मायावती का राज्यसभा से इस्तीफा का फैसला स्वभाविक : लालू

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की सुप्रीमो मायावती के राज्यसभा से इस्तीफा को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने सही और स्वभाविक बताया.

लालू ने किया माया का समर्थन-

  • राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने कहा कि भाजपा दलित विरोधी पार्टी है, राजद मायावती के साथ है।
  • लालू ने मायावती के राज्यसभा से इस्तीफा को स्वभाविक और सही कहा
  • मायावती का समर्थन में उतरे लालू यादव ने कहा कि मायावती चाहेंगी तो हम बिहार से उन्हें दोबारा राज्यसभा भेजेंगे।
  • बीजेपी पर निशाना साधते हुए लालू ने कहा कि भाजपा अहंकार में डूबी है, दलितों की आवाज दबाई जा रही है।

18 जुलाई को दिया इस्तीफ़ा-

  • बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो और राज्यसभा सांसद मायावती ने मंगलवार 18 जुलाई को अपने सांसद पद से इस्तीफ़ा दे दिया
  • बसपा नेता का आरोप है कि मानसून सत्र की राज्यसभा सदन की कार्यवाही में उन्हें बोलने नहीं दिया गया
  • उन्हें बोलने नहीं दिए जाने की बात कहकर सदन से वॉक आउट किया था।
  • संसद की कार्यवाही खत्म होते ही बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपना इस्तीफ़ा सौंप दिया।
  • राज्यसभा अध्यक्ष और उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने उनका इस्तीफ़ा स्वीकार कर लिया।

मायावती ने बताया इस्तीफ़ा देने का कारण-

  • सभापति को लिखित में इस्तीफे की चिट्ठी दी।
  • सदन में मुझे बोलने नहीं दिया गया।
  • शोर शराबे के बीच बात रखने की कोशिश की।
  • बीजेपी की मानसिकता जातिवादी।
  • सभापति ने घंटी बजाकर मुझे ही चुप करा दिया।
  • शोर रोकने के बजाए मुझे ही चुप करा दिया।
  • मुझे अपनी बात कहने से रोका गया।
  • सहारनपुर कांड पर मुझे बोलने नहीं दिया गया।
  • दलित समाज पर उत्पीड़न की बात नहीं कहने दी।
  • मुझे दुख के साथ इस्तीफा देने का फैसला लेना पड़ा।
  • दलितों के हित के लिए पूरी जिंदगी समर्पित की है।

यह भी पढ़ें: दलितों के हित के लिए पूरी जिंदगी समर्पित की- मायावती

यह भी पढ़ें: बौखलाई मायावती ने राज्यसभा से दिया इस्तीफ़ा!

 

बसपा सुप्रीमो मायावती का सहारनपुर जिले का दौरा आज!

हाल ही में उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में एक धार्मिक शोभा यात्रा के दौरान हुए पथराव के बाद जिले में तनावपूर्ण हालात पैदा हो गए थे। जिस दौरान तथाकथित दलित भीम सेना ने इलाके में कई जगह प्रदर्शन किये और साथ ही कई पुलिस चौकियों को भी निशाना बनाया गया था।

बसपा सुप्रीमो करेंगी घटनास्थल का दौरा:

  • उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में बीते कुछ दिन पहले एक शोभायात्रा पर हुए पथराव के बाद तनावपूर्ण माहौल हो बन गया था।
  • जिसके बाद तथाकथित भीम सेना ने इलाके में दंगों जैसे हालात पैदा कर दिए थे।
  • भीम सेना ने प्रदर्शन के नाम पर पुलिस चौकियों में आग लगा दी।
  • कई वाहन जला दिए गए थे, इसके साथ ही कई पुलिस कर्मी भी इस प्रदर्शन में बुरी तरह से घायल हो गए थे।
  • इसी क्रम में बसपा सुप्रीमो मायावती मंगलवार 23 मई को सहारनपुर जिले के दौरे पर जाएँगी।
  • जहाँ बसपा सुप्रीमो मायावती घटनास्थल का दौरा करेंगी।

सुबह 10 बजे सहारनपुर पहुंचेंगी बसपा सुप्रीमो मायावती:

  • बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती मंगलवार को सहारनपुर जिले के दौरे पर जा रही हैं।
  • जिसके तहत बसपा सुप्रीमो सहारनपुर के गाँव शब्बीरपुर का दौरा करेंगी।
  • बसपा सुप्रीमो सुबह 8 बजे नई दिल्ली के 3 त्यागराज मार्ग, से सहारनपुर के लिए निकलेंगी।
  • सुबह करीब 10 बजे बसपा सुप्रीमो मायावती शब्बीरपुर पहुंचेंगी।

यूपी में कानून का राज सिर्फ बसपा की सरकार में- बसपा सुप्रीमो

उत्तर प्रदेश की बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने शनिवार 20 मई को सूबे की राजधानी लखनऊ स्थित अपने आवास पर प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया था, जिसके तहत बसपा सुप्रीमो मायावती प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित किया। प्रेस कांफ्रेंस में बसपा सुप्रीमो ने योगी सरकार को कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर घेरकर हमला किया।

सूबे की कानून-व्यवस्था पर बसपा सुप्रीमो मायावती की प्रेस कांफ्रेंस के संबोधन के मुख्य अंश:

  • बसपा सुप्रीमो मायावती ने लखनऊ में शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया था।
  • जिसके तहत बसपा सुप्रीमो मायावती ने प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित किया।
  • अपने संबोधन में बसपा सुप्रीमो ने राज्य की योगी सरकार को घेरकर हमला किया।
  • अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि, यूपी की जनता बसपा के शासन को याद कर रही है।
  • बसपा सुप्रीमो ने आगे कहा कि, यूपी में कानून का राज सिर्फ बसपा की सरकार में मिल सकता है।

भाजपा सरकार में कानून-व्यवस्था का बुरा हाल:

  • बसपा सुप्रीमो मायावती ने शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस कर योगी सरकार पर कानून-व्यवस्था को लेकर हमला बोला।
  • जिसमें उन्होंने कहा कि, भाजपा सरकार में कानून-व्यवस्था का बुरा हाल है।
  • मायावती ने आगे कहा कि, हमने कभी भी द्वेष की भावना से काम नहीं किया।
  • बसपा सुप्रीमो ने इसी में आगे जोड़ा कि, बसपा ने सभी की सुरक्षा सुनिश्चित की।
  • साथ ही उन्होंने कहा कि, यूपी की जनता को सही मायनों में बसपा सरकार ही सुरक्षा दे सकती है।

मेरे ऊपर लगाये गए आरोपों को मायावती के ऊपर ही साबित कर सकता हूँ-नसीमुद्दीन

1

बहुजन समाज पार्टी ने आज पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने का अरोप लगते हुए नसीमुद्दीन सिद्दीकी और उनके बेटे अफजाल सिद्दीकी को पार्टी से बाहर निकाल दिया. इस बात की जानकारी बसपा राष्ट्रीय महासचिव और राज्यसभा सांसद सतीश चन्द्र मिश्र ने बुधवार 10 मई को प्रेस कांफ्रेंस के दौरान दी. पार्टी से निकले जाने के बाद नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने प्रेस नोट जारी करते हुए इन आरोपों को झूठा ,अनर्गल , तथ्यहीन निराधार बताया है. प्रेस नोट में नसीमुद्दीन सिद्दीकी यहाँ तक कहा की वो इन आरोपों को उल्टा मायावती के ऊपर ही साबित कर सकते हैं.

नसीमुद्दीन सिद्दीकी कहीं ये बातें-

  • अपने ऊपर लगाये आरोपों का नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने प्रेस नोट के माध्यम से खंडन किया है.
  • उनका कहनाहै है की ये आरोप झूठे ,अनर्गल ,तथ्यहीन और निराधार हैं.
  • सिद्दीकी का कहना है की वो ये आरोप प्रमाण के साथ उलटे मायावती पर साबित कर सकते हैं.
  • उन्होंने कहा की जहाँ तक निष्कासन की बात है तो मुझे और मेरे परिवार को 34-35 वर्षों की कुर्बानी का सिला दिया है.
  • मैंने मिशन और मायावती के लिए इतनी कुर्बानी दी जिनकी मैं गिनती भी नही बता सकता.
  • उन्होंने कहा की 1996 में मैं मायावती को चुनाव जिताने में लगा रहा.
  • इस दौरान मेरी पुत्री ने बांदा में इलाज के अभाव में अंतिम साँसें ली.
  • लेकिन मैं उसका मारा हुआ मुहं तक देखने नही जा सका.
  • उन्होंने कहा की मेरी लाखों कुर्बानियों में ये एक बानगी स्वरुप है.
  • नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कहा की पिछले चनावों में मायावती अपनी गलत नीतियों के चलते असफल हुई थी.
  • उन्होंने कहा की इस चुनाव में भी गलत नीतियों के चलते मायावती को लोगों ने नकारा है.
  • कई बार मायावती, आनंद कुमार और सतीश चन्द्र द्वारा मुझसे मानवता से परे ,अवैध और अनैतिक मांगे की गई.
  • इन मांगों को पूरा करना मेरे बस में नही था.
  • लेकिन उन्हें पूरा करने के लिये मुझ पर दबाव बनाया गया.
  • मेरे पास इसके पुख्ता प्रमाण भी हैं.
  • गौरतलब हो की नसीमुद्दीन लखनऊ के बाहर हैं.
  • उनका कहना है की कल लखनऊ आने के बाद वो प्रेस कांफ्रेंस करेंगे.
1

बसपा ने नसीमुद्दीन को बेटे समेत पार्टी से दिखाया बाहर का रास्ता!

उत्तर प्रदेश की बहुजन समाज पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और राज्यसभा सांसद सतीश चन्द्र मिश्र ने बुधवार 10 को प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया था, जिसके तहत सतीश चन्द्र मिश्र ने प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित किया। अपनी प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने EVM और बसपा नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी पर बात की।

बसपा राष्ट्रीय महासचिव सतीश चन्द्र मिश्र की प्रेस कांफ्रेंस के संबोधन के मुख्य अंश:

बसपा नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी को पार्टी से बाहर किया गया:

  • बहुजन समाज पार्टी ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी को पार्टी से बाहर निकाल दिया है।
  • जिसकी जानकारी बसपा राष्ट्रीय महासचिव सतीश चन्द्र मिश्र ने प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से दी।
  • प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन लखनऊ स्थित पार्टी कार्यालय में किया गया था।
  • बसपा नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी समेत उनके बेटे अफजाल सिद्दीकी को भी पार्टी से बाहर कर दिया गया है।

बेनामी संपत्ति के आरोप के तहत हुआ निष्कासन:

  • बसपा नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी को पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है।
  • इस दौरान पार्टी राष्ट्रीय महासचिव ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने के आरोप लगाये।
  • साथ ही उन्होंने बताया कि, नसीमुद्दीन सिद्दीकी पर पश्चिमी यूपी में कई बेनामी संपत्तियां होने की बात सामने आई है।

सतीश चन्द्र मिश्र द्वारा नसीमुद्दीन सिद्दीकी पर लगाये गए आरोप:

  • बसपा राष्ट्रीय महसचिव ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी पर कई आरोप लगाये।
  • जिनमें उन्होंने कहा कि, सीमुद्दीन सिद्दीकी के पास बेनामी संपत्ति है,
  • नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कई स्लाटर हाउस में साझेदारी की है,
  • नसीमुद्दीन सिद्दीकी और उनके बेटे को पार्टी से निष्कासित किया गया है,
  • सिद्दीकी के पास पश्चिमी यूपी में कई बेनामी संपत्ति है,
  • नसीमुद्दीन सिद्दीकी पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहे हैं,
  • चुनाव के दौरान नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने खूब पैसे लिए,
  • नसीमुद्दीन सिद्दीकी को पार्टी से सभी पदों से निकाला गया।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी संगठन में किये बड़े बदलाव!

उत्तर प्रदेश की बहुजन समाज पार्टी की यूपी विधानसभा चुनाव में करारी हार हुई थी। जिसके बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी के सूबे के संगठन में कुछ बदलाव किये हैं। इस बदलाव के तहत बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी के एक बड़े नेता को पदच्युत कर दिया है।

नसीमुद्दीन सिद्दीकी पार्टी में सभी पदों से हटाये गए:

  • बसपा सुप्रीमो मायावती ने यूपी चुनाव में करारी हार के चलते पार्टी के संगठन में कई बदलाव किये हैं।
  • जिसके तहत बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी के बड़े कद्दावर नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी को पदच्युत कर दिया है।
  • बसपा सुप्रीमो ने नसीमुद्दीन से पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव पद के अलावा सभी पदों से हटा दिया गया है।

इन पदों से हटाये गए नसीमुद्दीन सिद्दीकी:

  • बसपा नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी को सभी पदों से हटा दिया गया है।
  • जिसमें मेन बॉडी को-ऑर्डिनेटर, भाईचारा कमेटी,
  • उत्तर प्रदेश का प्रभार, टिकट वितरण का अधिकार वापस,
  • इसके साथ ही नसीमुद्दीन सिद्दीकी को मध्य प्रदेश का प्रभारी बनाया गया है।
  • गौरतलब है कि, मध्य प्रदेश में इस साल चुनाव होने हैं।

इन्हें मिली नई जिम्मेदारी, सतीश मिश्र का कद बड़ा:

  • बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी के कई नेताओं को नई जिम्मेदारी सौंपी है।
  • जिसमें मुनकाद अली, रामअचल राजभर, लालजी वर्मा, नौशाद अली, दिनेश चंद्रा, सुनील चित्तौड़ को नई जिम्मेदारी दी गयी।
  • सतीश चन्द्र मिश्र भाईचारा कमेटी के साथ पार्टी की मेन बॉडी में भेजे गए।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने दिया अखिलेश के सवाल का जवाब!

बसपा सुप्रीमो मायावती ने शुक्रवार 14 अप्रैल को बाबा साहब की 126वीं जयंती के कार्यक्रम में शिरकत की थी। कार्यक्रम में बसपा सुप्रीमो मायावती ने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के उस सवाल का जवाब दिया है, जिसे यूपी के विधानसभा चुनाव के दौरान पूछा गया था।

अगले पेज पर जानें मायावती का अखिलेश को वह जवाब जो 2019 की तस्वीर बदल सकता है:

अखिलेश यादव का सवाल:

  • शुक्रवार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने बाबा साहब की जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में शिरकत की थी।
  • इस दौरान बसपा सुप्रीमो मायावती ने अखिलेश यादव के एक सवाल का जवाब दिया।
  • यह सवाल यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान पूछा गया था।
  • अखिलेश यादव ने यूपी चुनाव के परिणाम निकलने से पहले अस्पष्ट बहुमत की स्थिति में बसपा से हाथ मिलाने की बात कही थी।
  • हालाँकि उस दौरान बसपा ने कुछ भी कहने से पहले परिणाम की प्रतीक्षा की बात की थी।
  • परिणाम सभी जानते हैं, यूपी चुनाव में भाजपा ने एकतरफा जीत दर्ज कर ली।

बसपा सुप्रीमो मायावती का अखिलेश को जवाब:

  • यूपी चुनाव में अखिलेश के सवाल पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने जवाब दिया है।
  • उन्होंने कहा कि, लोकतंत्र की रक्षा के लिए किसी से भी हाथ मिला सकते हैं।
  • गौरतलब है कि, उस दौरान पूछा गया सवाल भी कुछ ऐसे शब्दों में खत्म हुआ था।
  • जिसके बाद ऐसा कहा जा सकता है कि, 2019 के चुनाव की जल्द ही नई तस्वीर सामने आ सकती है।

बाबा साहब की 126वीं जयंती के कार्यक्रम में मायावती ने की शिरकत!

शुक्रवार 14 अप्रैल को उत्तर प्रदेश समेत समूचे देश में भारतीय संविधान के रचयिता बाबा साहब डॉ० भीमराव अम्बेडकर की 126वीं जयंती बड़ी ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित अम्बेडकर पार्क में बहुजन समाज पार्टी ने कार्यक्रम का आयोजन किया था।

बसपा सुप्रीमो मायावती के संबोधन के मुख्य अंश:

  • हमनें EVM के विरोध में भारी विरोध प्रदर्शन किया है।
  • बाबा साहब की जयंती पर श्रद्धा-सुमन अर्पित करने आये सभी अनुयायियों को धन्यवाद।
  • सभी राजनीतिक दल अब वोट के स्वार्थ में बाबा साहब की जयंती मनाने लगे हैं।
  • सभी दलों ने जाति के आधार पर अनुयायियों का शोषण किया है।

बसपा सुप्रीमो ने किया संबोधित:

  • शुक्रवार को बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की 126वीं जयंती मनाई जा रही है।
  • जिसके तहत लखनऊ स्थित अम्बेडकर पार्क में बाबा साहब पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।
  • कार्यक्रम का आयोजन बहुजन समाज पार्टी द्वारा किया गया था।
  • इस दौरान बसपा सुप्रीमो मायावती कार्यक्रम में पहुंची थी जहाँ उन्होंने कार्यक्रम में आये लोगों को संबोधित किया।

कई बसपा नेता रहे मौजूद:

  • राजधानी लखनऊ में बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की 126वीं जयंती का उत्सव मनाया गया था।
  • जिसके तहत कार्यक्रम में कई बसपा नेताओं ने शिरकत की थी।
  • बसपा सुप्रीमो मायावती के साथ पार्टी के महासचिव सतीश चन्द्र मिश्र, नसीमुद्दीन सिद्दीकी आदि मौजूद रहे।

बेटे पर हमले के मामले को लेकर CM योगी से मिले बसपा नेता रामवीर!

उत्तर प्रदेश की बहुजन समाज पार्टी के कद्दावर नेता और पार्टी का ब्राह्मण चेहरा रामवीर उपाध्याय शुक्रवार 24 मार्च को राजधानी लखनऊ स्थित VVIP गेस्ट हाउस पहुंचे थे। जहाँ उन्होंने यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी से मुलाकात की थी।

बेटे पर हुए जानलेवा हमले के बाद सीएम से मुलाकात:

  • उत्तर प्रदेश बसपा के नेता रामवीर उपाध्याय शुक्रवार को VVIP गेस्ट हाउस पहुंचे थे।
  • जहाँ उन्होंने मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी से मुलाकात की।
  • मुलाकात पूरी होने के बाद रामवीर उपाध्याय गेस्ट हाउस से बाहर निकले।
  • जहाँ उन्होंने मीडिया से बातचीत की।
  • हालाँकि, रामवीर उपाध्याय पहले मीडिया से बातचीत के लिए कतरा रहे थे।
  • लेकिन फिर उन्होंने मीडिया से बातचीत की।
  • उन्होंने जानकारी दी कि, मेरे बेटे पर जानलेवा हमला हुआ था,
  • “मामले में कार्रवाई के लिए मुख्यमंत्री से मुलाकात की थी”।
  • बसपा नेता ने आगे बताया कि, हमले के मामले में अभी तक दोषियों के संबंध में कोई भी कार्रवाई नहीं की गयी है।

हाथरस में हुआ था हमला:

  • सूबे के बसपा नेता रामवीर उपाध्याय शुक्रवार को VVIP गेस्ट में CM से मिलने पहुंचे थे।
  • गौरतलब है कि, 8 फ़रवरी को उनके बेटे चिरागवीर उपाध्याय पर हाथरस जिले में चुनाव प्रचार के दौरान हमला हुआ था।
  • हमला एक झगड़े के दौरान शुरू हुआ था, जो मौजूदा विधायक और सपा प्रत्याशी के बीच हुआ था।