सादगी पसंद महेंद्रनाथ भाजपा को दिलाएंगे नए कीर्तिमान : मनीष शुक्‍ला

लखनऊ. भाजपा के शीर्ष नेतृत्‍व ने गुरुवार को प्रदेश भाजपा की कमान चंदौली के लोकसभा सांसद महेंद्रनाथ पांडेय को सौंप दी है. सादगी प्रिय रहन-सहन वाले विचार सांसद महेंद्र नाथ के नए प्रदेश अध्‍यक्ष नियुक्‍त होने पर शुभकामनाओं की बारिश होने लगी.

शुभकामनाओं की बारिश

  • इस बीच प्रदेश भाजपा प्रवक्‍ता मनीष शुक्‍ला ने नवनियुक्‍त प्रदेश भाजपा अध्‍यक्ष को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि वे सादगी प्रिय नेता हैं.
  • उन्‍होंने कहा कि यह काफी खुशी का क्षण है कि महेंद्रजी को प्रदेश भाजपा की कमान सौंपी गई है.
  • उन्‍होंने uttarpradesh.org के एक सवाल के जवाब में कहा, ‘मुझे पूरी उम्‍मीद है कि महेंद्रजी की अगुवाई में भाजपा आगामी चुनावों में कई रिकॉर्ड बनाते हुए सफलता अर्जित करेगी.’
  • उन्‍होंने कहा कि महेंद्रजी को प्रदेश भाजपा की कमान सौंपने का फैसला सराहनीय है और कार्यकर्ताओं में भी खुशी की लहर छाई हुई है.
  • बता दें कि uttarpradesh.org ने पहले ही बता दिया था कि चंदौली के सांसद महेंद्रनाथ पांडेय के नाम पर भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष की मुहर लग सकती है.
  • वहीं, गुरुवार की शाम होते ही भाजपा के शीर्ष नेतृत्‍व ने हमारी खबर पर मुहर लगाते हुए महेंद्रनाथ को प्रदेश भाजपा अध्‍यक्ष की कमान भी सौंप दी.

महेंद्रनाथ पाण्डेय प्रदेश अध्यक्ष

  • भाजपा ने भी केशव प्रसाद मौर्या का विकल्प तलाश लिया है.
  • महेंद्र नाथ पाण्डेय को भाजपा ने यूपी का प्रदेश अध्यक्ष बना दिया है.
  • वर्ष 2014 चुनावों की जीत को भाजपा फिर से 2019 में दोहराना चाहती है.
  • प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पद के लिए 2 नाम काफी चर्चा में थे.

चंदौली से सांसद हैं महेंद्रनाथ पाण्डेय

  • डॉ. महेंद्र नाथ पाण्डेय कल्याण सिंह तथा राम प्रकाश गुप्ता के कार्यकाल में मंत्री भी रह चुके हैं.
  • महेंद्र नाथ पाण्डेय चंदौली से सांसद हैं.
  • महेंद्र नाथ पाण्डेय संघ के करीब भी हैं.
  • इमरजेंसी के दिनों में महेंद्र नाथ पाण्डेय 5 माह के लिए जेल भी जा चुके हैं.
  • केंद्र सरकार में मानव संसाधन राज्यमंत्री महेंद्र नाथ पाण्डेय को यूपी भाजपा की कमान सौंपी गई है.

जब महेंद्र नाथ पाण्डेय रासुका में हुए थे निरुद्ध

BJP प्रदेश अध्यक्ष के बेटे ने लड़की का किया ‘पीछा’!

11

एक तरफ जहाँ भारतीय जनता पार्टी की सरकार ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ की योजना की बात करती है, वहीँ दूसरी तरफ ये सरकार देश की बेटीयों की सुरक्षा में नकाम साबित होती नजर आ रही है और ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ की ये योजना बस प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के भाषणों तक ही सीमित रह गई है. बता दें कि अभी हाल में ही हरियाणा के भाजपा प्रदेशाध्यक्ष (bjp leader son) के बेटे द्वारा आईएएस की बेटी से छेड़खानी का मामला सामने आया है, वहीँ छेड़खानी का शिकार हुई पीड़िता ने अपनी आप बीती सोशल मीडिया पर शेयर की है…

अगले पेज पर पढ़े ये पूरी खबर…

BJP प्रदेशाध्यक्ष के बेटे ने की ये हरकत (bjp leader son):

  • बता दें कि हरियाणा के भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे (bjp leader son) विकास बराला पर छेड़खानी का आरोप है.

4

  • वहीँ विकास बराला द्वारा आईएएस की बेटी से छेड़खानी का मामला अब सोशल मीडिया में वॉयरल हो गया है.
  • जी हां इस घटना के बाद पीड़ित लड़की ने अपनी आपबीती फेसबुक पर लिखकर शेयर किया है.

1

पीड़िता ने लिखा, “यह कहना ठीक होगा कि संकट की घड़ी में कॉल करने पर एक मिनट में पुलिस ने मुस्तैदी दिखाई और मुझे संकट से बाहर निकाला. इस हादसे से सिस्टम पर मेरा दोबारा विश्वास कायम हुआ है। थैंक्स चंडीगढ़ पुलिस. 

2

क्या कहा पीड़िता ने:

  • पीड़िता ने कहा, मैं अपने सेक्टर-8 मार्केट से अपने घर की ओर करीब रात 12.15 बजे कार ड्राइव कर जा रही थी.
  • वहीँ जब मैं रोड क्रॉस करने के बाद सेक्टर-7 के पेट्रोल पंप के पास पहुंची थी.
  • तब मैं फोनपर अपने फ्रेंड से बात भी कर रही थी.
  • लेकिन तभी एक मिनट के बाद मुझे एहसास हुआ कि मेरी कार का कोई दूसरी कार पीछा कर रही है.
  • पीछा करने वाली कार सफ़ेद रंग की एसयूवी थी.
  • मैंने नोटिस किया कि यह कार मेरी कार के साथ-साथ मुझे चेज कर रही थी.
  • पीडिता ने कहा कि उस अज्ञात कार में दो लोग सवार थे.
  • मुझे ऐसा लग रहा था कि आधी रात को एक लड़की को तंग करके वह एन्जॉय कर रहे थे या फिर वो मेरी गाड़ी को हिट करना चाह रहे हों.
  • पीड़िता ने कहा मैं उस वक्त काफी डर गई थी, लेकिन अलर्ट भी हो चुकी थी.
  • इसलिए सेंट जोंस स्कूल के साथ लगते ट्रैफिक सिग्नल्स से गाड़ी सीधे मध्य मार्ग की तरफ मोड दी.

जब डर से बुरी तरह कांपने लगी पीड़िता:

  • पीडिता ने कहा, जब बार-बार हॉर्न बजाकर मैं गाड़ी निकाल रही थी.
  • तो शायद कुछ लोगों को कुछ गड़बड़ होने के बारे में पता लग गया था.
  • कहा कि इस जगह एक युवक मेरी कार के पास चिल्लाता हुआ आया.
  • जैसे ही वह गाड़ी का डोर खोलने की कोशिश करने लगा, मुझे पीसीआर दिखाई दी.
  • उन्होंने मुझे गाड़ी का हार्न बजाते देखा.
  • वहीँ कुछ पुलिस के जवान पीसीआर से उतर कर एसयूवी कार की तरफ भागे.
  • युवक वहां से भाग नहीं सकते थे, क्योंकि उनकी कार ट्रैफिक में फंस गई थी.
  • मैं डर से बुरी तरह कांप रही थी, और मैं ड्राइव कर सीधे घर पहुंची.
  • जहां मैंने परिजनों को सारी घटना बताई और लड़कों (bjp leader son) के खिलाफ पुलिस में शिकायत करने के लिए उन्हें वापिस लाई.

ये भी पढ़ें, तस्वीरें: प्रियंका की ये ‘हॉट हमशक्ल’ बिग बॉस में आयेंगी नजर!

11

ना-ना, ये एलर्जी नहीं, विरोध का तरीका है!

उत्तर प्रदेश के विधानसभा के मानसून सत्र की कार्यवाही(monsoon session proceedings) बीते 11 जुलाई से शुरू हुई थी, जिसके तहत सत्र के पहले दिन ही योगी सरकार ने अपना पहला बजट भी पेश किया था, इसी क्रम में गुरुवार से योगी सरकार ने अपने विभागों के बजट पेश करने शुरू कर दिए हैं। शुक्रवार 21 जुलाई को विधानसभा में विभागीय बजट पेश किये जाने हैं.

विपक्ष का सांकेतिक धरना:

  • विपक्षी विधायक धरने पर बैठ गए हैं.
  • विधानसभा में कार्रवाही का विरोध करने वाले विधायक मुंह पर पट्टी बांधकर विरोध जता रहे हैं.
  • चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के सामने विपक्षी विधायकों का सांकेतिक धरना शुरू हुआ है.
  • मुंह पर पट्टी बांधकर ये सभी विधायक विरोध कर रहे हैं.

loading ...

विपक्ष के हंगामे ने रोकी कार्रवाही:

  • यूपी सीएम विधान सभा की आज की कार्रवाही में शामिल होने पहुंचे हैं.
  • विपक्षी दलों की गैर मौजूदगी में विधानसभा की कार्रवाही शुरू हुई.
  • विधान परिषद की कार्यवाई शुरू होते ही समाजवादी पार्टी ने हंगामा शुरू कर दिया.
  • विधान परिषद में सरकार विरोधी नारे लगाए जाने लगे.
  • सपा विधायकों ने वेल में धरना दिया.
  • सपा विधायक बजट पर चर्चा का विरोध कर रहे हैं.
  • शोर शराबे के बीच विधान परिषद की कार्यवाही 30 मिनट के लिए स्थगित की गई.
  • कांग्रेस एमएलसी भी विधान परिषद में धरने पर बैठे हैं.
  • सीएम योगी के भाषण के बाद से ही सदन में हंगामा हो रहा है.
  • विपक्ष ने कल भी जमकर हंगामा किया था.

कांग्रेस का बीजेपी पर वार, कहा भाजपा विधायक 15-15 गाय पालें!

गोवा में कांग्रेस नेता प्रताप सिंह राणे ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सभी विधायकों को 15 गायों को अपनाने के लिए कहा, ताकि वे मवेशी किसानों की समस्याओं को समझ सकें।

15-15 गाय पालना चाहिए-

  • राणे ने कहा कि जब गाय बूढ़ी हो जाए तो मैं उनके साथ क्या करूं?
  • यह एक बड़ी समस्या है।
  • हमें प्रगतिशील राज्य के रूप में, इस बारे में सोचना चाहिए।
  • आप सभी को 15-15 गाय पालना चाहिए।
  • सड़कों से गायों को अपने घर ले जाएं और उनकी देखभाल करें।
  • उन्होंने कहा कि डेयरी फार्मिग में पुराने जानवरों के निपटान का संवेदनापूर्ण अर्थशास्त्र है।

कांग्रेस नेता ने किया पर्रिकर के बयान का बचाव-

  • गोवा में कांग्रेस नेता प्रताप सिंह राणे ने मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की गोमांस की पर्याप्त आपूर्ति वाले बयान का बचाव भी किया।
  • गोवा विधानसभा के चल रहे मॉनसून सत्र में बजट से संबंधित चर्चा के दौरान राणे ने कहा कि किसानों को बूढ़ी गायों के निपटान में समस्या हो रही है।
  • राणे ने पर्रिकर की टिप्पणी का भी बचाव किया।
  • उन्होंने कहा था कि यह सुनिश्चित करने के लिए प्रयास किए जाएंगे कि गोवा में गोमांस की कोई कमी नहीं है।
  • जिससे विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) बेहद नाराज हुआ था।

यह भी पढ़ें: संवेदनशीलता से निपटाए गोमांस के मुद्दों को!

यह भी पढ़ें: झारखंड: बीफ के शक में हुई हत्या मामले में BJP नेता गिरफ्तार!

विपक्ष के आगे सदन में सरकार की एक न चली!

हंगामे के कारण विधानसभा (monsoon session) की कार्रवाही आगे नहीं बढ़ सकी. सुबह से ही विपक्ष ने लामबंद होकर सीएम योगी के भाषण को मुद्दा बनाते हुए वाक आउट किया था. लगातार विरोध के कारण सदन की कार्रवाही स्थगित करनी पड़ी.

हंगामे ने रोकी सदन की कार्रवाही:

  • विधान परिषद की कार्रवाही फिर शुरू थी लेकिन हंगामा होता रहा.
  • सपा सदस्यों ने परिषद में हंगामा शुरू कर दिया.
  • वेल में आकर कागज़ के पन्ने उड़ाए.
  • सपा सदस्य विधान परिषद वेल में आकर कर हंगामा करते रहे.
  • हंगामे के चलते विधान परिषद की कार्रवाही स्थगित कर दी गई.
  • कांग्रेस और सपा सदस्यों के हंगामे के चलते विधान परिषद स्थगित हो गई.
  • हंगामे के बाद सदन की कार्रवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गई.

दोनों पक्ष मेरे लिए समान:

  • उन्होंने कहा कि पक्ष और विपक्ष मेरे लिए दोनों आदरणीय है.
  • विपक्ष सदन की कार्रवाही में हिस्सा ले, मुझे विश्वास है विपक्ष सदन में आएगा.
  • नेता विपक्ष का माइक बंद नही किया गया था.
  • आज विपक्षी दलों से निवेदन किया है कि विधायी कार्यों को सदन में पूरा कराएं.
  • नेता प्रतिपक्ष का माइक बन्द नही किया गया था और ऐसी कोई बात नहीं हुई.
  • वहीँ PETN पर उन्होंने कहा कि जब तक मैं पूरी रिपोर्ट ना जान लूं तब तक पदार्थ संदिग्ध ही है.
  • वहीँ सुरेश खन्ना ने भी विपक्ष पर हमला बोला.
  • उन्होंने कहा कि जिस प्रकार की भाषा और उदाहरण नेता विपक्ष ने पेश किए क्या वो संसदीय थे.
  • आज विपक्ष ने अपनी बात तो कही लेकिन हमारा पक्ष सुने बिना ही चले गए.

सीएम ने विपक्ष का अपमान किया- रामगोविंद चौधरी!

सीएम योगी सदन में बजट को लेकर विपक्ष के सवालों का जवाब दिया था. उन्होंने विपक्ष पर हमला भी बोला था. जिसको लेकर आज सदन में हंगामा हुआ. रामगोविंद चौधरी (ramgovind chaudhary) ने सदन में सीएम के भाषण पर कहा कि उनके भाषण से विपक्ष का अपमान हुआ है.

रामगोविंद चौधरी ने बोला बीजेपी पर हमला:

  • राम गोविन्द चौधरी ने कहा कि विपक्ष के सदस्यों को सदन में अपमानित करना अधिकारों का हनन है.
  • विपक्ष ने निर्णय किया है कि हम सदन से बाहर रहेंगे.
  • उन्होंने कहा कि सदन में अपमानित होने नही आएंगे.
  • विपक्ष ने सदन में विस्फोटक का मामला फिर उठाया.
  • विधान परिषद में शोर शराबा हो रहा है.
  • विपक्ष खूब शोर शराबा कर रहा है.
  • विधान परिषद में विपक्ष सदस्य वेल में आकर हंगामा करने लगे.
  • विधान परिषद हंगामे के चलते स्थगित करनी पड़ी.
  • लालाजी वर्मा बसपा नेता का सदन में बयान दिया.
  • उन्होंने कहा कि सरकार को बहुत का अहंकार है.
  • अगर विपक्ष की बात नहीं मानेंगे तो सदन में रहने की कोई वजह नही है.
  • कांग्रेस ने शिक्षकों पर लाठीचार्ज के मुद्दे पर विधान परिषद में हंगामा किया .

कल भी हुआ हंगामा:

  • बुधवार के दिन भी विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ.
  • विस्फोटक के मुद्दे पर जमकर हंगामा हुआ.
  • वहीँ KGMU में लगी आग के कारण भी सरकार को मुश्किलों का सामना करना पड़ा था.
  • KGMU में लगी आग के कारण कई जानें गई थीं.
  • वहीँ प्रारंभिक जाँच में हॉस्पिटल प्रशासन की लापरवाही की सामने आई है.

स्याह तस्वीर पेश कर रहा बाल मजदूरी का ये वीडियो!

1

बच्चों को भगवान का रूप माना जाता है। लेकिन (child labour increase) कारखानों, फैक्ट्रियों, रेलवे स्टेशन, होटलों, ढाबों पर काम करने से लेकर कचरे के ढ़ेर में कुछ ढूंढता मासूम बचपन आज न केवल 21वीं सदी में भारत की आर्थिक वृद्धि का एक स्याह चेहरा पेश करता है। बल्कि आजादी के सदियों बाद भी सभ्य समाज की उस तस्वीर पर सवाल उठाता है।

रेप के आरोपी को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला!

  • जहां हमारे देश के बच्चों को हर सुख सुविधाएं मिल सके पढ़े-लिखे बाबू से लेकर अनपढ़ मजदूर तक, हर कोई चाहता है कि उसका बच्चा पढ़-लिख जाये।
  • समाज का ऐसा वर्ग जो सदियों तक विद्या से वंचित रहा वह सोच रहा है कि शिक्षा मिल गयी।
  • तो न जाने उनके बच्चे कहां पहुंच जायेंगे निश्चित ही हमारे समाज में शिक्षा के प्रति आग्रह बढ़ता जा रहा है।
  • लेकिन वहनीय शिक्षा तो दूर वंचित वर्ग के बच्चे आज मजदूरी करने को विवश हैं।

मोदी सरकार के खिलाफ भाजपा नेता ने खोला मोर्चा!

मासूम बच्चों का जीवन खुशियों से भरा?

  • एक कटु सत्य यह भी है कि मासूम बच्चों का जीवन कहीं तो खुशियों से भरा है।
  • तो कहीं छोटी से छोटी जरूरतों से भी महरूम है।
  • बच्चों के हाथों में कलम और आंखो में भविष्य के सपने होने चाहिए।
  • लेकिन दुनिया में करोड़ों बच्चे ऐसे हैं, जिनकी आंखो में कोई सपना नहीं पलता।
  • बस दो जून की रोटी कमा लेने की चाहत पलती है।
  • एक सभ्य समाज के बच्चे को बहेतरीन शिक्षा और सभी सुख सुविधाएं मुहैया होनी चाहिए।
  • हमारे देश के हर कोने में पलने वाले हर बच्चे को शिक्षा और उसकी जरूरत की हर सुख सुविधा मुहैया होनी चाहिए।

बीबीडी यूनिवर्सिटी: पानी के टैंक में डूबकर युवक की मौत!

अमेठी में यहां सिसक रहा बचपन

  • घर से भागकर गलत हाथों में पड़ने वाले मासूमों को रेस्क्यू कर वापस उनके घर तक पहुंचाने या फिर उनको सही रास्ते पर लाने के लिए प्रदेश सरकार के आदेश पर चलाया जा रहा आपेशन मुस्कान राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी में ही औंधे मुंह गिर गया है।
  • इस बात का खुलासा तब हुआ जब जगदीशपुर औधौगिक क्षेत्र रोड नम्बर 4 पर स्थित एक प्लाई वुड के कारखाने के अंदर गये एक व्यक्ति ने मजदूरी कर रहे मासूम बाल मजदूरों का वीडियो बना लिया।
  • जिसके देखने के बाद अमेठी में बाल मजदूरी का वो सच सामने आया जो शायद काफी लंबे वक्त से छुपा था।
  • अंदर खाने की खबर है कि जगदीशपुर इंडस्ट्रियल क्षेत्र में आज कई मजदूर बच्चों से बाल मजदूरी करायी जा रही है और जिम्मेदार महकमा मौन है।

whatsapp के जरिये लापता महिला को पहुंचाया घर!

सर्व शिक्षा भी अभियान हो रहा बेमानी

  • अमेठी जनपद के किसी भी कोने में चले जाइये वहां पर आपको होटलों, ढाबों, दुकानों, घरों, गैराजों, फैक्ट्रियों कारखानों में गरीबों के बच्चे अपने बचपन को खाक में मिलाते दिख जायेंगे।
  • विडम्बना इस बात कि भी है कि इस कथित सभ्य और बड़े कहलाने वाले समाज के लोग भी बच्चों का शोषण करने में पीछे नहीं हैं।
  • ऐसे में सर्व शिक्षा अभियान भी बेमानी हो जाता है।
  • आज कारखानों फैक्टियों, ढाबों एवं ऐसे ही कार्यस्थलों पर बच्चों का नियोजन इसलिए भी किया जाता जा रहा है।
  • क्योंकि उनका शोषण बड़ी आसानी और सरलता से किया जा सकता है।
  • आज मासूम बच्चों का जीवन केवल बालश्रम तक ही सीमित नहीं बल्कि बच्चों की तस्करी और लड़कियों के साथ भेदभाव आज भी देश में एक विकट समस्या के रूप में हमारे सामने है।

बदमाशों के शिकंजे में शहर, फिर की लूट विरोध में मारी गोली!

संस्थाओं का भी दिख रहा स्याह सच

  • बालश्रम रोकने के लिए न जाने कितनी संस्थाएं काम कर रही है लेकिन अफसोस तो यह है कि उसके बावजूद बालश्रम में कमी होती नजर नहीं आ रही है।
  • बच्चों को अभी भी अपने अधिकार पूरे तौर पर नहीं मिल पाते।
  • अनेक बच्चों को भर पेट भोजन नसीब नहीं होता।
  • स्वास्थ्य संबंधी देखभाल की सुविधाएं तो है ही नहीं और यदि हैं भी तो बहुत कम वहीं जब इस मामले को (child labour increase) लेकर जिलाधिकारी अमेठी से सम्पर्क करने की कोशिश की गयी तो जिलाधिकारी महोदय का फोन नहीं उठा।

मोदी सरकार के खिलाफ भाजपा नेता ने खोला मोर्चा!

 

1

कानून-व्यवस्था के अपने ही एजेंडे में घिरी योगी सरकार!

विधानसभा (up assembly) के बजट सत्र के दौरान आज जमकर हंगामा हो रहा है. सदन की कार्रवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित करनी पड़ी. हंगामे के कारण दो बार कार्रवाही को रोकना पड़ा था. गन्ना किसानों की मांग को लेकर सदन में विपक्ष ने हंगामा किया.

रामगोविंद चौधरी ने उठाया कानून-व्यवस्था का मुद्दा:

  • विधान सभा में नेता विपक्ष राम गोविंद चौधरी कानून-व्यवस्था का मुद्दा उठाया.
  • वहीँ संसदीय कार्य मंत्री ने इसका जवाब भी दिया.
  • उन्होंने कहा कि पिछली सरकार के कारनामों की वजह से आज भी हमें रोज़ रोज़ कानून व्यवस्था पर सफाई देनी पड़ती है.
  • वहीँ उमेश द्विवेदी एमएलसी ने वित्त विहीन शिक्षकों पर लाठीचार्ज का मुद्दा भी उठाया.
  • उन्होंने कहा कि सरकार धरना प्रदर्शन करने वाले अध्यापकों पर लाठी चार्ज करा रही है.
  • जबकि शिक्षक शांति पूर्व धरना दे रहे थे.
  • कई पुलिस वाले नशे में थे.
  • पुलिस वालों ने महिलाओं के साथ अभद्रता की.
  • उन्होंने कहा कि अगर सरकार नहीं मानती तो सदन का बहिष्कार करेंगे.
  • उन्होंने कहा कि सरकार चेत जाये नहीं तो सदन के बाहर धरना देंगे.

विपक्ष (up assembly) हुआ लामबंद:

  • विपक्ष ने सदन में वित्त विहीन शिक्षकों का मामला उठाया
  • परिषद की कार्रवाही 15 मिनट के लिए स्थगित करनी पड़ी.
  • विधान सभा  मे बाढ़ पर हो रही चर्चा के दौरान भी हंगामा हुआ.
  • विपक्ष ने सिल्ट सफाई में भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाया.
  • नहरों में पानी पहुंचने के मुद्दे को भी विपक्ष ने उठाया.
  • गन्ना मूल्य भुगतान का मुद्दा भी विधान सभा मे उठा.
  • सुरेश राणा ने सदन में सरकार का पक्ष रखा.
  • उन्होंने कहा कि गन्ना किसानों का 89.84 प्रतिशत भुगतान किया जा चुका है.
  • गन्ना मूल्य भुगतान का मुद्दा भी विधान सभा मे उठा.
  • नहरों में पानी पहुंचने के मुद्दे को भी विपक्ष ने उठाया
  • वहीँ कांग्रेस ने विधान सभा से वाक आउट किया।
  • काँग्रेस सदस्य गन्ना किसानों के समर्थन मूल्य बढ़ाने की मांग कर रहे थे.
  • कांग्रेस विधान मंडल दल ने 400 रुपये प्रति क्विन्टल MSP किये जाने का सवाल पूछा.

अमित शाह के हाथों में चुनाव क्षेत्र का ‘गणित’!

योगी सरकार के चार माह पूरे होने लेकिन अभी तक सीएम योगी (cm yogi), उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्य, मंत्री स्वतंत्र देव सिंह तथा मोहसिन रजा प्रदेश में किसी भी सदन के सदस्य नहीं बने हैं. ऐसे में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के इशारे पर लोगों की उम्मीदें टिकी हुई है. बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष 29 से 31 जुलाई तक राजधानी लखनऊ के दौरे पर हैं.

अमित शाह कर सकते हैं फैसला:

  • भाजपा अध्यक्ष 29 जुलाई को लखनऊ में रहेंगे.
  • ऐसे में कयास लगाए जा रहे है कि उनकी मौजूदगी में मुख्यमंत्री योगी के चुनाव क्षेत्र को लेकर निर्णय किया जा सकता है.
  • केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा के लिए भी चुनाव क्षेत्र तय होना है.
  • स्वतंत्र देव सिंह और मोहसिन रजा के लिए चुनाव क्षेत्र तय हो जाएगा.
  • सरकार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य सांसद हैं.
  • जबकि बाकी तीन लोग किसी सदन के सदस्य नहीं हैं.
  • पद पर बने रहने के लिए शपथ से छह माह के भीतर विधानसभा या विधान परिषद का सदस्य बनना अनिवार्य होगा.
  • योगी आदित्यनाथ गोरखपुर तथा केशव प्रसाद मौर्य इलाहाबाद से सांसद हैं.
  • मुख्यमंत्री योगी और केशव जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधि हैं.
  • इसलिए उनको विधानसभा चुनाव में उतारे जाने की चर्चा है.
  • जबकि बाकी के लिए विधान परिषद में जगह बनाई जा सकती है.

कौन कहाँ और कैसे?

  • मई 2018 तक विधान परिषद में प्राधिकारी निर्वाचन क्षेत्र से सिर्फ एक जगह बची है.
  • सपा से बसपा में जा चुके विधान परिषद सदस्य अंबिका चौधरी और बसपा से निष्कासित नसीमुद्दीन सिद्दीकी की सदस्यता पर तलवार लटकी हुई है.
  • बदायूं स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन क्षेत्र से चुने गए बनवारी यादव के निधन से एक सीट खाली है.
  • अंबिका और नसीमुद्दीन की सदस्यता निरस्त होने की दशा में विधान परिषद में तीन लोगों की जगह बन सकती है.
  • दिनेश शर्मा को विधान परिषद में नेता सदन बनाकर उन्हें MLC बनाने का संकेत दे दिया गया है.
  • वहीँ योगी और केशव के लिए कई विधायक अपनी सीट छोडऩे को तैयार हैं.