BRD में हुई मौतों पर मायावती ने बीजेपी पर लगाये गंभीर आरोप!

1

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में स्थित BRD मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित होने के चलते बच्चों की मौत का आंकड़ा अब 50 के पार पहुँच गया है, वहीँ मामले में योगी सरकार अब भी लीपापोती में जुटी हुई है. यूपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर और प्रदेश प्रभारी गुलाम नबी आज़ाद भी BRD मेडिकल कॉलेज पहुंचे थे. इससे पहले सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर हमला बोला था. इसी क्रम में बसपा सुप्रीमो मायावती (mayawati statement) ने भी योगी सरकार पर हमला बोला है…

अगले पेज पर पढ़ें ये पूरी खबर…

जांच कर सख्त कार्रवाई हो (mayawati statement):

  • बसपा सुप्रीमो मायावती ने शनिवार को BRD मेडिकल कॉलेज में हुए हादसे को लेकर अपना बयान जारी किया है।
  • मायावती (mayawati statement) ने कहा कि, भाजपा का स्वाभाव गलतियों को स्वीकार करने की आदत नहीं है।
  • मामले की जांच कर सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।
  • मासूम बच्चों की मौत पर मुख्यमंत्री योगी को कड़ा एक्शन लेना चाहिए।
  • गोरखपुर में मासूमों की मौत से हाहाकार मचा हुआ है।
  • ऑक्सीजन सप्लाई मामले में सरकार की उदासीनता है।

अखिलेश यादव का हमला:

  • जान जाने लगी तो आस पास के ज़िलों से आक्सीजन भेजी गई।
  • हो सकता है कमीशन की वजह से भुगतान ना हुआ हो।
  • बीजेपी के मंत्रियों को ही नही पता कि राष्ट्रगान क्या है और राष्ट्रगीत क्या है।
  • अगर मुख्यमंत्री स्तर पर समीक्षा में आक्सीजन भुगतान ना होने की बात सामने नही आई तो गलती किसकी।
  • गोरखपुर में आंकड़े और घटना छुपा रही भाजपा।
  • भुगतान नही होता तो कारण क्या है।
  • मैं एक बार लिफ्ट में फंस गया था।
  • हम केवल आवाज़ उठा रहे हैं मदद नही कर सकते।
  • गोरखपुर की घटना दुखद है।
  • गोरखपुर के मेडिकल कालेज में आधुनिक सुविधाएं मिलनी चाहिए।
  • वहां पूरे पूर्वांचल, नेपाल और बिहार से भी बच्चे इलाज के लिए आते हैं।
  • सरकार इन चीजों पर ध्यान नही दे रही।
  • कानपुर में रेल दुर्घटना हुई थी तो हमने कहा था ये समय राजनीति का नही।
  • ज़िम्मेदारी से बचने के लिए विपक्ष पर आरोप लगाया जा रहा कि राजनीति हो रही।

ये भी पढ़ें, योगी सरकार के मंत्री को नहीं याद वन्दे मातरम, अखिलेश ने बोला हमला!

1

बसपा सुप्रीमों ने ‘बीएसपी का सपना, सरकार हो अपनी’ की जगाई अलख!

बहुजन समाज ने गुरूवार 10 अगस्त को राजधानी लखनऊ के 12 मॉल एवेन्यू स्थित अपने स्टेट कार्यालय में यूपी के सभी पदाधिकारियों एवं जिम्मेदार कार्यकर्ताओं के साथ एक विशेष बैठक की. इस बैठक में बीएसपी मूवमेंट के लिए तन, मन और घन से काम करना साथ ही ‘बीएसपी का सपना, सरकार हो अपनी’ के अलख को जगाये रखने का संकल्प दोहराया गया. बता दें कि इस बैठक में यूपी के स्टेट यूनिट के अंतर्गत आने वाले सभी मंडलों के पदाधिकारी और ज़िम्मेदार कार्यकर्ता शामिल रहे. इस बैठक में बसपा सुप्रीमो मायावती मुख्य अतिथि के रूप मौजूद रहीं.

मोदी सरकार के हथकंडों के चलते देश में भय और आतंक जैसा माहौल-

  • बसपा स्टेट कार्यालय में आज एक विशेष बैठक की गई.
  • इस बैठक को संबोधित करते हुए बसपा सुरिमो मायावती ने पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला.
  • उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार साम, दाम, दण्ड, भेद जैसे हथकंडे अपना रही है.
  • साथ ही इस सरकार के असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक नीति और व्यवहार के चलते देश भर में भय , आतंक , हिंसा और बेचनी और एक प्रकार की अफरातफरी जैसा माहौल है.
  • उन्होंने कहा कि गरीबों, मजदूरों ,पिछड़े व् मुस्लिम एवं अन्य धार्मिक अल्पसंख्यकों के प्रति सरकार उपेक्षा, भेदभाव तथा नाइंसाफी कर रही है.
  • जिसे आज देश भर में महसूस किया जा रहा है.
  • उन्होंने ये भी कहा कि बीजेपी सरकार का रवैया निरंकुश और दमन कारी होता जा रहा है.

एक राजनितिक पार्टी के साथ मिशनरी मूवमेंट भी है बसपा-

  • मायावती ने अपने संबोधन में कहा कि बीएसपी एक राजनितिक पार्टी के साथ एक मिशनरी मूवमेंट भी है.
  • ये मूवमेंट बाबा साहब आंबेडकर के कारवां की देश में एक मात्र पार्टी है.
  • जिसने आपने राजनैतिक सफ़र में काफी उतार चढ़ाव देखें हैं.
  • उन्होंने कहा कि 2017  में पार्टी ने आम चुनाव की अपेक्षा सबसे कम सीट जीत पायी.
  •  जिसका कारण पार्टी की कमजोरी नही बल्कि वो साजिशें हैं जो पार्टी के नेतृत्व के विरुद्ध की जा रही है.
  • उन्होंने कहा कि ये स्थिति हमेशा बरकरार रहने वाली नही है.
  • मायावती ने कहा कि बीजेपी व् आरएसएस की संक्रीर्ण जातिवादी व् सांप्रदायिक जहर को बाबा साहब की विचारधारा ही रोक सकती है.
  • इसके लिए बसपा कृतसंकल्प हो कर काम कर रही है.
  • इसके लिए देश स्तर पर जनचेतना व् संघर्ष कार्यक्रम की घोषणा की गई है.
  • जिसकी शुरुआत 18 सितम्बर को मेरठ में पहले माडल स्तरीय बसपा ‘कार्यकर्ता महासम्मेलन’ से होगी.

बसपा सुप्रीमो ने हरियाणा सीएम पर बोला तीखा हमला!

2

बहुजन समाज पार्टी ‘बसपा’की सुप्रीमो मायावती ने आज भारतीय जनता पार्टी पर तीखा हमला बोला. गौरतलब हो कि बीजेपी शासित राज्य हरियाणा में भाजपा अध्यक्ष के पुत्र द्वारा राज्य के आईएएस अधिकारी की बेटी के अपहरण का मामला प्रकाश में आया था. जिसके बाद स्वय सेवक एवं बीजेपी के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा पिछली घटनों की तरफ इस घटना को भी मामूली बताते हुए मामले को रफा दफा कर करने की कोशिश की थी. मनोहर लाल खट्टर की इस कोशिश की बसपा सुप्रीमो मायावती ने तीव्र नदा की है. साथ ही उन्होंने इस मामले पर गहरा दुःख प्रकट किया है.

बीजेपी शासित राज्यों में कानून के साथ खिलवाड़ आम बात-

  • बसपा सुप्रीमो मायावती ने आज बीजेपी पर जमकर हमला बोला.
  • उन्होंने अपने बयान में कहा कि बीजेपी शासित राज्यों में दलितों, शोषितों , उपेक्षितों , पिछड़ों व् मुस्लिम एवं धार्मिक अल्पसंख्यकों के मामल में कानून का राज नही है.
  • उन्होंने कहा कि इसके साथ ही महिला उत्पीडन तथा अन्य मामलों में भी कानून का राज कायम नही है.
  • मायावती ने कहा कि बीजेपी शासित राज्यों में कानून के साथ खिलवाड़ की घटना आम हो गई है.
  • उन्होंने कहा कि इस मामले में ख़ास कर हरियाणा की सरकार बेहद पिछड़ी हुई और बदनाम है.
  • मायावती ने कहा कि हरियाणा के बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के पुत्र विकास बराला मामले पर भी हमला बोला.
  • उन्होंने कहा कि विकास बराला द्वारा आईएएस अधिकारी की बेटी के अपहरण के संगीन मामले था.
  • लेकिन बीजेपी मुख्यमंत्री खट्टर ने हस्ताक्षेप कर के मामले को हलकी धाराओं में लिखवा कर उसे जमानत पर छुडवा दिया.
  • ऐसे में लोगों का आक्रोशित होना स्वाभाविक है.
2

लोगों की आँख में धूल झोंकना बन गई है BJP की आदत-मायावती

1

उत्तर प्रदेश के पूर्व सांसद एवं बसपा सुप्रोमो मायावती ने सोमवार 31 जुलाई को भारतीय जनता पार्टी पर तीखा हमला बोला. मायावती ने बीजेपी पर झूठे आश्वासनों के बल चुनाव जीतने और छलावे के आधार पर सरकार चलने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि इस प्रकार के फरेब से यूपी के लगभग 22 करोड़ लोगों को कब तक चला जाता रहेगा?

ये भी पढ़ें : प्रदर्शन कर रहे कर्मियों की राजभर ने सुनी गुहार!

केंद्र और राज्य में BJP की सरकार होने के बावजूद जनता को नही मिल रहा फायदा-

  • बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह अपने तीन दिवसीय प्रवासी दौरे पर राजधानी लखनऊ में हैं.
  • अमित शाह ने आज एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान प्रदेश और केंद्र सरकार की उपलब्धियां पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी.
  • इस पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहाकि केंद्र और राज्य दोनों में एक ही पार्टी की सरकार है.

ये भी पढ़ें :मेरठ: मनचले की पिटाई का वीडियो वायरल!

  • लेकिन इसके बावजूद इसका लाभ यूपी की जनता को नही मिल पा रहा है.
  • उन्होंने कहा कि इसके विपरीत शिक्षा के अधिकार और रोज़गार के अवसर पैदा करने अवसर घटा दिए गए हैं.
  • यही नही जनहित और जनकल्याण योजनाओं में भी बीजेपी सरकार का योगदान जीरो प्रतिशत है.

यूपी में अपराध नियंत्रण और कानून व्यवस्था का बुरा हाल-

  • मायावती ने बीजेपी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि यूपी के अपराध नियंत्रण और कानून व्यवस्था का बुरा हाल है.
  • उन्होंने कहा कि प्रदेश में जंगल राज्य पनप रहा है.
  • साथ ही सनसनीखेज़ वारदातों से हर दिन प्रदेश दहल रहा है.

ये भी पढ़ें :यूपी के सरकारी राशन की बिहार में हो रही तस्करी!

  • उन्होंने कहाकि आज ही इलाहाबाद में प्रधानाचार्य पर कातिलाना हमला हुआ है.
  • ये इस बात का का प्रमाण है कि बीजेपी सरकार में अपराध ही अपराध बोल रहा है.
  • मायावती ने कहा कि लोगों को वरगलाकर उनकी आँख में धुल झोंकना बीजेपी की आदत बन गई.
  • यही कारण है की जनता को लाभ देने के बजाये उनसे टालने वाली बातें की जा रही हैं.
  • जिससे जनता का कुछ भला नही हो सकता है.

ये भी पढ़ें :पति के जीते जी पत्नियाँ बनवा रहीं उनके मृत्यु प्रमाण पत्र!

1

मायावती का राज्यसभा से इस्तीफा का फैसला स्वभाविक : लालू

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की सुप्रीमो मायावती के राज्यसभा से इस्तीफा को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने सही और स्वभाविक बताया.

लालू ने किया माया का समर्थन-

  • राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने कहा कि भाजपा दलित विरोधी पार्टी है, राजद मायावती के साथ है।
  • लालू ने मायावती के राज्यसभा से इस्तीफा को स्वभाविक और सही कहा
  • मायावती का समर्थन में उतरे लालू यादव ने कहा कि मायावती चाहेंगी तो हम बिहार से उन्हें दोबारा राज्यसभा भेजेंगे।
  • बीजेपी पर निशाना साधते हुए लालू ने कहा कि भाजपा अहंकार में डूबी है, दलितों की आवाज दबाई जा रही है।

18 जुलाई को दिया इस्तीफ़ा-

  • बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो और राज्यसभा सांसद मायावती ने मंगलवार 18 जुलाई को अपने सांसद पद से इस्तीफ़ा दे दिया
  • बसपा नेता का आरोप है कि मानसून सत्र की राज्यसभा सदन की कार्यवाही में उन्हें बोलने नहीं दिया गया
  • उन्हें बोलने नहीं दिए जाने की बात कहकर सदन से वॉक आउट किया था।
  • संसद की कार्यवाही खत्म होते ही बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपना इस्तीफ़ा सौंप दिया।
  • राज्यसभा अध्यक्ष और उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने उनका इस्तीफ़ा स्वीकार कर लिया।

मायावती ने बताया इस्तीफ़ा देने का कारण-

  • सभापति को लिखित में इस्तीफे की चिट्ठी दी।
  • सदन में मुझे बोलने नहीं दिया गया।
  • शोर शराबे के बीच बात रखने की कोशिश की।
  • बीजेपी की मानसिकता जातिवादी।
  • सभापति ने घंटी बजाकर मुझे ही चुप करा दिया।
  • शोर रोकने के बजाए मुझे ही चुप करा दिया।
  • मुझे अपनी बात कहने से रोका गया।
  • सहारनपुर कांड पर मुझे बोलने नहीं दिया गया।
  • दलित समाज पर उत्पीड़न की बात नहीं कहने दी।
  • मुझे दुख के साथ इस्तीफा देने का फैसला लेना पड़ा।
  • दलितों के हित के लिए पूरी जिंदगी समर्पित की है।

यह भी पढ़ें: दलितों के हित के लिए पूरी जिंदगी समर्पित की- मायावती

यह भी पढ़ें: बौखलाई मायावती ने राज्यसभा से दिया इस्तीफ़ा!

 

BSP Supremo Mayawati resigned from Rajya Sabha!

Bahujan Samaj Party supremo and RAjya Sabha MLA Mayawati  on Tuesday ,July 18 ,resigned from her MLA post. She had earlier walked out from the house saying that she was not being allowed to speak. In addition to which she had handed over her resignation.

also read: Mayawati threatens to resign from Rajya Sabha.

Resignation handed to Rajya sabha Chairman Hamid Ansari

  • BSP supremo Mayawati has resigned from her MLA post.
  • Mayawati has accused the government for not letting her speak during the session.
  • In Addition to which, Mayawati resigned from MLA post as soon as the session on Tuesday ended.
  • Rajya Sabha Chairman and Vice president Hamid Ansari accepted her Resignation.
  • Also read:Parliamentary monsoon session adjourned till Wednesday

Mayawati threatens to resign from Rajya Sabha.

Opposition party surrounded central government in the parliamentary monsoon session on Tuesday. In addition to which ,BSP Supreme Mayawati has raised issues of Saharanpur violence. In conclusion she said that she was not allowed to raise her voice in the House.

Mayawati targeted BJP:

  • Harassment of Dalits and poor people is increasing in BJP rule.
  • She raised Saharanpur case in Rajya Sabha.
  • The case was thoughtful conspiracy.
  • In addition to, a Dalit was framed in Saharanpur.
  • Furthurmore, Dalits were not allowed for procession.
  • She also aimed Yogi government .
  • Despotism of Dalits in UP.
  • Congress has also done workout from Rajya Sabha.
  • Congress has also aimed BJP government.

If I am not permitted to speak then I will give resignation:

  • She said, I will give resignation from Rajya Sabha.
  • Central government has just observed the consumed houses and helped Dalits.
  • Furthurmore, not done any proceedings.
  • There is mobster rule in UP.
  • In addition, any community is not safe in UP.
  • BJP has won elections through EVM.
  • Existing party is not allowed to speak in the house.
  • I have no fears in fighting elections.
  • Gulam Nabi Azad targeted BJP.
  • BJP is obstructing the proceedings of houses.
  • Opposition wants to discuss in the house.
  • Also concluded that BJP doesn’t wants to discuss.

मायावती को मिला उदयवीर का साथ!

संसद के मानसून सत्र (monsoon session) में विपक्ष ने केंद्र सरकार को घेरा है. बसपा सुप्रीमो मायावती ने सहारनपुर हिंसा का मामला उठाया. उन्होंने कहा कि सदन में उनकी आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है. उन्हें बोलने नही दिया जा रहा है. मायावती के बयान के बाद सपा एमएलसी उदयवीर सिंह ने उनका समर्थन किया. साथ ही उन्होंने बीजेपी सरकार पर हमला भी बोला.

राज्यसभा पीठ को देना होगा ध्यान:

  • उदयवीर सिंह ने मायावती के बयान का समर्थन किया है.
  • उन्होंने कहा कि मायावती ने जो मुद्दे उठाये थे, उन्हें भी सुना जाना चाहिए.
  • सरकार विपक्ष की आवाज को दबाने का काम न करे.
  • विपक्ष का सम्मान किया जाना चाहिए.
  • उन्होंने कहा कि राज्यसभा पीठ को इसपर ध्यान देना चाहिए.
  • ये बहुत ही गंभीर मामला है.

मायावती ने बीजेपी पर बोला हमला:

  • बीजेपी सरकार में दलितों, गरीबों का उत्पीड़न बढ़ा है.
  • माया ने सहारनपुर का मुद्दा राज्यसभा में उठाया.
  • सहारनपुर की घटना सोची समझी साजिश का नतीजा थी.
  • सहारनपुर में एक दलित को फंसाया गया है.
  • दलितों को जुलूस निकालने की अनुमति नहीं दी गई.
  • मायावती ने योगी सरकार पर हमला बोला.
  • यूपी में दलितों पर अत्याचार हो रहा है.
  • कांग्रेस ने भी राज्यसभा से वॉकआउट किया है.
  • कांग्रेस ने भी बीजेपी सरकार पर हमला बोला.

नहीं बोलने दिया गया तो दूंगी इस्तीफा:

  • उन्होंने कहा कि मैं राज्यसभा से इस्तीफा दूंगी.
  • दलितों के जले हुए घर देखे और उन्हें मदद की.
  • केंद्र ने दोषियों पर कार्रवाई नहीं की है.
  • अपने लोगों की मदद करने से रोका जा रहा है.
  • यूपी में महागुंडा राज चल रहा है.
  • यूपी में कोई भी समाज सुरक्षित नहीं है.
  • BJP ने ईवीएम की मदद से चुनाव जीता है.
  • सदन में सत्ता पक्ष के लोगों ने बोलने नहीं दिया जा रहा है.
  • मैं चुनाव लड़ने से डरती नहीं हूं.
  • गुलाम नबी आजाद ने कहा कि बीजेपी सदन की कार्रवाही में बाधा डाल रही है.
  • गुलाम नबी आजाद ने बीजेपी पर साधा निशाना है.
  • सदन में विपक्ष चर्चा करना चाहता है.
  • उन्होंने कहा कि बीजेपी सदन में चर्चा से भाग रही है.

 मायावती ने इस्तीफा देने की दी धमकी!

मायावती ने इस्तीफा देने की दी धमकी!

संसद के मानसून सत्र (monsoon session) में विपक्ष ने केंद्र सरकार को घेरा है. बसपा सुप्रीमो मायावती ने सहारनपुर हिंसा का मामला उठाया. उन्होंने कहा कि सदन में उनकी आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है. उन्हें बोलने नही दिया जा रहा है.

मायावती ने बीजेपी पर बोला हमला:

  • बीजेपी सरकार में दलितों, गरीबों का उत्पीड़न बढ़ा है.
  • माया ने सहारनपुर का मुद्दा राज्यसभा में उठाया.
  • सहारनपुर की घटना सोची समझी साजिश का नतीजा थी.
  • सहारनपुर में एक दलित को फंसाया गया है.
  • दलितों को जुलूस निकालने की अनुमति नहीं दी गई.
  • मायावती ने योगी सरकार पर हमला बोला.
  • यूपी में दलितों पर अत्याचार हो रहा है.
  • कांग्रेस ने भी राज्यसभा से वॉकआउट किया है.
  • कांग्रेस ने भी बीजेपी सरकार पर हमला बोला.

नहीं बोलने दिया गया तो दूंगी इस्तीफा:

  • उन्होंने कहा कि मैं राज्यसभा से इस्तीफा दूंगी.
  • दलितों के जले हुए घर देखे और उन्हें मदद की.
  • केंद्र ने दोषियों पर कार्रवाई नहीं की है.
  • अपने लोगों की मदद करने से रोका जा रहा है.
  • यूपी में महागुंडा राज चल रहा है.
  • यूपी में कोई भी समाज सुरक्षित नहीं है.
  • BJP ने ईवीएम की मदद से चुनाव जीता है.
  • सदन में सत्ता पक्ष के लोगों ने बोलने नहीं दिया जा रहा है.
  • मैं चुनाव लड़ने से डरती नहीं हूं.
  • गुलाम नबी आजाद ने कहा कि बीजेपी सदन की कार्रवाही में बाधा डाल रही है.
  • गुलाम नबी आजाद ने बीजेपी पर साधा निशाना है.
  • सदन में विपक्ष चर्चा करना चाहता है.
  • उन्होंने कहा कि बीजेपी सदन में चर्चा से भाग रही है.