ज्वाला गुट्टा ने की बैडमिंटन अकादमी लांच करने की घोषणा

भारत की स्टार बैडमिंटन प्लेयर ज्वाला गुट्टा ने हैदराबाद में अपनी बैडमिंटन अकादमी लांच करने की घोषणा की है। ज्वाला गुट्टा ने युवा प्रतिभा को निखारने के लिए इस अकादमी को लांच करने की घोषणा की। इस अकादमी को वेलनेस लैब्स एएलपी के साथ मिलकर बनाया गया है।

‘खेल को गंभीरता से लेना शुरू कर दिया’-

  • स्टार खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा ने कहा कि अब युवा खिलाड़ी करियर विकल्प में बैडमिंटन को गंभीरता से ले रहे है।
  • उन्होंने बताया कि यह अकादमी युवा प्रतिभा की खोजेगी, उसे निखारेगी और ट्रेनिंग मुहैया कराएगी।
  • इस अकादमी में एक भारतीय और एक अंतर्राष्ट्रीय कोच होगा।
  • अकादमी में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की बैडमिंटन सुविधाएं दी जाएंगी।
  • इसके साथ ही खिलाड़ियों को वैश्विक टूर्नामेंट में प्रतिस्पर्धा की बेहतर तैयारी दी जाएगी।
  • ज्वाला गुट्टा अपनी इस अकादमी का विस्तार मुंबई, कोलकाता, दिल्ली और बेंगलुरू में करेगी।
  • इसमें कुल निवेश करीब 20 करोड़ होगा।
  • इसके अलावा अकादमी अच्छे खिलाड़ियों को विदेशी कार्यक्रम में भी भेजेगी।
  • अकादमी स्कूलों के परिसर में ही केंद्र खोलने के लिए स्कूलों से साझेदारी करेगी।
  • जमीनी स्तर पर स्थानीय स्कूलों में प्रतिभा खोजने में ध्यान लगाएगी।

यह भी पढ़ें: किंग्स इलेवन पंजाब की कमान अब इस ऑस्ट्रेलिया खिलाड़ी के नाम

यह भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलियाई अखबार ने भारतीय कप्तान विराट और कोच कुंबले पर लगाये गंभीर आरोप

डीयू विवाद: गुरमेहर कौर के समर्थन में उतरी ओलंपियन ज्वाला गुट्टा

डीयू की छात्र गुरमेहर कौर के सोशल मीडिया पोस्ट के कारण पूरे देश देशद्रोह-देशप्रेम के दो हिस्सों में बटा नज़र आ रहा है. देश में चल रहे इस दंगल में भारत के बड़े बड़े नेता, राजनेता, अभिनेता आदि की बहस जारी है. इस मामले में देश के खिलाड़ियों ने भी अपनी-अपनी राय दी है. वीरेंदर सहवाग से लेकर बबिता फोगाट बयानबाजी करने से पीछे नहीं हटे. अब इस मामले में बैडमिंटन जगत की मशहूर प्लेयर ज्वाला गुट्टा भी आ गई है.

गुरमेहर का किया समर्थन-

  • बैडमिंटन डबल स्पेशलिस्ट ज्वाला गुट्टा ने गुरमेहर कौर का समर्थन किया है.
  • उन्होंने सोशल मीडिया के ज़रिएं इस मामले पर अपनी बात रखी है.
  • ज्वाला गुट्टा ने गुरमेहर का विरोध पर दुःख जताया है.
  • उन्होंने कहा, ‘दुःख की बात है कि अगर कोई शांति से बात करना चाहता है तो लोग उसे पाकिस्तानी कहते हैं.’
  • ज्वाला गुट्टा ने वीरेंदर सहवाग पर भी निशाना साधा.
  • आगे उन्होंने कहा, ‘कुछ खिलाड़ी पूरा सच जाने बिना ही गुरमेहर की आलोचना कर रहे हैं.’
  • ज्वाला ने कहा, ‘खिलाड़ी शांति के दूत है इसलिए हम जैसे खिलाड़ियों को ऐसे विषयों पर बोलना आवश्यक है.’

यह भी पढ़ें: भारतीय क्रिकेटरों ने महान अंपायर जॉन हैम्पशायर के निधन पर जताया दुख!

यह भी पढ़ें: डीयू विवाद: भारतीय खिलाड़ी अब कर रहे अभिव्यक्ति की आज़ादी का समर्थन

इन दिग्गज महिला खिलाड़ियों की खूबसूरती देखकर आप हो जाएंगे इनके फैन!

1

भारतीय महिलाओं ने अपनी क्षमता के बल पर अपनी काबिलियत का लोहा मनवाया है. खेल की दुनिया में भी भारतीय महिलाएं किसी भी देश की महिलाओं से पीछे नहीं है. जितनी काबिल ये खिलाड़ी अपने खेल में है उतनी ही काबिल-ए-तारीफ है इनकी खूबसूरती. आइये हम आपको भारत की कुछ दिग्गज महिला खिलाड़ियों से मिलवातें है जिनकी ख़ूबसूरती देखकर आप हैरान हो जाएंगे.

प्राची तेहलान (नेटबॉल)-

prachi

  • प्राची तेहलान भारत की नेटबॉल और बास्केटबॉल खिलाड़ी हैं.
  • वो भारतीय नेटबॉल टीम की पूर्व कप्तान हैं.

प्रतिमा सिंह (बास्केटबॉल)-

Pratima-Singh

  • नेशनल बास्केटबॉल टीम का हिस्सा प्रतिमा सिंह ने 2003 में बास्केटबॉल खेलना शुरू किया था.
  • बीते वर्ष दिसंबर में उन्होंने क्रिकेटर इशांत शर्मा से शादी कर ली.

तानिया सचदेव (चेस)-

tania

  • तानिया सचदेव भारत की चेस प्लेयर और कमेंटेटर है.
  • चेस की क्वीन की तरह उनका अंदाज़ सामने वाले को चेक एंड मेट कर सकता है.

शर्मिला निकोलेट (गोल्फ)-

Sharmila

  • शर्मिला निकोलेट एक इंडो-फ्रेंच पेशेवर गोल्फ खिलाड़ी है.
  • बेंगलुरु की रहने वाली शर्मीला का अंदाज़ देखेत ही बनता है.

अलीशा अब्दुल्लाह (रेसिंग ड्राईवर)-

alisha

  •  अलीशा अब्दुल्लाह भारत की एक रेसिंग ड्राइवर हैं.
  • वह भारत की पहली महिला राष्ट्रीय रेसिंग चैंपियन भी हैं.

दीपिका पल्लिकल (स्क्वैश)-

dipika

  • दीपिका पल्लीकल कार्तिक एक भारतीय स्क्वैश खिलाड़ी है।
  • वह पहली भारतीय हैं जिन्होंने पीएसए महिला रैंकिंग में शीर्ष 10 में जगह बनाई थी.

अश्विनी पोनप्पा (बैडमिंटन)-

Ashwini Ponnappa

  • इंटरनेशनल स्तर पर भारत को प्रस्तुत करने वाली अश्विनी पोनप्पा महिला एकल और मिश्रित युगल की शानदार खिलाड़ी हैं.
  • ज्वाला गुट्टा के साथ इनकी जोड़ी ने खूब धमाल मचाया है.

ज्वाला गुट्टा (बैडमिंटन)-

Jwala

  • बाएं हाथ के भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा देश के सबसे सफल युगल विशेषज्ञ है.
  • ज्वाला ने राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप चौदह बार जीती है।

साइना नेहवाल (बैडमिंटन)-

saina

  • साइना नेहवाल भारत से एक पेशेवर बैडमिंटन एकल खिलाड़ी है।
  • नेहवाल ने 2009 के बाद से वह बीस से अधिक अंतरराष्ट्रीय खिताब है, जिसमे दस सुपर खिताब शामिल जीता है।

सानिया मिर्ज़ा (टेनिस)-

sania

  • सानिया मिर्जा एक भारतीय पेशेवर टेनिस खिलाड़ी है.
  • स्टार प्लेयर सानिया भारत की सबसे अधिक वेतन पाने वाली हाई प्रोफाइल एथलीट हैं.

1

सम्मान के लिए गिड़गिड़ाने को मजबूर कर देते है: शरत कमल

पद्म श्री के लिए नजरअंदाज किए गए देश के प्रमुख टेबल टेनिस खिलाड़ी शरत कमल का मानना है कि देश की मौजूदा पुरस्कार आवेदन व्यवस्था में खिलाड़ियों को सम्मान मांगना पड़ता है। उन्होंने कहा कि अवार्ड के लिए प्रार्थनापत्र देना, सम्मान के लिए गिड़गिड़ाने जैसा है।

सम्मान के लिए गिड़गिड़ाने को कर देते है मजबूर-

  • शरत कमल दो बार के राष्ट्रमंडल खेल में स्वर्ण पदक विजेता रह चुके हैं।
  • उन्होंने कहा, ‘अवार्ड के लिए आपको कई स्तर पर सरकार से अनुशंसा के पत्र हासिल करने होते है।’
  • आगे उन्होंने बताया कि आप जितने ज्यादा पत्र जुटा लेते हैं, उतना ही आपके अवसर बढ़ जाते हैं।
  • उन्होंने कहा, ‘एक एथलीट के लिए यह निराशाजनक होता है क्योंकि आपको पता है कि आपने पुरस्कार के लिए चुने गए कई खिलाड़ियों से अच्छा प्रदर्शन किया है।’
  • शरत को इस बार पद्म श्री अवार्ड की सूची देखकर झटका लगा था।
  • उन्होंने कहा, ‘जो लोग चुने गए हैं उनमें से ज्यादातर इस लायक थे लेकिन कुछ नहीं भी थे।’
  • शरत कमल ने कहा कि जब ऐसा होता है तो एक एथलीट के तौर पर आप हतोत्साहित हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें: अफरीदी ने पाकिस्तानी कैदियों को छुड़ाने के लिए दिए 21 हजार डॉलर

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व CAG विनोद राय को सौंपी बीसीसीआई की कमान

इंग्लैंड के खिलाफ इंडिया-ए ने जीता दूसरा अभ्यास मैच

भारत-इंग्लैंड के बीच होने वाले वनडे और टी-20 मैचों की सीरीज से पहले खेले गए दूसरे अभ्यास मैच में भारत ए टीम ने इंग्लैंड को 6 विकेट से हरा दिया. इससे पहले खेले गये अभ्यास मैच में भारत को इंग्लिश टीम की हाथों हार का सामना करना पड़ा था.

अजिंक्य रहाणे ने संभाली टीम की कमान-

  • इस मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीता.
  • टॉस जीत कर इंग्लैंड ने बल्लेबाजी करने का फैसला किया.
  • इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 48.5 ओवरों में 282 रन बनाए.
  • जवाब में टीम इंडिया ने 39.4 ओवरों में ही 283 रन चार विकेट खो कर बनाए.
  • ब्रेबोर्न स्टेडियम में खेले गए अभ्यास मैच में अजिंक्य रहाणे की अगुवाई में टीम ने शानदार प्रदर्शन किया.
  • कप्तानी करते हुए रहाणे ने अपना शत-प्रतिशत दिया.
  • बल्लेबाजी करते हुए रहाणे शतक बनाने से चुक गये.
  • अजिंक्य रहाणे ने शानदार पारी खेलते हुए 83 गेंदों में 91 रन बनाकर टीम को मजबूती दी.
  • रहाणे के अलावा ऋषभ पंत ने भी शानदार बल्लेबाजी की.
  • बल्लेबाजी करते हुए ऋषभ पंत ने 56 (36) रन बनाए.
  • गेंदबाजी में भारत की ओर से परवेज रसूल ने 10 ओवर में 38 रन देकर तीन विकेट लिए.

ह भी पढ़ें: कोहली को टीम की कप्तानी सौंपने का सही समय: अनिल कुंबले

यह भी पढ़ें: भारत-इंग्लैंड के बीच होने वाले सीरीज़ को कोई खतरा नहीं: लोढ़ा कमेटी

डबल्स की हेड कोच बनना चाहतीं हैं ज्वाला गुट्टा

भारत की युगल बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा ने कहा कि भारत में डबल्स खिलाडि़यों के लिए कोई व्यवस्था नहीं है, सारा ध्यान सिंगल्स के खिलाडि़यों पर रखा जाता है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि अगर मौका मिले तो वो डबल्स की हेड कोच बनना चाहेंगी।

युगल खिलाड़ी बनने के लिए हिम्मत चाहिए-

  • ज्वाला ने कहा कि ओलंपिक की तैयारियों से पहले उनका ट्रेनर एक सिंगल खिलाड़ी पर ज्यादा ध्यान रखता था।
  • लेकिन वो कुछ नहीं कह पाती थी।
  • भारतीय महिला शटलर ने कहा कि ओलंपिक ही नहीं कई सिंगल खिलाडि़यों को स्पांसर मिल जाते हैं।
  • उन्होंने कहा, ‘हमारे साथ हमेशा सौतेला व्यवहार किया जाता है और इतने सालों में कुछ भी नहीं बदला है।’
  • आगे उन्होंने कहा, ‘हम यहां केवल इसलिए हैं क्योंकि हम यहां रहना चाहते हैं और हमें किसी तरह का सहयोग नहीं मिलता है।’
  • ज्वाला ने कहा, ‘यह मेरे करियर का आखिरी चरण है लेकिन हमारे पास अब भी युगल संस्कृति नहीं है।’
  • ज्वाला गुट्टा के अनुसार भारत में युगल खिलाड़ी बनने के लिए हिम्मत चाहिए।

डबल्स की हेड कोच बनना चाहती हैं ज्वाला-

jwala-gutta

  • डबल्स की खिलाड़ी ज्वाला ने इच्छा जताई है कि अगर उन्हें डबल्स का हेड बनने का मौका मिला तो वो पीछे नहीं हटेंगी।
  • वो अब डबल्स की स्थिति सुधारना चाहती हैं जिससे कि डबल्स से और भी अच्छे खिलाड़ी मिल सकें।
  • डबल्स की बात करें तो सिर्फ ज्वाला, अश्विनी पोनप्पा, मनु अत्री, सुमित रेड्डी ही जहन में आएंगे।
  • ऐसी स्थिति हो गई है कि कोई डबल्स का खिलाड़ी नहीं बनना चाहता है।
  • ज्वाला गुट्टा इसमें बदलाव लाना चाहतीं हैं।

हारने के बावजूद सिंधु को मिला मारिन से ज्यादा इनाम

रियो ओलंपिक 2016 के वुमन्स बैडमिंटन के फाइनल में भारत की पीवी सिंधु को हराने वाली स्पेन की कैरोलिना मारिन ने खुलासा किया है कि रियो में गोल्ड जीतने के बाद उन्हें ज्यादा कुछ नहीं मिला, जबकि उनसे हारने वाली सिंधु पर भारत में इनामों की बारिश हो गई थी.

गोल्ड जीतकर भी सिंधु से गरीब रहीं मारिन-

  • मारिन को गोल्ड मैडल जीतने के बाद केवल 9400 यूरो यानि करीब 68 लाख रुपए ही मिले.
  • उन्होंने बताया कि उन्हें केवल सरकार से इनाम मिला.
  • दूसरी ओर सिंधु के सिल्वर जीतने पर इनामों की बारिश हो गई थी.
  • सिंधु को नकद इनाम के अलावा लग्जरी कार, ज़मीन और कई एंडोर्समेंट ऑफर मिले.
  • इतना ही नहीं सिंधु के कोच पी. गोपीचंद को भी बहुत कुछ इनाम में मिला.
  • इस बारे में मारिन के कोच रिवाज से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें कोई इनाम नहीं मिला.

marin

मारिन बोलीं- ‘काश मैं इंडियन होती’-

  • मारिन ने कहा, ‘स्पेन में चीजें बिल्कुल अलग हैं.’
  • उन्होंने कहा कि मुझे कोई कार, मकान और जमीन नहीं मिली, लेकिन फिर भी जो मिला मै उससे संतुष्ट हूं.
  • मारिन ने मान कि उन्हें अपने देश से ज्यादा भारत में अटेंशन मिल रहा है.
  • उन्होंने बताया, ‘यहां आकर मुझे ढ़ेर सारे फैंस मिले.’
  • मारिन ने मुस्कुराते हुए कहा कि कभी-कभी मुझे लगता है की मुझे भी इंडियन होना चाहिए था.

सचिन की तरह प्रतिभावान है पृथ्वी शॉ, पहले मैच में ही जड़ा शतक

मुंबई के प्रतिभावान बल्लेबाज़ पृथ्वी शॉ ने अपने पहले रणजी ट्राफी मैच में ही शतक ठोककर क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर के कमाल को फिर से दोहरा दिया है. बता दें कि इस समय पृथ्वी शॉ को इस समय मुंबई के क्रिकेट जगत में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर की ही तरह प्रतिभावान मना जा रहा है.

किया धमाकेदार करियर का आगाज़-

  • पृथ्वी शॉ को जब तमिलनाडु के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले के लिए उन्हें मुंबई की टीम में स्थान दिया गया.
  • जब उन्हें मुंबई टीम में स्थान मिला तभी से हर कोई यह उम्मीद लगा रहा था कि वो सचिन की ही तरह रणजी ट्राफी में अपने करियर का धमाकेदार आगाज़ किया.
  • पृथ्वी शॉ अपने पदार्पण मैच में ही सैकड़ा जड़ने में कामयाब रहे.
  • मैच में पृथ्‍वी ने 120 रन की पारी खेली.
  • अपनी पारी के दौरान पृथ्वी ने 13 चौके और एक छक्‍का जड़ा.
  • बता दें कि सचिन तेंदुलकर ने अपने पहले रणजी मैच में गुजरात के खिलाफ शतक जड़ा था

फाइनल में पहुंची मुंबई-

  • मुंबई ने तमिलनाडु को 6 विकेटों से मात दी.
  • पृथ्वी के शतक की बदौलत मुंबई रणजी ट्राफी के फाइनल्स में पहुँच गई है.
  • मुंबई टीम 46वीं बार रणजी के फाइनल में पहुँचने ने कामयाब रही है.
  • फाइनल में मुंबई का सामना गुजरात से होगा.
  • रणजी का फाइनल 10 से 14 जनवरी के बीच इंदौर में खेला जाएगा.

यह भी पढ़ें: पीबीएल: लखनऊ में होगा अवध वारियर्स व दिल्ली एसर्स के बीच मुकाबला

रविचंद्रन अश्विन बने आईसीसी क्रिकेटर ऑफ़ द इयर

भारत के ऑल-राउंडर रविचंद्रन अश्विन को प्रतिष्ठित सर गारफील्ड सोबर्स ट्राफी जीती है. इसके साथ ही उन्हें आईसीसी क्रिकेटर ऑफ़ द इयर घोषित किया गया है. अश्विन तीसरे ऐसे भारतीय बने है जिन्हें ये सम्मान प्राप्त हुआ है. साथ ही अश्विन को आईसीसी टेस्ट क्रिकेटर ऑफ़ द इयर भी चुना गया है.

राहुल के नक्शेकदम पर अश्विन:

  • अश्विन 12वें ऐसे खिलाड़ी बने है जिन्हेंने प्रतिष्ठित गारफील्ड सोबर्स ट्राफी अपने नाम की है.
  • उल्लेखनीय है कि राहुल द्रविड़ (2004) और सचिन तेंदुलकर (2010) के बाद अश्विन तीसरे भारतीय खिलाड़ी है जिन्हें ये सम्मान प्राप्त हुआ है.
  • इसके अलावा अश्विन को आईसीसी क्रिकेटर ऑफ़ द इयर भी चुना गया है.
  • बता दें कि इससे पहले राहुल द्रविड़ (2004) को एक ही बार में ये दोनों सम्मान हासिल हुए थे.
  • 30 वर्षीया अश्विन का चुनाव 14 सितम्बर 2015 से 20 सितम्बर 2016 तक उनके प्रदर्शन पर किया गया है.
  • अश्विन ने आठ टेस्ट खेलते हुए 48 विकेट और 336 रन अपने नाम किये है.
  • इसके अलावा 19 टी-20 खेलते हुए उन्होंने 27 विकेट चटकाएं है.
  • 2015 में अश्विन को विश्व का नंबर वन टेस्ट बॉलर चुना गया था.
  • अश्विन का जलवा 2016 में भी कायम है.
  • इस सम्मान को जीतने के बाद अश्विन की ख़ुशी का ठिकाना नहीं है.
  • उन्होंने कहा, ‘यह मेरे लिए गौरव की बात है कि मुझे ये सम्मान दिया जा रहा है.’