरू कर दिए हैं। शुक्रवार 21 जुलाई को विधानसभा में विभागीय बजट पेश किये जाने हैं.

विपक्ष के हंगामे ने रोकी कार्रवाही:

  • यूपी सीएम विधान सभा की आज की कार्रवाही में शामिल होने पहुंचे हैं.
  • विपक्षी दलों की गैर मौजूदगी में विधानसभा की कार्रवाही शुरू हुई.
  • विधान परिषद की कार्यवाई शुरू होते ही समाजवादी पार्टी ने हंगामा शुरू कर दिया.
  • विधान परिषद में सरकार विरोधी नारे लगाए जाने लगे.
  • सपा विधायकों ने वेल में धरना दिया.
  • सपा विधायक बजट पर चर्चा का विरोध कर रहे हैं.
  • शोर शराबे के बीच विधान परिषद की कार्यवाही 30 मिनट के लिए स्थगित की गई.
  • कांग्रेस एमएलसी भी विधान परिषद में धरने पर बैठे हैं.
  • सीएम योगी के भाषण के बाद से ही सदन में हंगामा हो रहा है.
  • विपक्ष ने कल भी जमकर हंगामा किया था.

    कल भी हुआ था हंगामा:

    • वही मंगलवार से लगातार विरोध हो रहा है.
    • कांग्रेस सपा और बसपा सदन में सरकार का विरोध कर रही हैं.
    • विपक्ष ने सदन में वित्त विहीन शिक्षकों का मामला उठाया
    • परिषद की कार्रवाही 15 मिनट के लिए स्थगित करनी पड़ी.
    • विधान सभा मे बाढ़ पर हो रही चर्चा के दौरान भी हंगामा हुआ.
    • विपक्ष ने सिल्ट सफाई में भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाया.
    • नहरों में पानी पहुंचने के मुद्दे को भी विपक्ष ने उठाया.
    • गन्ना मूल्य भुगतान का मुद्दा भी विधान सभा मे उठा.
    • सुरेश राणा ने सदन में सरकार का पक्ष रखा.
    • उन्होंने कहा कि गन्ना किसानों का 89.84 प्रतिशत भुगतान किया जा चुका है.
    • गन्ना मूल्य भुगतान का मुद्दा भी विधान सभा मे उठा.
    • नहरों में पानी पहुंचने के मुद्दे को भी विपक्ष ने उठाया
    • वहीँ कांग्रेस ने विधान सभा से वाक आउट किया।
    • काँग्रेस सदस्य गन्ना किसानों के समर्थन मूल्य बढ़ाने की मांग कर रहे थे.
    • कांग्रेस विधान मंडल दल ने 400 रुपये प्रति क्विन्टल MSP किये जाने का सवाल पूछा।

योगी सरकार ने रिवर फ्रंट की CBI जाँच के लिए लगाया जोर!

अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट गोमती रिवर फ्रंट का सीएम योगी ने निरीक्षण किया था. निरीक्षण के दौरान अनियमितता पाए जाने पर सीएम योगी ने इसकी जाँच के आदेश दिए थे. वहीँ योगी सरकार ने भारत सरकार को पत्र लिखा है.

सिंचाई विभाग द्वारा गोमतीनगर थाने में मुक़दमा भी दर्ज कराया जा चुका है. 8 इंजिनियर के नाम इस मुक़दमे में दर्ज हैं. योगी सरकार ने इस प्रोजेक्ट की जाँच के लिए भारत सरकार को पत्र लिखकर सीबीआई जाँच कराये जाने की मांग की है.

गोमती रिवर फ्रंट घोटाले की जाँच रिपोर्ट सौंपी गई:

  • गोमती रिवर फ्रंट घोटाले के मामले में कार्रवाई समिति ने रिपोर्ट सीएम को सौंप दी है.
  • मंत्री सुरेश खन्ना की अध्यक्षता में गठित समिति ने रिपोर्ट सौंपी है.
  • न्यायिक समिति की रिपोर्ट के आधार पर ही कार्रवाई की संस्तुति की गई है.
  • किसी दोषी अधिकारी को क्लीनचिट नहीं देने की बात भी कही गई है.
  • न्यायिक समिति ने दोषी अधिकारियों पर तय किए आरोप हैं.
  • सूत्रों के मुताबिक जल्द होगी दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की जा सकती है.
  • सीएम योगी आदित्यनाथ दोषी अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई कर सकते है.
  • परियोजना के अधूरे कार्यों को जल्द पूरा करने की सिफारिश भी की गई है.
  • वहीँ समिति द्वारा अधूरे कार्यों के लिए 350 करोड़ के बजट की संस्तुति भी की गई है.
  • समिति ने अधूरे कार्यों का किया था मौका मुआयना किया था.
  • इसी आधार पर दोषी अधिकारियों के पर कार्रवाई करने की बातें सामने आयी हैं.
  • अंतिम फैसला अब सीएम योगी आदित्यनाथ को करना है.
  • परियोजना के लिए सिंचाई विभाग ने 900 करोड़ रुपए मांगे थे.

सीएम ने विपक्ष का अपमान किया- रामगोविंद चौधरी!

सीएम योगी सदन में बजट को लेकर विपक्ष के सवालों का जवाब दिया था. उन्होंने विपक्ष पर हमला भी बोला था. जिसको लेकर आज सदन में हंगामा हुआ. रामगोविंद चौधरी (ramgovind chaudhary) ने सदन में सीएम के भाषण पर कहा कि उनके भाषण से विपक्ष का अपमान हुआ है.

रामगोविंद चौधरी ने बोला बीजेपी पर हमला:

  • राम गोविन्द चौधरी ने कहा कि विपक्ष के सदस्यों को सदन में अपमानित करना अधिकारों का हनन है.
  • विपक्ष ने निर्णय किया है कि हम सदन से बाहर रहेंगे.
  • उन्होंने कहा कि सदन में अपमानित होने नही आएंगे.
  • विपक्ष ने सदन में विस्फोटक का मामला फिर उठाया.
  • विधान परिषद में शोर शराबा हो रहा है.
  • विपक्ष खूब शोर शराबा कर रहा है.
  • विधान परिषद में विपक्ष सदस्य वेल में आकर हंगामा करने लगे.
  • विधान परिषद हंगामे के चलते स्थगित करनी पड़ी.
  • लालाजी वर्मा बसपा नेता का सदन में बयान दिया.
  • उन्होंने कहा कि सरकार को बहुत का अहंकार है.
  • अगर विपक्ष की बात नहीं मानेंगे तो सदन में रहने की कोई वजह नही है.
  • कांग्रेस ने शिक्षकों पर लाठीचार्ज के मुद्दे पर विधान परिषद में हंगामा किया .

कल भी हुआ हंगामा:

  • बुधवार के दिन भी विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ.
  • विस्फोटक के मुद्दे पर जमकर हंगामा हुआ.
  • वहीँ KGMU में लगी आग के कारण भी सरकार को मुश्किलों का सामना करना पड़ा था.
  • KGMU में लगी आग के कारण कई जानें गई थीं.
  • वहीँ प्रारंभिक जाँच में हॉस्पिटल प्रशासन की लापरवाही की सामने आई है.

नरेश अग्रवाल के गढ़ में भाजयुमो ने फूंका पुतला!

1

समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल (mp naresh agarwal) ने राज्यसभा में हिंदू देवी- देवताओं के नाम को शराब के साथ जोड़कर बयान दिया। इसके बाद संसद में खूब हंगामा हुआ। उनके बयान की चौतरफा आलोचना हो रही है। वहीं नरेश अग्रवाल के गृह जनपद हरदोई के सिनेमा चौराहे पर भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की। साथ ही कार्यकर्ताओं ने नरेश अग्रवाल का पुतला जलाकर आक्रोश प्रकट किया।

पिटाई के डर से स्कूल नहीं जा रही मासूम छात्रा!

क्या है पूरा मामला?

  • उल्लेखनीय है कि संसद में बुधवार को गोरक्षा के नाम पर हो रही हिंसा पर चर्चा के दौरान हंगामा उस वक्त बढ़ गया जब नरेश अग्रवाल ने एक बयान दे दिया।
  • नरेश अग्रवाल ने राज्यसभा में हिंदू देवी- देवताओं के नाम को शराब के साथ जोड़कर बयान दिया।
  • हालांकि हंगामे के बाद उप सभापति ने कार्यवाही से नरेश अग्रवाल के बयान को हटा दिया।
  • उप सभापति ने यह भी कहा कि मीडिया में इस बयान को ना दिखाया जाए।
  • बयान से नाराज वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि नरेश अग्रवाल ने ये बयान अगर राज्यसभा से बाहर दिया होता तो उनके ऊपर मुकदमा तक दर्ज हो सकता था।

स्याह तस्वीर पेश कर रहा बाल मजदूरी का ये वीडियो!

  • इस दौरान रामगोपाल यादव ने कहा कि नरेश अग्रवाल माफी नहीं मांगेगे चाहे सदन चले या ना चले।
  • जब संसद में हंगामा बढ़ गया तो नरेश अग्रवाल ने कहा कि हर मुद्दे को राजनीतिक मुद्दा नहीं बनाना चाहिए।

रेप के आरोपी को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला!

  • उन्होंने कहा कि मेरे बयान का गलत मतलब निकाला गया।
  • उन्होंने कहा कि कार्यवाही से जैसे ही मेरे बयान को हटाया गया मैंने अपने शब्दों को वापस ले लिया।
  • उन्होंने कहा कि मेरी कभी इच्छा नहीं थी कि किसी की भावना ठेस पहुंचे।
  • नरेश अग्रवाल (mp naresh agarwal) ने कहा कि अगर राजनैतिक रूप से किसी की भावना को ठेस पहुंची है तो मैं खेद व्यक्त करता हूं।

मोदी सरकार के खिलाफ भाजपा नेता ने खोला मोर्चा!

1

PCS भर्ती की जांच करेगी सीबीआई!

योगी सरकार ने आज एक और बड़ा फैसला किया है. सीएम योगी ने कहा लोक सेवा आयोग भर्ती की जाँच करायी जाएगी. यानी अब यूपी लोक सेवा आयोग पर शिकंजा कसेगा. आयोग की भर्ती की जाँच सीबीआई करेगी.

अनिल यादव पर गिरेगी गाज:

  • आयोग में भर्ती की जांच सीबीआई को सौंपी गई है.
  • 2012 से पीसीएस भर्ती की जांच सीबीआई को सौंपी गई है.
  • पिछली हुकूमत में पीसीएस भर्ती में भ्रष्टाचार उजागर हुआ था.
  • मुख्यमंत्री योगी ने जांच के आदेश दिए हैं.
  • तत्कालीन चेयरमैन अनिल यादव पर अब गाज गिर सकती है.
  • इसके अलावा अन्य मामलों पर भी योगी ने आज विपक्ष को आड़े हाथों लिया.
  • करीब एक घंटे के लम्बे भाषण में उन्होंने पिछली अखिलेश सरकार पर निशाना साधा.
  • इसके अलावा उन्होंने कहा कि ई ऑफिस की व्यवस्था लागू होगी.
  • प्रदेश के अंदर कहीं बैठकर किसी अस्पताल में समय ले सकेंगे.
  • सपा के लोगों ने गोवर्धन में विकास नहीं जवाहर बाग जैसी घटना से विनाश कराए.
  • बसपा भगवान बुद्ध का नाम लेती है, लेकिन वहां भी विकास नही हुआ.
  • 2019 में जनता बेहतर जवाब देगी.
  • नवरात्र में मंदिरों में पहली बार बिजली सफाई मिलेगी.
  • सीएम योगी ने कहा कि आप लोगों ने देवी देवताओं को भी नही बख्शा.
  • अयोध्या, काशी, मथुरा, वाराणसी, मिर्ज़ापुर का विकास होगा.
  • 2019 में अर्धकुम्भ आएगा, कुम्भ के लिए 500 करोड़ का बजट है.
  • मेला विकास बोर्ड बनाने जा रहे हैं.
  • कुम्भ को ऐतिहासिक बनाने की सरकार ने पहल शुरू की है.
  • लोक संस्कृति और लोक कार्यक्रम के लिए बजट में प्रावधान किया गया है.
  • अयोध्या में रामलीला मंचन बन्द करा दिया था.
  • सपा-बसपा रावण लीला कराने वाले रामलीला कराएंगे.
  • हमने रामलीला शुरू करने का काम किया.