BHU में छात्रों पर लाठीचार्ज निंदनीय: अखिलेश यादव

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी नगरी वाराणसी स्थित बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी में छेड़खानी के खिलाफ शुरू हुआ बवाल (BHU student protest) शनिवार और रविवार को भी नहीं थम पाया, वहीँ मामले में शनिवार की रात में हालात और बिगड़ गए जब पुलिस ने कैंपस में घुसकर छात्र-छात्राओं पर लाठीचार्ज कर दिया. छात्राओं पर हुए लाठी चार्ज की निंदा करते हुए यूपी के पूर्व सीएम एवं सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए अपनी तीखी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने अपने ट्वीट मेंन ने कहा की ‘बल से नहीं बातचीत से हल निकाले सरकार, बीएचयू में छात्रों पर लाठीचार्ज निंदनीय, दोषियों पर हो करवाई.’

2 अक्टूबर तक बंद हुआ BHU(BHU student protest):

  • BHU में शुक्रवार से शुरू हुआ बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है.
  • शनिवार-रविवार की रात को कुलपति का आवास घेरने पहुंचे छात्रों पर सिक्योरिटी ने लाठीचार्ज किया.
  • जिसके बाद नाराज छात्रों ने पुलिस पर पथराव किया.
  • पथराव की घटना के बाद 10 थानों की पुलिस BHU कैंपस के अन्दर घुसी और लाठीचार्ज शुरू कर दिया.
  • BHU में माहौल बिगड़ने के बाद यूनिवर्सिटी को 2 अक्टूबर के लिए बंद कर दिया गया है.

छात्र-छात्राओं ने पुलिस पर किया पथराव(BHU student protest):

  • BHU में शुरू हुआ बवाल शनिवार-रविवार को भी थमने का नाम नहीं ले रहा है.
  • वही शनिवार को पुलिस द्वारा कैंपस में छात्र-छात्राओं पर लाठीचार्ज के बाद हालात और बिगड़ गए हैं.
  • अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे यूनिवर्सिटी के छात्रों ने पुलिस पर पत्थरबाजी शुरू कर दी थी.
  • जिसके बाद भारी संख्या में पुलिस बल कैंपस में दाखिल हुआ और पत्थरबाजी कर छात्रों पर लाठीचार्ज किया.
  • लाठीचार्ज से भगदड़ शुरू हो गयी जिसमें 3 छात्र घायल हो गए हैं.

10 थानों की पुलिस BHU में मौजूद(BHU student protest):

  • BHU दो दिन से चल रहा प्रदर्शन अब उग्र हो गया है.
  • शनिवार-रविवार को दो दिनों से प्रदर्शन कर रहे छात्र-छात्राओं ने कुलपति का आवास घेरने की कोशिश की.
  • इसी दौरान प्रदर्शन के हालात बेकाबू हो गए और सिक्योरिटी वालों को छात्रों पर लाठियां भांजनी पड़ीं.
  • जिसके बाद मौके पर पहुंची 10 थानों की पुलिस ने छात्रों पर लाठीचार्ज शुरू कर दिया.
  • जिससे नाराज छात्रों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया और वाहनों को आग के हवाले करना शुरू कर दिया.
  • गौरतलब है कि, प्रदर्शन में कई टू-व्हीलर्स को आग लगा दी गयी है.
  • सिक्योरिटी और पुलिस वालों के सामने छात्र डटे हुए हैं, जिसके चलते माहौल तनावपूर्ण हो गया है.
  • बनारस के आला अधिकारी मौके पर मौजूद हैं लेकिन हालात में कोई सुधार नहीं हुआ है.
  • मौके पर पहुंचे बनारस के कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण भी आधी रात के बाद BHU पहुंचे थे.
  • जहाँ उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि, मामले की जाँच होगी साथ ही दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी.

तो अब अपने ही घर से बेघर होने की कगार पर मुलायम सिंह?

आज समाजवादी पार्टी के प्रदेश कार्यालय पर समीक्षा बैठक हुई थी. इसमें सपा के राज्य सम्मलेन और राष्ट्रीय अधिवेशन को लेकर चर्चा हुई थी. इसके बाद सपा (akhilesh yadav review meeting) की एक गोपनीय बैठक हुई थी, जिसमें सपा महासचिव रामगोपाल यादव पहुँचे थे. इसमें हुई बातों का अब खुलासा हो चुका है.

अगले पेज पर पढ़ें ये पूरी खबर…

अखिलेश ने बुलाई बैठक (akhilesh yadav review meeting):

  • अखिलेश यादव (akhilesh yadav review meeting) ने आज पार्टी कार्यालय पर समीक्षा बैठक बुलाई हुई थी.
  • इस बैठक में अखिलेश ने बीते दिनों हुए जिला सम्मेलनों की समीक्षा की.
  • पार्टी कार्यालय पर बैठक के बाद सपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किरणमय नंदा ने पत्रकारों से बात की.
  • उन्होंने बताया कि सपा का राष्ट्रीय अधिवेशन 5 अक्टूबर को आगरा में होना है.
  • साथ ही उन्होंने कहा कि सपा का राज्य सम्मलेन 23 सितंबर को लखनऊ में होना है.

ये भी पढ़ें, जनेश्वर नहीं अब यहाँ होगा सपा का अधिवेशन

समाजवादी पार्टी में गोपनीय बैठक हुई:

  • अखिलेश की इस बैठक में प्रोफेसर राम गोपाल यादव भी पहुंचे थे.
  • लेकिन राम गोपाल यादव इस बैठक के बाद वापस चले गए.
  • वहीँ 5 अक्टूबर को आगरा में समाजवादी पार्टी का राज्य स्तरीय सम्मेलन है.
  • इस बैठक में अखिलेश को अध्यक्ष बनाए रखने की रणनीति पर चर्चा हुई.
  • लेकिन इस बीच प्रोफेसर किसी से नहीं मिले.
  • वहीँ सूत्रों से पता चला है कि समाजवादी पार्टी में मुलायम और शिवपाल के लिए अभी जगह नहीं है.

ये भी पढ़ें, यूपी के इन जिलों में आज किसानों को मिली कर्ज से मुक्‍ति…

ये भी पढ़ें, जनेश्वर नहीं अब यहाँ होगा सपा का अधिवेशन

कैबिनेट में हुए फेरबदल पर अखिलेश ने कसा मोदी पर तंज

1

राष्ट्रपति भवन में कैबिनेट विस्‍तार के लिए मोदी मंत्रिमंडल के नए भरोसेमंद मंत्रियों ने शपथ ली. आज सुबह 10:30 बजे शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया गया. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सभी नए मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. वहीँ अब कैबिनेट में फेर बदल पर सभी विपक्षी दलों ने BJP पर हमला बोल दिया है. बता दें कि इस पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (sp chief akhilesh yadav) ने भी मोदी पर तंज कसते हुए बड़ा बयान दिया है.

अगले पेज पर पढ़ें ये पूरी खबर…

कैबिनेट में हुआ भारी फेर बदल (sp chief akhilesh yadav):

  • नितिन गडकरी को जल संसाधन मंत्रालय और नदी विकास गंगा कायाकल्प का अतिरिक्त प्रभार.
  • सुरेश प्रभु वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय.
  • अरुण जेटली के पास रहेगा वित्त मंत्रालय और कॉर्पोरेट अफेयर्स.
  • स्मृति ईरानी को कपड़ा और सूचना प्रसारण मंत्रालय सौंपा गया.
  • राज्यवर्धन सिंह राठौर को युवा और खेल मंत्रालय का भी प्रभार.
  • विजय गोयल से खेल मंत्रालय वापस लिया गया, उन्हें संसदीय कार्यमंत्री का प्रभार दिया गया.
  • गिरिराज सिंह लघु उद्योग विभाग दिया गया.
  • उमा भारती को पेयजल और सैनिटेशन मंत्रालय का जिम्‍मा दिया गया.
  • वहीँ अब कैबिनेट में हुए फेर बदल को लेकर सभी विपक्ष पार्टियों का मोदी सरकार पर हमला जारी है.
  • वहीँ यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भी इस पर बड़ा बयान दे डाला है.

अखिलेश ने कहा:

  • मोदी सरकार पर तंज कसते हुए सपा प्रमुख अखिलेश यादव (sp chief akhilesh yadav) ने कहा कि “अगर इतने सारे फ़ेल हो रहे है”.
  • “तो क़सूर सिर्फ़ फ़ेल होने वालों का नहीं”!

ये भी पढ़ें, मोदी के भरोसेमंद नए मंत्री संभालेंगे ये मंत्रालय

1

भाजपा के खिलाफ हल्ला-बोल, रैली में शामिल हुए अखिलेश!

पटना में ‘बीजेपी भगाओ, देश बचाओ’ रैली शुरू हो गई है. इस दौरान राष्ट्रीय जनता दल के चीफ लालू प्रसाद यादव और जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के बागी नेता शरद यादव ने मंच साझा किया. बता दें कि यह रैली बीजेपी के खिलाफ की जा रही है. इस रैली में शामिल होने के लिए सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (akhilesh yadav) भी अपने समर्थकों के साथ पहुंचे हैं.

मंच पर लालू के गले मिले अखिलेश यादव:

अखिलेश यादव अपने समर्थकों के साथ भाजपा भगाओ, देश बचाओ रैली में शामिल होने पटना पहुंचे.

गाँधी मैदान में हो रही रैली में मंच पर अखिलेश यादव पहुंचे.

गर्मजोशी से लालू यादव ने उनका स्वागत किया.

भाजपा के खिलाफ हल्ला-बोल:

  • बिहार की सत्ता से बाहर होने के बाद राजद ने भाजपा के खिलाफ पटना में ‘भाजपा भगाओ-देश बचाओ’ रैली कर रहा है.
  • इसे सफल बनाने में राजद ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है.
  • इस रैली में विपक्ष की एकता देखने को मिली.
  • ‘बीजेपी भगाओ, देश बचाओ’ रैली में मंच पर लालू प्रसाद यादव और शरद यादव एक हुए.
  • दोनों नेताओं ने गले लग कर एक-दूसरे का अभिवादन किया.
  • जेडीयू ने कहा था कि अगर शरद यादव रैली में जाएंगे तो उन्हें पार्टी से अलग समझा जाएगा.
  • इस बीच जेडीयू प्रवक्ता अजय आलोक ने बयान दिया कि शाम तक शरद यादव की छुट्टी हो जाएगी.

अखिलेश ने इस नेता को पार्टी से किया बाहर!

1

समाजवादी पार्टी में इन दिनों कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है. लगातार पार्टी नेताओं का पार्टी छोड़ने का सिलसिला जारी है. बीते दिनों कई सपा एमएलसी ने इस्तीफ़ा देकर भाजपा की सदस्यता ले ली है. वहीँ समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव (former cm akhilesh yadav) ने अब सपा के इस दिग्गज नेता को भी पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है.

अगले पेज पर पढ़ें ये पूरी खबर…

निष्कासित हुए सपा के नेता (former cm akhilesh yadav):

  • इन दिनों समाजवादी पार्टी में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है.
  • बता दें कि बीते दिनों कई सपा एमएलसी ने इस्तीफ़ा देकर भाजपा की सदस्यता ले ली है.
  • वहीँ उसके बाद ये सिलसिला जारी है और वहीँ सपा में पारिवारिक मतभेद भी खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है.
  • लेकिन अब खुद सपा प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (former cm akhilesh yadav) ने अपने इस नेता को.
  • 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है.
  • कौशाम्बी सपा के पूर्व ज़िला पूर्व ज़िला अध्यक्ष अशोक यादव को पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में 6 साल के लिए निष्कासित किया गया है.

ये भी पढ़ें, जाने बाबा राम रहीम के केस की हिस्ट्री, बदलेंग 2 राज्यों के सियासी समीकरण

सपा के ये नेता भी हुए थे निष्कासित:

  • कुछ महीने पहले अनुशासनहीनता के आरोप में सपा के इन नेताओं को पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखा दिया था.
  • पूर्व पंचायत अध्यक्ष रीना सोनकर, डीह ब्लॉक प्रमुखनीता स्वर्णकार, राजित रात, कल्लू राम को पार्टी से निष्कासित कर दिया था.
  • इन सभी नेताओं को अनुशासनहीनता के आरोप में निष्कासित कर दिया था.

ये भी पढ़ें, पीड़िता की मदद के लिए आगे आये ‘अखिलेश’!

1

पीड़िता की मदद के लिए आगे आये ‘अखिलेश’!

बीते दिन राजधानी के लखीमपुर खीरी जिले में पुलिस चौकी के पास एक शोहदे ने लड़की से छेड़छाड़ की. वहीँ जब लड़की ने इसका विरोध किया तो उसने उसे तलवार लेकर दौड़ा लिया और उसका हाथ काट दिया. हालांकि KGMU में डॉक्टरों के पैनल ने 10 घंटे सर्जरी करने के बाद किशोरी के हाथ जोड़ दिया है. वहीँ अब पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (former cm akhilesh yadav) भी पीड़िता के मदत के लिए आगे आये हैं.

अगले पेज पर पढ़ें ये पूरी खबर…

ये था पूरा मामला (former cm akhilesh yadav):

  • बीते दिन लखीमपुर खीरी जिले में पुलिस चौकी के पास एक शोहदे ने दुस्साहसिक घटना को अंजाम सिया था.
  • जहां एक लड़की जान बचाने के लिए काफी दूर तक भागती रही लेकिन पुलिस वसूली में व्यस्त रही।
  • रास्ते में डॉयल 100 की गाड़ी भी नजर नहीं आई और इसका नतीजा ये हुआ कि शोहदे ने लड़की के ऊपर तलवार से कातिलाना हमला कर दिया था.
  • वहीं इस प्राणघातक हमले में लड़की का हाथ भी कट गया था.
  • घटना को अंजाम देकर भाग रहे शोहदे को लोगों ने दौड़ाकर पकड़ लिया और पुलिस के सुपुर्द कर दिया था.

10 घंटे की सर्जरी के बाद जोड़ा हाथ:

  • बता दें कि किशोरी को गंभीर अवस्था में केजीएमयू रेफर किया गया था.
  • यहां डॉक्टरों के पैनल ने 10 घंटे सर्जरी करने के बाद किशोरी के हाथ को जोड़ने का काम किया है.

अखिलेश ने परिवार को मदद भेजी:

  • बता दें कि लखीमपुर खीरी मामला में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (former cm akhilesh yadav) ने पीड़ित परिवार को मदद भेजी है.
  • MLC आनंद भदौरिया नेतृत्व में 15 सदस्यीय नेताओं ने ट्रॉमा सेंटर में पीड़िता से मुलाक़ात कर 51 हज़ार की मदद की है.
  • वहीँ सरकार से पाँच लाख का आर्थिक मदत देने की माँग भी की.
  • लखीमपुर खीरी में लडक़ी का हाथ काटने की घटना पर सपा ने कानून व्यवस्था ध्वस्त होना बताया.

ये भी पढ़ें, भाजपा के दबाव में तोड़ा गया कॉम्प्लेक्स: शाहिद मंजूर

अखिलेश के इस ‘ड्रीम प्रोजेक्ट’ को लेकर प्रदेश सरकार का बड़ा ऐलान!

1

सूबे में योगी की सरकार के आने के बाद से ही समाजवादी सरकार के फैसलों का पलटना जरी है. वहीँ इन फैसलों में अब पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का ये ड्रीम प्रोजेक्ट भी शामिल हो चुका है. बता दें कि अखिलेश यादव (former cm akhilesh) के इस ड्रीम प्रोजेक्ट को लेकर प्रदेश सरकार ने बड़ा ऐलान किया गया है.

अगले पेज पर पढ़ें ये पूरी खबर…

अखिलेश का था ये ड्रीम प्रोजेक्ट (former cm akhilesh):

  • बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 21 नवम्बर 2016 को आगरा एक्सप्रेसवे के उद्घाटन किया था.
  • वहीँ सरकार जाने के बाद से एक्सप्रेसवे पर अभी भी आधारभूत सुविधाओं का आभाव है.
  • लेकिन अब अथॉरिटी एडवांस्ड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम के तहत.
  • 50 सीसीटीवी कैमरा और 76 आपातकालीन कॉल बॉक्स लगाने जा रहे है.
  • लेकिन अखिलेश (former cm akhilesh) के इस ड्रीम प्रोजेक्ट को लेकर अब बड़ा ऐलान हुआ है.

फ्री नहीं होगा अब आगरा एक्सप्रेसवे:

  • बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट-आगरा एक्सप्रेसवे पर सफर अब फ्री नहीं होगा.
  • जी हां अब इस एक्सप्रेसवे पर सफ़र करने के लिए आपको टोल देना होगा.
  • खबरों के मुताबिक ये टोल अब नवम्बर महीने से लगेगा.
  • वहीँ एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी ने आगरा एक्सप्रेसवे पर टोल वसूली की तैयारी पूरी कर ली है.

ये भी पढ़ें , ‘भगदड़’ में बाल-बाल बचे मुलायम, कई कार्यकर्ता हुए घायल!

  • खबरों के मुताबिक एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी के CEO अवनीश अवस्थी ने भी इस बात की पुष्टि कर दी है.
  • उनके मुताबिक प्रदेश सरकार नवंबर या दिसंबर से आगरा एक्सप्रेसवे पर टोल वसूलने की तयारी कर रही है.
  • उन्होंने कहा कि आगरा एक्सप्रेसवे पर उद्योग की भी संभावना बहुत है.
  • इसलिए अथॉरिटी ने फैसला किया है कि एक्सप्रेसवे के आस-पास लैंड बैंक बनाया जाए.
  • वेसे आगरा एक्सप्रेसवे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट में सबसे खास था.

ये भी पढ़ें, अब बिना ‘आधार कार्ड’ नहीं होगा आपकी जिन्दगी से जुड़ा ये काम!

1

अखिलेश ने मंगाई 1000 ‘साइकिल’, ये है अखिलेश का प्लान!

1

उत्तरप्रदेश में हार के बाद से ही समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव अपनी पार्टी को लेकर इन दिनों काफी एक्टिव मूड में हैं. जी हां अभी हाल में ही अखिलेश यादव फैजाबाद में अपनी जनसभा के लिए गए थे. जहां उनके समर्थकों ने उनका जमकर स्वागत किया था. वहीँ इस बार उत्तर प्रदेश में प्रमुख विपक्षी दल सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव (former cm) ने BJP को टक्कर देने के लिए एक बड़ा दांव चला है.

अगले पेज पर पढ़े ये पूरी खबर…

जनसमस्याओं को लेकर करेंगे आंदोलन (former cm):

  • उत्तरप्रदेश में हार के बाद से ही पूर्व CM अखिलेश यादव ने परिवारवाद की तरफ ध्यान देना छोड़ दिया है.
  • बता दें कि वह इन दिनों अपनी पार्टी को लेकर काफी एक्टिव मूड में नजर आ रहे हैं.
  • अभी हाल में ही समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव फैजाबाद जनसभा में गए हुए थे.
  • जहाँ उन्होंने लखनऊ से फैजाबाद तक पूरी चुनावी यात्रा अपने विकास रथ में पूरी की थी.
  • वहीँ फैजाबाद जाकर उन्होंने स्वतंत्रता सेनानी राजबली यादव को श्रद्धांजली अर्पित की थी.
  • लेकिन खबरों के मुताबिक अब अखिलेश यादव जनसमस्याओं को लेकर साइकिल चलाकर आन्दोलन करेंगे.

साइकिल चलाकर आन्दोलन करेंगे अखिलेश:

  • बता दें कि उन्होंने कई बार कहा कि भाजपा की केन्द्र और राज्य दोनों सरकारें जनता की अपेक्षाओं पर खरी नहीं उतरी हैं.
  • अखिलेश कई बार बोल चुके हैं कि आम जनता का कोई पुरसाहाल नहीं है.
  • जनता की समस्याओं को लेकर सपा जल्द ही आन्दोलन शुरु करेगी.
  • खबरों के मुताबिक उन्होंने कहा है कि वह खुद बैट्री से चलने वाली साइकिल पर सवार होकर आन्दोलन करेंगे.
  • वहीँ इस आंदोलन के लिए कम से कम 1000 साईकिल मंगवाई गई हैं.
  • बता दें कि यह आन्दोलन राज्य के सभी हिस्सों में किया जाएगा.
  • क्योंकि भाजपा सरकार से पूरा प्रदेश त्रस्त है.

ये भी पढ़ें, असंभव हुआ संभव, यूपी में एक हुए ‘मायावती-अखिलेश’!

1

अखिलेश को देख पैरों में गिर गई थी ‘बूढ़ी दादी’ और फिर…

बीते दिनों गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में लगभग 65 लोगो की मौत हो गयी थी जिसमें भारी संख्या में बच्चे शामिल थे. सरकार ने इस घटना के बाद कॉलेज के प्रिंसिपल को हटा दिया था. वहीँ बीते दिन समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (former cm akhilesh) ने BRD मेडिकल कॉलेज पहुँच कर मृतकों के परिजनों से मुलाकात भी की थी. इस दौरान मृतक की बूढ़ी दादी अखिलेश के पैर पर गिर गई थी…

अगले पेज पर पढ़ें ये पूरी खबर…

बीते दिन गोरखपुर पहुंचे थे अखिलेश (former cm akhilesh):

  • बीआरडी मेडिकल कॉलेज में लगभग 35 बच्चों के मौत हो गयी थी.
  • इसके बाद सीएम योगी ने खुद गोरखपुर पहुँच कर उस मेडिकल कॉलेज का जायजा लिया था.
  • वहीँ बाद में उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव भी गोरखपुर पहुँचे हुए थे.
  • वहां पहुंच कर अखिलेश यादव ने बीआरडी मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण भी किया था.
  • इस दौरान वहां लोगों की भीड़ जमा हो गई थी.
  • इसलिए अखिलेश बड़ी मुश्किल से पीड़ित के घर में जा पाए थे.
  • बता दें कि इस दौरान वहीं, मृतक की दादी उनके पैरों पर गिर गई थी.

ये भी पढ़ें, औरैया में हुए लाठीचार्ज पर रामगोविंद चौधरी ने दिया ‘बड़ा बयान’!

जाने पूरा मामला:

  • मृतक बच्चे के पिता किशन गुप्ता ने कहा, अखिलेश जी (former cm akhilesh) आए तो मेरी बात नहीं हो पाई.
  • इतनी भीड़ थी कुछ भी सुन ही नहीं पाए.
  • कहा कि ”जैसे ही वो हमसे मिले भीड़ जमा हो गई और इतना हंगामा हो गई कि आवाज ही नहीं सुनाई दी.
  • वहीं, मृतक बच्चे की दादी इसरावती देवी अखिलेश के पैरों में गिर गई.
  • लेकिन अखिलेश ने तुरंत उनका हाथ पकड़ कर उठाया.
  • बूढी महिला इसरावती का कहना है कि अखिलेश ने उठाया और कहा कि जितनी हो सकेगी मदद करेंगे.

ये भी पढ़ें, मुलायम की करीबी श्वेता सिंह ने थामा बीजेपी का दामन!

ये भी पढ़ें, वीडियो: पुलिस वालों ने बार-बालाओं से लगवाए ठुमके!