राम नाम जपना गरीब का माल अपना मोदी का मिशन है-राहुल गांधी

कांग्रेस द्वारा आयोजित एक दिवसीय जन वेदना सम्मलेन में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को आड़े हाथों लिया.राहुल गाँधी बोले कांग्रेस डरो मत का नारा लगाती है.जबकि भारतीय जनता पार्टी डरो और डराओ का नारा  लगाती है.

मेरा नाम मोदी है मैं तुम्हारी ज़मीन छीन सकता है

  • राहुल गाँधी ने किसानों की ज़मीन छीने जाने पर ये बयान दिया है.
  • भारत एक अकलमंद देश है जिसने अंग्रेजों को भगाया है.
  • मोदी सरकार को भी अप ही लोग भागायेंगें.
  • राहुल गाँधी बोले नोट बंदी पर भारत के करोड़ों लोग लाइनों में खड़े थे.
  • किसी भी भ्रष्ट व्यक्ति को वहां खड़ा नहीं पाया गया.

आर्मी की देखा देखी किसानों पर मोदी की सर्जिकल स्ट्राइक

  • राहुल गांधी ने नोट बंदी को सर्जिकल स्ट्राइक कहा.
  • प्रधानमंत्री ने सोचा होगा की जब भारतीय आर्मी सीमा पर सर्जिकल स्ट्राइक कर सकती है.
  • तो मैं  देश की गरीब जनता पर सर्जिकल स्ट्राइक कर देता हूँ.
  • प्रधानमंत्री मोदी केवल डायलोग मारना जानते हैं.
  • मित्रों ये मित्रों वों के नाम पर वो बहुत कुछ कह जाते हैं.
  • राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर आरोपों की बरसात करते हुए कहा.
  • इस सूट बूट की सरकार की अलग ही फिलोसिफी  है.

राम नाम जपना गरीब का माल अपना मोदी का मिशन है

  • राहुल गाँधी ने भाजपा सरकार पर गरीबों का पैसा गबन करने का आरोप लगाया.
  • भारतीय जनता पार्टी देश को बर्बाद कर रही है.
  • भ्रष्टाचार फैला रही है.नफरत फैला रही है.
  • नोटबंदी को भारत में लागू करके देश की बर्बादी हो रही है.

 

प्रधानमन्त्री मोदी के लिए अच्छे चौराहे का चुनाव करने का समय आ गया है-अहमद पटेल

कांग्रेस ने आज एक दिवसीय जन संवेदना सम्मलेन पर मोर्चा खोला.तालकटोरा स्टेडियम में चल रहे इस कार्यक्रम को राहुल गाँधी संबोधित कर रहे हैं.कोंग्रेस के नेता अहमद पटेल ने मोदी पर ज़ोरदार हमला बोला.मोदी जी द्वारा कहा गया था की पचास दिन बाद अगर स्तिथि ठीक नहीं होगी तो आप जिस चौराहे पर बोलोगे मैं सज़ा को ख़ुशी ख़ुशी अपनाऊंगा.वक़्त आ गया है प्रधानमन्त्री मोदी के लिए एक अच्छे चौराहे का चुनाव करने की.

 

आज कांग्रेस भाजपा के खिलाफ खोलेगी जन वेदना सम्मेलन मोर्चा!

केंद्र सरकार की जनविरोधी योजनाओं के खिलाफ इंडियन नेशनल कांग्रेस आज एक  दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित करेगी जिसमें केंद्र के खिलाफ आन्दोलन पर रणनीति तैयार की जायेगी.कल राहुल गंधी के छुट्टी से लौटने के बाद उनके आवास पर एक बैठक हुई जिसमे सोनिया गांधी,प्रियंका गांधी और कैप्टेन अमरिंदर सिंह मौजूद थे.इस बैठक में नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस में शामिल होने पर भी चर्चा हुई.

राहुल गांधी की अध्यक्षता में राष्ट्रीय सम्मलेन आयोजित

  • कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी कान्ग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित कर सकते हैं.
  • भारतीय जनता पार्टी और केंद्र के खिलाफ मोर्चा खोलने पर रणनीति तय होगी.
  • कांग्रेस महासचिव सी पी जोशी ने जानकारी दी की सम्मलेन तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित होगा.
  • सम्मलेन का नाम जन वेदना सम्मलेन होगा.
  • पार्टी के राष्ट्रीय नेता,राज्य नेता सांसद विधायक अध्यक्ष और जिला अध्यक्ष भाग लेंगें.
  • आन्दोलन करने का मकसद केंद्र द्वारा लायी गई नोट बंदी पर जारी परेशानियों को उजागर करना होगा.
  • भाजपा द्वारा चुनावों से पहले लाया जा रहा बजट भी इस आन्दोलन का मुद्दा रहेगा.
  • केंद्र सरकार द्वारा लाये गए जन विरोधी फैसलों का विरोध करेगी कांग्रेस.
  • नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस में एक दो दिन में शामिल हो सकते हैं.
  • भारतीय जनता पार्टी का साथ छोड़ कर सिद्धू इंडियन नेशनल कांग्रेस में शामिल हो रहे हैं.

राहुल गांधी का कांग्रेस के 132वें स्थापना दिवस पर संबोधन !

कांग्रेस भारत की सबसे पुरानी पार्टी है.आज कांग्रेस का 132वा स्थापना दिवस है.आज का दिन कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के लिए बेहद ख़ास है.

राहुल गाँधी ने स्थापना दिवस पर फहराया झंडा

  • इंडियन नेशनल कांग्रेस के स्थापना दिवस के कार्यक्रम में पहुंचे राहुल गाँधी.
  • पहली बार राहुल गाँधी पार्टी नेताओं और सदस्यों को संबोधित कर रहे हैं.
  • अपने संबोधन में राहुल गाँधी ने मोदी पर ज़ोरदार हमला बोला है.
  • नोट बंदी पर उन्होंने प्रधानमंत्री को घेरा है.
  • राहुल गाँधी बोले प्रधानमंत्री ने बोला था कि मैं देश के लिए यज्ञ कर रहा हूँ.
  • देश में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ यज्ञ कर रहा हूँ.
  • राहुल गांधी ने बोला इस यज्ञ में आम आदमी की बली चढ़ रही है.

कांग्रेस पार्टी आम जनता की है वो लोगों की सुनती है

  • इंडियन नेशनल कांग्रेस पार्टी के स्थापना दिवस पर राहुल गांधी बोले.
  • कांग्रेस पार्टी ने स्वराज का असली मतलब बताया  है.
  • राहुल गाँधी पिछले कुछ महीनों से  पार्टी की कमान संभाल रहे हैं.
  • कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी का बिगड़ता स्वास्थ्य भी इसका कारण है.
  • इसी महीने एक अहम संसदीय दल की बैठक की अध्यक्षता राहुल गांधी ने की थी.
  • उस बैठक में सोनिया गाँधी मौजूद नहीं थीं.

साल 1885 में हुई थी कांग्रेस की स्थापना

  • ब्रिटिश राज्य में ही इस पार्टी ने अपनी महत्वता बढ़ा ली थी.
  • आजादी यानी 1947 के बाद भारत की प्रमुख पार्टी कांग्रेस बन गई थी.
  • 1947 से साल 2016 तक इस पार्टी ने छह बार चुनावों में पूर्ण बहुमत से जीत दर्ज की है.
  • साल 2014 चुनाव कांग्रेस के लिए बेहद निराशाजनक रहा है.