वीडियो: लखनऊ जेल में डीएम-एसएसपी ने मारा छापा!

1

राजधानी के गोसाईगंज थाना क्षेत्र में स्थित जिला कारागार (Lucknow jail) में उस समय हड़कंप मच गया जब जिलाधिकारी कौशल राज और एसएसपी दीपक कुमार ने औचक निरीक्षण किया। अधिकारियों के जेल पहुंचते ही जेल अधिकारियों के हाथपांव फूल गए।

वीडियो: उन्नाव में पंप से पेट्रोल की जगह निकला पानी!

  • तलाशी के दौरान कैदियों की बैरकों में कई तरह की आपत्तिजनक चीजें मिलीं।
  • साथ ही मोबाईल फोन और चार्जर देख एसएसपी भड़क गए।
  • उन्होंने जेल अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाई है।

वीडियो: जेल में अचानक छापेमारी से मचा हड़कंप, मोबाईल बरामद!

जेल प्रशासन की लापरवाही की खुली पोल

  • सुरक्षा लिहाज और शिकायतों के चलते डीएम कौशल राज व एसपी दीपक कुमार ने लखनऊ का औचक निरीक्षण किया।
  • अधिकारियों ने करागार में अपने लाउलस्कर के साथ अचानक छापामारी की।
  • अचानक हुई छापेमारी ने जेल प्रशासन की लापरवाही की पोल खोलकर रख दी।
  • तकरीबन दो घंटे तक अफसरों ने सघन चेकिंग अभियान जेल के भीतर चलाया।
  • इस दौरान विभिन्न बैरकों की तलाशी ली गयी।

ईडी नए सिरे से करेगा NRHM में हुई जांचों की जांच!

  • सूत्रों के अनुसार अफसरों को जमीन में दबे हुये और खूंटी पर टंगे सामान से मोबाइल, चार्जर और ईयर फोन भी बरामद हुये।
  • इसके साथ ही साथ पुलिस को एक कागज पर लिखे कुछ मोबाइल नंबर भी मिले हैं।
  • जिन्हें पुलिस ने जप्त कर लिया हालांकि जेल में मोबाइल मिलना जेल प्रशासन की मिली भगत की तरफ इशारा करता है।
  • अधिकारियों ने जेल प्रशासन से पूछा है कि यह मोबाईल, गांजा, चरस, बीड़ी, सिगरेट और पानमसाला जेल के अंदर कैसे पहुंचे?

सहारनपुर में मुर्गे ने की चोंच मारकर मासूम की हत्या!

क्या कहते हैं जिम्मेदार

  • इस संबंध में जिलाधिकारी कौशल राज ने बताया कि जेल में लगभग सभी बैरकों को चेक किया गया है।
  • इसमें हॉस्पिटल, मेस और साफ-सफाई की भी व्यवस्था जांची गई है।
  • तलाशी के दौरान हाई सिक्योरिटी बैरकों को भी चेक किया गया है।
  • इसके साथ ही बाकी व्यवस्थाएं जेल की कैसी हैं यह भी चेकिंग की गई है।
  • डीएम ने बताया कि जेल में जैमर, सीसीटीवी भी चेक किये गए हैं।

तेल चोरी के बाद 29 पंप संचालकों पर FIR, 8 से वसूला गया जुर्माना!

  • उन्होंने बताया कि सीसीटीवी की स्टोरेज बढ़ाकर तीन माह तक की जायेगी।
  • ताकि डेटा को सुरक्षित किया जा सके।
  • वहीं एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि संदिग्ध मिली वस्तुओं के विषय में जांच की जा रही है।
  • यह भी जांच का विषय है कि जेल गेट से लेकर अंदर तक कई जगह चेकिंग होने के बाद आखिर मोबाइल जेल तक कैसे पंहुचे? इसकी भी जांच की जायेगी।

यूपी में आईएएस अधिकारियों के स्थान्तरण पर रोक!

  • जेलकर्मियों की मिलीभगत से भी इंकार नहीं किया जा सकता।
  • उन्होंने बताया की यदि जेलकर्मी दोषी हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।
  • उन्होंने कहा कि जेल में उन बैरकों को भी चेक किया गया है जिनमें नए कैदी आये हैं।
  • जिलाधिकारी और एसएसपी ने सख्त हिदायत दी है कि जेलकर्मियों की लापरवाही वर्दास्त नहीं की जायेगी।
  • हालांकि जब दोनों अधिकारी वहां से रवाना हुए तो जेलकर्मियों ने राहत की सांस ली।

वीडियो: सो रहे परिवार के ऊपर छत गिरी, छह लोग दबे!

1

आज डीएम जारी करेंगे पंचायतों के उपचुनाव की अधिसूचना!

आज जिलाधिकारी प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य के 4010, बीडीसी के 253 और जिला पंचायत के पदों (Panchayats bye elections) के लिए डीएम बुधवार को अधिसूचना जारी करेंगे। मतदान एक जुलाई और मतगणना तीन जुलाई को होगी। बता दें कि राज्य निर्वाचन आयोग ने प्रधान, बीडीसी, ग्राम व जिला पंचायत सदस्य के रिक्त पदों पर उपचुनाव का एलान कर दिया है।

ये भी पढ़ें- 24 घंटे में 3 हत्या: कार में मिली किशोरी की लाश, रेप की आशंका!

20 जून से शुरू होगी उपचुनाव की नामांकन प्रक्रिया

  • राज्य निर्वाचन आयुक्त सतीश अग्रवाल ने बताया कि उपचुनाव की नामांकन प्रक्रिया 20 जून से शुरू होगी।
  • उन्होंने बताया कि निर्वाचन अधिकारियों को चुनाव क्षेत्र में आदर्श आचार संहिता का पालन कराने और सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त करने के निर्देश दिए गए हैं।
  • मतदान केंद्रों पर पानी, बिजली की समुचित व्यवस्था करने की हिदायत दी गई है।
  • आयोग के प्रवक्ता ने बताया कि कुछ प्रधानों को कतिपय इल्जामों में पदमुक्त किया गया है।
  • उन्होंने बताया कि कुछ पद जनप्रतिनिधियों के निधन से रिक्त हुए हैं।
  • ग्राम पंचायत सदस्यों के पद लंबे समय से रिक्त चल रहे हैं।

ये भी पढ़ें- अब केजीएमयू में कैंटीन संचालक ने युवती से किया रेप!

  • उन्होंने कहा कि 20 जून को सुबह दस से शाम चार बजे तक नामांकन कर सकेंगे।
  • 22 जून को नामांकन पत्रों की जांच होंगी।
  • 24 जून की शाम तीन बजे तक नाम वापस लिए जा सकेंगे।
  • उसी दिन प्रत्याशियों को चुनाव चिह्न् आवंटित किए जाएंगे।
  • मतदान एक जुलाई को सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक होगा।

ये भी पढ़ें- KGMU गैंगरेप: ‘आप’ ने फूंका कुलपति का पुतला!

  • चुनाव की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।
  • मतदान केंद्रों पर आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराने के लिए जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्देशित किया गया है।
  • चुनाव के दौरान शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए संवेदनशील बूथों को चिह्न्ति कर आवश्यक कार्रवाई करने के पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं।
  • बता दें कि 215 प्रधान, 4010 ग्राम पंचायत सदस्य, 253 बीडीसी सदस्य,18 जिला पंचायत सदस्य के लिए यह उप चुनाव होना है।

ये भी पढ़ें- केजीएमयू के शताब्दी अस्पताल में लिफ्टमैन ने महिला से किया गैंगरेप!

इनकम टैक्स ने यूपी में कई IAS, PCS के घरों पर मारे छापे.

इनकम टैक्स इंडिया ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में दो आईएएस अफसरों के घर पर छापा मारा है. आईएएस विमल शर्मा के भोंगाव स्थित घर पर आज इनकम टैक्स ने छापा मारा. वहीँ गाजियाबाद स्थित आईएएस सत्येन्द्र सिंह के घर पर भी इनकम टैक्स ने छापा मारा है.

विमल शर्मा की पत्नी मेरठ में एआरटीओ के पद पर हैं. भोगांव कस्बे में है आईएएस विमल शर्मा का घर है जहाँ आज इनकम टैक्स ने छापा मारा है.

LDA VC सत्येन्द्र सिंह पर लैंड यूज बदलने को लेकर होगी जाँच!

कई आईएएस-पीसीएस के घरों पर छापे:

  • आय से अधिक संपत्ति के मामले में इनकम टैक्स ने छापेमारी की है.
  • आईएएस सत्येन्द्र सिंह के गाजियाबाद स्थित घर पर छापा मारा है.
  • इसके अतिरिक्त 5 PCS अफसरों के घर पर भी इनकम टैक्स ने छापा मारा है.
  • यूपी के कई प्रशासनिक अधिकारियों के घर आज इनकम टैक्स ने छापा मारा है.
  • नोएडा अथॉरिटी के अफसरों के घर पर इनकम टैक्स ने की छापेमारी है.
  • ह्रदय शंकर तिवारी के घर पर इनकम टैक्स ने छापा मारा.
  • यूपी में करीब 50 ठिकानों पर इनकम टैक्स ने छापा मारा है.
  • मेरठ में आरटीओ ममता शर्मा के घर पर इनकम टैक्स ने छापा मारा है.

LDA घोटाले की फाइलें गायब होने का सिलसिला हुआ शुरू!

खबर का असर: DM ने दिए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश!

गोरखपुर में खुलेआम बिक रहे अवैध बालू का खुलासा uttarpradesh.org ने मंगलवार को किया था। जिसके बाद गोरखपुर की डीएम संध्या तिवारी खबर का संज्ञान लिया है। डीएम ने एसडीएम और सीओ को मामले की जांच कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

 ये भी पढ़ें: Exclusive: SP City सजवाते हैं अवैध बालू की मंडियां!

 वीडियो में देखें क्या कहना है DM गोरखपुर संध्या तिवारी का

ये भी पढ़ें: योगी ‘सरकार’ में भी नहीं थमा सफेद रेत का ‘काला कारोबार’ !

दरअसल, uttarpradesh.org ने मंगलवार को खुलासा किया था कि सीएम सिटी गोरखपुर में अवैध बालू बिक रहा है। जिसके बाद डीएम मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने बताया कि अधिकारी समय-समय पर अभियान चलाकर अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई करते रहे हैं। कई बार खनन माफियाओं को जेल भी भेजा जा चुका है।

कार्यक्रम में देर से पहुंचने वाले लेखपाल पर गिरी प्रशासन की गाज, किया निलंबित!

1

प्रधानमंत्री की ‘स्वच्छ भारत अभियान’ योजना का असर उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद सीएम की कुर्सी जैसे ही आदियत्यनाथ योगी ने संभाली वैसे ही दिखने लगा है। इसकी बानगी बुलंदशहर में देखने को मिली। यहां सीएम योगी के निर्देश के बाद चलाये जा रहे स्वच्छता अभियान कार्यक्रम में लेट पहुंचने वाले लेखपाल को निलंबित कर दिया गया।

डीएम ने पहले किया नमस्कार फिर लगाई थी क्लास

  • दरअसल मामला पिछली 30 मार्च 2017 का है। यहां कमालपुर गांव में स्वच्छता अभियान का कार्यक्रम आयोजित किया गया।
  • जिलाधिकारी बुलंदशहर आन्जनेय कुमार सहित सभी अधिकारी और कर्मचारी कार्यक्रम स्थल पर मौके पर पहुंच गए।
  • लेकिन लेखपाल विपिन यादव लेट पहुंचे।
  • लेखपाल के देर से आने के बाद जिलाधिकारी आग बबूला हो गए और उन्होंने पहले तो लेखपाल को हाथ जोड़कर नमस्कार किया।
  • लेकिन सबके सामने ही जिलाधिकारी ने लेखपाल को बेइज्जत भी कर दिया।
  • इस दौरान डीएम ने क्लास लगाते हुए कहा कि तुम्हारी सबसे काम कराते कराते आदत बिगड़ गई है,तुम्हे कोई फर्क नहीं पड़ता।
  • इसके बाद जिलाधिकारी ने खुद झाड़ू लगाई और लेखपाल के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए।
  • प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए लेखपाल को निलंबित कर दिया है।
  • मुख्यमंत्री का कार्यभार ग्रहण करने के बाद उन्होंने अपना आक्रामक रुख नौकरशाहों को दिखाया तो प्रदेश ने बदलाव की लहर आ गई।
1

जेल में अचानक छापेमारी से मचा हड़कंप, काफी सामान बरामद!

यूपी चुनाव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था के चलते लखनऊ के जिलाधिकारी जयशंकर प्रियदर्शी व एसपी मंजिल सैनी ने गोसाईगंज स्थित जिला कारागार का औचक निरीक्षण किया।

  • छापेमारी के दौरान कैदियों के पास तीन मोबाइल, चार्जर, के अलावा मुख्तार अंसारी की बैरक से लाइटर मिला।
  • वहीं अकील की बैरक में भी काफी सामान बरामद हुआ।
  • दो एसपी, 5 सीओ और 10 थानेदारों की अचानक छापेमारी से जेल प्रशासन के हाथ पैर फूल गये।
  • जिलाधिकारी ने जेल प्रशासन को सख्त दिशा निर्देश जारी किये हैं।

सघन तलाशी के बाद भी जेल में कैसे पहुंचा सामान?

  • लखनऊ जेल में निष्पक्ष चुनाव कराने को लेकर अधिकारियों ने करागार में अपने लाउलस्कर के साथ अचानक छापामारी की।
  • अचानक हुई छापेमारी ने जेल प्रशासन की लापरवाही की पोल खोलकर रख दी।
  • तकरीबन दो घंटे तक अफसरों ने सघन चेकिंग अभियान जेल के भीतर चलाया।
  • इस दौरान विभिन्य बैरकों की तलाशी ली गयी।
  • अफसरों को जमीन में दबे हुये और पेड़ पर टंगे हुये तीन मोबाइल बरामद हुये।
  • इसके साथ ही साथ पांच चार्जर, ईयर फोन और खूंखार अपराधियों की बैराग से लाइटर समेत कई सामान बरामद हुए।
  • पुलिस ने इस सामान को जप्त कर लिया, आचार संहिता के दौरान जेल में मोबाइल और लाइटर मिलना जेल प्रशासन की मिली भगत की तरफ इशारा करता है।
  • अधिकारियों ने जेल प्रशासन से पूछा है कि यह सामान जेल के अंदर कैसे पहुंचा?

क्या कहते हैं जिम्मेदार

  • इस संबंध में जिलाधिकारी ने बताया कि पकड़े गये सामान के सम्बंध में जांच की जा रही है।
  • यह भी जांच का विषय है कि जेल गेट से लेकर अंदर तक कई जगह चेकिंग होने के बाद आखिर यह सामान जेल तक कैसे पंहुचे?
  • इसकी भी जांच की जायेगी, जेलकर्मियों की मिलीभगत से भी इंकार नही किया जा सकता।
  • उन्होंने बताया की यदि जेलकर्मी दोषी हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।

वीडियो: जेल में अचानक छापेमारी से मचा हड़कंप, मोबाईल बरामद!

यूपी चुनाव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था के चलते डीएम प्रकाश बिन्दु व एसपी सुभाष चन्द्र बघेल ने सेन्ट्रल जेल फतेहगढ़ का औचक निरीक्षण किया।

  • छापेमारी के दौरान कैदियों के पास तीन मोबाइल, चार्जर, ईयरफोन बरामद होने से हड़कम्प मच गया।
  • जेल प्रशासन के हाथ पैर फूल गये।
  • जिलाधिकारी ने जेल प्रशासन को सख्त दिशा निर्देश जारी किये हैं।

अगले पेज पर देखिये वीडियो:

सघन तलाशी के बाद भी जेल में कैसे पहुंचे मोबाईल?

  • फर्रुखाबाद में जिला प्रशासन सोती नींद से जागा है।
  • निष्पक्ष चुनाव कराने को लेकर अधिकारियों ने केन्द्रीय करागार में अपने लाउलस्कर के साथ अचानक छापामारी की।
  • अचानक हुई छापेमारी ने जेल प्रशासन की लापरवाही की पोल खोलकर रख दी।
  • तकरीबन दो घंटे तक अफसरों ने सघन चेकिंग अभियान जेल के भीतर चलाया।
  • इस दौरान विभिन्य बैरकों की तलाशी ली गयी।
  • अफसरों को जमीन में दबे हुये और पेड़ पर टंगे हुये तीन मोबाइल बरामद हुये।
  • इसके साथ ही साथ पांच चार्जर और दो ईयर फोन भी बरामद हुये।
  • इसके साथ ही साथ पुलिस को एक डायरी भी मिली है जिस पर कुछ मोबाइल नंबर लिखे हैं।
  • जिन्हें पुलिस ने जप्त कर लिया, आचार संहिता के दौरान जेल में मोबाइल मिलना जेल प्रशासन की मिली भगत की तरफ इशारा करता है।
  • अधिकारियों ने जेल प्रशासन से पूछा है कि यह मोबाईल जेल के अंदर कैसे पहुंचे?

क्या कहते हैं जिम्मेदार

  • इस संबंध में जिलाधिकारी प्रकाश बिंदु ने बताया कि पकड़े गये मोबाइलों के सम्बंध में जांच की जा रही है।
  • यह भी जांच का विषय है कि जेल गेट से लेकर अंदर तक कई जगह चेकिंग होने के बाद आखिर मोबाइल जेल तक कैसे पंहुचे? इसकी भी जांच की जायेगी।
  • जेलकर्मियों की मिलीभगत से भी इंकार नही किया जा सकता।
  • उन्होंने बताया की यदि जेलकर्मी दोषी हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।
  • वहीं एसपी सुभाष सिंह बघेल ने बताया कि सर्विलांस के सहारे जेल में मोबाइल के सबूत खंगाले जायेंगे और कार्रवाई की जायेगी।

गाजीपुर जेल में कैदियों ने सिपाही को बनाया बंधक, हवाई फायरिंग!

यूपी के गाजीपुर जिला कारागार में बंद कैदियों ने एक सिपाही को बंधक बना कर जमकर पिटाई कर दी। बताया जा रहा है कि शुक्रवार को जिला कारागार में छापेमारी हुई थी।

  • इस दौरान एक कैदी के पास से एक मोबाईल बरामद हुआ था। इस बात से कैदी आक्रोशित थे।
  • शनिवार सुबह कैदियों ने एक सिपाही को बंधक बना लिया।
  • इसकी सूचना मिलते ही जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया।
  • सूचना मिलते कप्तान और जिलाधिकारी भारी मात्रा में पुलिस बल के साथ जेल पहुंचे।
  • सिपाही को छुड़ाने के लिए सुरक्षा बलों ने हवाई फायरिंग भी की।
  • फिलहाल जेल में तनाव बना हुआ है।
  • आला अधिकारी मौके पर मामले की पड़ताल कर रहे हैं। कैदियों ने ख़राब खाने का भी आरोप लगाया है।

हसनगंज में तनावपूर्ण शांति, पुलिस फोर्स तैनात!

राजधानी के हसनगंज थाना क्षेत्र के खदरा इलाके में मंदिर परिसर एक मवेशी के घुसने के बाद दो समुदाय के लोग रविवार की रात आमने-सामने आ गए। दोनों समुदायों की ओर से पथराव और फायरिंग हुई। इस दौरान नारेबाजी भी की गई। बवाल की सूचना पर डीएम, डीआईजी, एसएसपी सहित कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंची। इलाके में शांति व्यवस्था के मद्देनजर फोर्स तैनात की गई। बवाल से इलाके में दहशत और तनाव का माहौल बरकरार है। फिलहाल क्षेत्र में तनावपूर्ण शांति है और भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है।

यह था मामला

  • जानकारी अनुसार हसनगंज थाना क्षेत्र स्थित मसालची टोला में बने मंदिर परिसर में रविवार को खिचड़ी भोज का आयोजन किया गया था।
  • भोज में सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद थे। इसी बीच दूसरे समुदाय का एक मवेशी मंदिर परिसर में घुस गया।
  • मवेशी का मालिक जब उसे लेने वहां पहुंचा तो कहासुनी हो गई।
  • कुछ लोगों ने मवेशी को भोजन खाने के दौरान पीट दिया।
  • इस बात की जानकारी संबंधित व्यक्ति ने अपने समुदाय के लोगों को जाकर बताई।
  • इसके बाद दूसरे समुदाय के लोग काफी संख्या में मंदिर के पास पहुंचे।
  • दोनों समुदाय के लोगों में कहासुनी हुई और देखते-देखते नारेबाजी होने लगी।
  • इस दौरान पथराव और फायरिंग की गई थी। जिससे वहां भगदड़ मच गयी थी।
  • बवाल की सूचना पर डीएम, डीआईजी, एसएसपी सहित कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंची।
  • इलाके में शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए मौके पर 25 कंपनी पीएसी तैनात कर दी गई है।
  • फिलहाल वहां तनाव बरकरार है फोर्स तैनात है।