पीवी सिंधु आने वाले कुछ सालों में भारत को आगे ले जाएंगी: पुलेला गोपीचंद

बैडमिंटन के मुख्य राष्ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद के मुताबिक पीवी सिंधु अगले चार साल तक भारतीय बैडमिंटन को आगे लेकर जाएंगी। बता दें कि सिंधु ने 2016 ओलंपिक में रजत पदक जीता था।

अगला बड़ा सितारा आने में लगेगा समय-

  • कोच पुलेला गोपीचंद ने कहा, ‘सिंधु केवल 21 वर्ष की है और आने वाले कुछ सालों में वो भारत को आगे ले जाएंगी।’
  • उनके मुताबिक टोक्यो 2020 ओलंपिक में भारत के पास अच्छी बेंच स्ट्रैंथ होगी।
  • साथ ही कोच पुलेला गोपीचंद ने कहा कि अगले नए और बड़े सितारे को आगे आने में समय लगेगा।
  • उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों को तैयार करना आसान नहीं होता है।
  • पुलेला गोपीचंद ने बताया कि रितुपर्णा और रूतविका जैसे खिलाड़ियों के पास अच्छा प्रदर्शन करने की क्षमता है।
  • इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सिक्की और प्रणव अच्छा कर रहे है।
  • उन्होंने बताया कि सात्विक और चिराग भी बेहतर प्रदर्शन कर रहे है।
  • पुलेला गोपीचंद ने बताया कि भारतीय बैडमिंटन के लिए अच्छा इशारा है।
  • उन्होंने बताया कि देश में कम से कम छह से सात खिलाड़ी है जो 20 साल से कम उम्र के है।

यह भी पढ़ें: इंडिया ओपन: क्वार्टर फाइनल में पीवी सिंधु ने दी साइना नेहवाल को मात!

यह भी पढ़ें: सुरेश रैना ने किया खुलासा, क्यों हैं क्रिकेट से काफी समय से दूर!

हारने के बावजूद सिंधु को मिला मारिन से ज्यादा इनाम

रियो ओलंपिक 2016 के वुमन्स बैडमिंटन के फाइनल में भारत की पीवी सिंधु को हराने वाली स्पेन की कैरोलिना मारिन ने खुलासा किया है कि रियो में गोल्ड जीतने के बाद उन्हें ज्यादा कुछ नहीं मिला, जबकि उनसे हारने वाली सिंधु पर भारत में इनामों की बारिश हो गई थी.

गोल्ड जीतकर भी सिंधु से गरीब रहीं मारिन-

  • मारिन को गोल्ड मैडल जीतने के बाद केवल 9400 यूरो यानि करीब 68 लाख रुपए ही मिले.
  • उन्होंने बताया कि उन्हें केवल सरकार से इनाम मिला.
  • दूसरी ओर सिंधु के सिल्वर जीतने पर इनामों की बारिश हो गई थी.
  • सिंधु को नकद इनाम के अलावा लग्जरी कार, ज़मीन और कई एंडोर्समेंट ऑफर मिले.
  • इतना ही नहीं सिंधु के कोच पी. गोपीचंद को भी बहुत कुछ इनाम में मिला.
  • इस बारे में मारिन के कोच रिवाज से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें कोई इनाम नहीं मिला.

marin

मारिन बोलीं- ‘काश मैं इंडियन होती’-

  • मारिन ने कहा, ‘स्पेन में चीजें बिल्कुल अलग हैं.’
  • उन्होंने कहा कि मुझे कोई कार, मकान और जमीन नहीं मिली, लेकिन फिर भी जो मिला मै उससे संतुष्ट हूं.
  • मारिन ने मान कि उन्हें अपने देश से ज्यादा भारत में अटेंशन मिल रहा है.
  • उन्होंने बताया, ‘यहां आकर मुझे ढ़ेर सारे फैंस मिले.’
  • मारिन ने मुस्कुराते हुए कहा कि कभी-कभी मुझे लगता है की मुझे भी इंडियन होना चाहिए था.

टीम को हारता हुआ देख सीरियस हुए सचिन तेंदुलकर

प्रीमियर बैडमिंटन लीग (पीबीएल) के दूसरे संस्करण में चेन्नई स्मैशर्स और बेंगलुरू ब्लास्टर्स के बीच मुकाबला हुआ. इस मुकाबलें में चेन्नई स्मैशर्स ने बेंगलुरू ब्लास्टर्स को 5-0 से हराया दिया. इस दौरान मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर भी इस मुकाबलें को देखने पहुंचे थे. बता दें कि पीबीएल टीम बेंगलुरू ब्लास्टर्स में सचिन की हिस्सेदारी है.

वाइफ अंजलि के साथ पहुंचे सचिन-

sachin1

  • इस दौरान सचिन बैडमिंटन कोच पी. गोपीचंद से भी बात करते हुए नज़र आये.
  • मैच के दौरान कई ऐसे मौके आये जब अंजलि चीज़ें समझ नहीं पा रहीं थी.
  • तब सचिन उन्हें बैडमिंटन की बारीकियां समझाते हुए नज़र आये.

sachin-anjali

यह भी पढ़ें: पीबीएल: चेन्नई स्मैशर्स ने बंगलुरू ब्लास्टर्स को चटाई धूल

यह भी पढ़ें: आईपीएल: केकेआर टीम में लक्ष्मीपति बालाजी की हुई वापसी