मरे वो किसान हैं जो किसान कम ,सब्सिडी ज्यादा चाटने का व्यापार करते हैं-भाजपा विधायक

1

हर राजनीतिक पार्टी खुद को किसानों का हितैषी बताकर नयी नयी योजनायें लागू करती है साथ ही ये भी जताती रहती है कि हम किसानों के साथ हैं.इसी के उलट मध्य प्रदेश में भाजपा के एक विधायक ने किसानों की आत्महत्या पर विवादित बयान दे दिया जिससे चुनावी माहौल में सुगबुगाहट छा गयी.

भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा का बयान

  • मध्य प्रदेश के विधायक रामेश्वर शर्मा ने किसानों की बढ़ती आत्महत्या पर बयान दियया है.
  • चुनाव के समय में ऐसा बयान भाजपा पर भारी पड़ सकता है.
  • भाजपा के स्टार प्रचारक किसानों के हित में बयान देते हैं.
  • लेकिन रामेश्वर शर्मा ने इस तरह की बयानबाजी कर अपने पैर पर कुल्हाड़ी मार ली है.
  • बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा है कि ‘हमने अच्छे-अच्छे पैसे वालों को मरते देखा है.
  • पर ओरिजिनल किसान को आज भी लड़ते देखा है पर मरते नहीं देखा…मरे वो किसान हैं .
  • जो किसान कम और सब्सिडी ज्यादा चाटने का व्यापार करते हैं.’

भोपाल में कार्यक्रम के दौरान दिया बयान

  • रामेश्वर शर्मा ने भोपाल में एक कार्यक्रम के दौरान ये बयान दिया है.
  • जब बयान पर बवाल हुआ तो सफाई भी पेश की.
  • सफाई पेश करने के बाद भी मामला शांत नहीं हुआ.
  • मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से विपक्ष तक लोग गर्म होते नजर आये.
  • रामेश्वर शर्मा भोपाल हुज़ूर से विधायक हैं.
  • इससे पहले भी कई मामलों में घिर चुके हैं भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा.
  • अब भाजपा इस मामले पर क्या करती है ये बहुत अहम होगा.
1

राम नाम जपना गरीब का माल अपना मोदी का मिशन है-राहुल गांधी

कांग्रेस द्वारा आयोजित एक दिवसीय जन वेदना सम्मलेन में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को आड़े हाथों लिया.राहुल गाँधी बोले कांग्रेस डरो मत का नारा लगाती है.जबकि भारतीय जनता पार्टी डरो और डराओ का नारा  लगाती है.

मेरा नाम मोदी है मैं तुम्हारी ज़मीन छीन सकता है

  • राहुल गाँधी ने किसानों की ज़मीन छीने जाने पर ये बयान दिया है.
  • भारत एक अकलमंद देश है जिसने अंग्रेजों को भगाया है.
  • मोदी सरकार को भी अप ही लोग भागायेंगें.
  • राहुल गाँधी बोले नोट बंदी पर भारत के करोड़ों लोग लाइनों में खड़े थे.
  • किसी भी भ्रष्ट व्यक्ति को वहां खड़ा नहीं पाया गया.

आर्मी की देखा देखी किसानों पर मोदी की सर्जिकल स्ट्राइक

  • राहुल गांधी ने नोट बंदी को सर्जिकल स्ट्राइक कहा.
  • प्रधानमंत्री ने सोचा होगा की जब भारतीय आर्मी सीमा पर सर्जिकल स्ट्राइक कर सकती है.
  • तो मैं  देश की गरीब जनता पर सर्जिकल स्ट्राइक कर देता हूँ.
  • प्रधानमंत्री मोदी केवल डायलोग मारना जानते हैं.
  • मित्रों ये मित्रों वों के नाम पर वो बहुत कुछ कह जाते हैं.
  • राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर आरोपों की बरसात करते हुए कहा.
  • इस सूट बूट की सरकार की अलग ही फिलोसिफी  है.

राम नाम जपना गरीब का माल अपना मोदी का मिशन है

  • राहुल गाँधी ने भाजपा सरकार पर गरीबों का पैसा गबन करने का आरोप लगाया.
  • भारतीय जनता पार्टी देश को बर्बाद कर रही है.
  • भ्रष्टाचार फैला रही है.नफरत फैला रही है.
  • नोटबंदी को भारत में लागू करके देश की बर्बादी हो रही है.

 

प्रधानमन्त्री मोदी के लिए अच्छे चौराहे का चुनाव करने का समय आ गया है-अहमद पटेल

कांग्रेस ने आज एक दिवसीय जन संवेदना सम्मलेन पर मोर्चा खोला.तालकटोरा स्टेडियम में चल रहे इस कार्यक्रम को राहुल गाँधी संबोधित कर रहे हैं.कोंग्रेस के नेता अहमद पटेल ने मोदी पर ज़ोरदार हमला बोला.मोदी जी द्वारा कहा गया था की पचास दिन बाद अगर स्तिथि ठीक नहीं होगी तो आप जिस चौराहे पर बोलोगे मैं सज़ा को ख़ुशी ख़ुशी अपनाऊंगा.वक़्त आ गया है प्रधानमन्त्री मोदी के लिए एक अच्छे चौराहे का चुनाव करने की.

 

आज कांग्रेस भाजपा के खिलाफ खोलेगी जन वेदना सम्मेलन मोर्चा!

केंद्र सरकार की जनविरोधी योजनाओं के खिलाफ इंडियन नेशनल कांग्रेस आज एक  दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित करेगी जिसमें केंद्र के खिलाफ आन्दोलन पर रणनीति तैयार की जायेगी.कल राहुल गंधी के छुट्टी से लौटने के बाद उनके आवास पर एक बैठक हुई जिसमे सोनिया गांधी,प्रियंका गांधी और कैप्टेन अमरिंदर सिंह मौजूद थे.इस बैठक में नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस में शामिल होने पर भी चर्चा हुई.

राहुल गांधी की अध्यक्षता में राष्ट्रीय सम्मलेन आयोजित

  • कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी कान्ग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित कर सकते हैं.
  • भारतीय जनता पार्टी और केंद्र के खिलाफ मोर्चा खोलने पर रणनीति तय होगी.
  • कांग्रेस महासचिव सी पी जोशी ने जानकारी दी की सम्मलेन तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित होगा.
  • सम्मलेन का नाम जन वेदना सम्मलेन होगा.
  • पार्टी के राष्ट्रीय नेता,राज्य नेता सांसद विधायक अध्यक्ष और जिला अध्यक्ष भाग लेंगें.
  • आन्दोलन करने का मकसद केंद्र द्वारा लायी गई नोट बंदी पर जारी परेशानियों को उजागर करना होगा.
  • भाजपा द्वारा चुनावों से पहले लाया जा रहा बजट भी इस आन्दोलन का मुद्दा रहेगा.
  • केंद्र सरकार द्वारा लाये गए जन विरोधी फैसलों का विरोध करेगी कांग्रेस.
  • नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस में एक दो दिन में शामिल हो सकते हैं.
  • भारतीय जनता पार्टी का साथ छोड़ कर सिद्धू इंडियन नेशनल कांग्रेस में शामिल हो रहे हैं.

भाजपा की ‘चुनावी नैया’ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भरोसे!

उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव का पहला चरण 11 फरवरी से शुरू हो रहा है, वहीँ चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दोनों को छोड़कर सभी दलों ने लगभग अपने प्रत्याशियों की घोषणा कर चुके हैं।

भाजपा प्रधानमंत्री मोदी भरोसे:

  • यूपी के विधानसभा चुनाव अब सिर पर हैं, जिसके लिए सभी दलों ने अपनी-अपनी कमर कस ली है।
  • वहीँ भारतीय जनता पार्टी ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं।
  • विधानसभा सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा और मुख्यमंत्री के चेहरे पर पार्टी ने अपना नजरिया साफ़ नहीं किया है।
  • फिलहाल तो भाजपा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्र सरकार के काम और उनकी योजनाओं के भरोसे ही चुनाव में उतर रही है।
  • प्रधानमंत्री मोदी पहले ही लगभग एक दर्जन रैलियां सूबे के सभी भागों में कर चुके हैं।
  • वहीँ ऐसा भी नहीं है कि, पीएम मोदी कि लोकप्रियता में किसी प्रकार की कोई कमी आई हो।
  • लेकिन, सूबे की जनता ये बात जानती है कि, कुछ भी हो जाये मोदी यहाँ के मुख्यमंत्री नहीं बनने वाले हैं।

भाजपा का एक ही राग:

  • पार्टी शुरू से ही प्रत्याशियों और खासकर मुख्यमंत्री चेहरे के नाम पर बचती नजर आती है।
  • यही कारण है कि, मुख्यमंत्री के चेहरे के नाम पर पार्टी पदाधिकारी हर बार,
  • “मुख्यमंत्री कार्यकर्ताओं में से कोई होगा का रटा रटाया राग अलापते हैं”।

ये भी पढ़ें: बसपा के ‘अपराध मुक्त यूपी’ की मुहिम में उसी के प्रत्याशी बने रोड़ा!