राम नाम जपना गरीब का माल अपना मोदी का मिशन है-राहुल गांधी

कांग्रेस द्वारा आयोजित एक दिवसीय जन वेदना सम्मलेन में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को आड़े हाथों लिया.राहुल गाँधी बोले कांग्रेस डरो मत का नारा लगाती है.जबकि भारतीय जनता पार्टी डरो और डराओ का नारा  लगाती है.

मेरा नाम मोदी है मैं तुम्हारी ज़मीन छीन सकता है

  • राहुल गाँधी ने किसानों की ज़मीन छीने जाने पर ये बयान दिया है.
  • भारत एक अकलमंद देश है जिसने अंग्रेजों को भगाया है.
  • मोदी सरकार को भी अप ही लोग भागायेंगें.
  • राहुल गाँधी बोले नोट बंदी पर भारत के करोड़ों लोग लाइनों में खड़े थे.
  • किसी भी भ्रष्ट व्यक्ति को वहां खड़ा नहीं पाया गया.

आर्मी की देखा देखी किसानों पर मोदी की सर्जिकल स्ट्राइक

  • राहुल गांधी ने नोट बंदी को सर्जिकल स्ट्राइक कहा.
  • प्रधानमंत्री ने सोचा होगा की जब भारतीय आर्मी सीमा पर सर्जिकल स्ट्राइक कर सकती है.
  • तो मैं  देश की गरीब जनता पर सर्जिकल स्ट्राइक कर देता हूँ.
  • प्रधानमंत्री मोदी केवल डायलोग मारना जानते हैं.
  • मित्रों ये मित्रों वों के नाम पर वो बहुत कुछ कह जाते हैं.
  • राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर आरोपों की बरसात करते हुए कहा.
  • इस सूट बूट की सरकार की अलग ही फिलोसिफी  है.

राम नाम जपना गरीब का माल अपना मोदी का मिशन है

  • राहुल गाँधी ने भाजपा सरकार पर गरीबों का पैसा गबन करने का आरोप लगाया.
  • भारतीय जनता पार्टी देश को बर्बाद कर रही है.
  • भ्रष्टाचार फैला रही है.नफरत फैला रही है.
  • नोटबंदी को भारत में लागू करके देश की बर्बादी हो रही है.

 

प्रधानमन्त्री मोदी के लिए अच्छे चौराहे का चुनाव करने का समय आ गया है-अहमद पटेल

कांग्रेस ने आज एक दिवसीय जन संवेदना सम्मलेन पर मोर्चा खोला.तालकटोरा स्टेडियम में चल रहे इस कार्यक्रम को राहुल गाँधी संबोधित कर रहे हैं.कोंग्रेस के नेता अहमद पटेल ने मोदी पर ज़ोरदार हमला बोला.मोदी जी द्वारा कहा गया था की पचास दिन बाद अगर स्तिथि ठीक नहीं होगी तो आप जिस चौराहे पर बोलोगे मैं सज़ा को ख़ुशी ख़ुशी अपनाऊंगा.वक़्त आ गया है प्रधानमन्त्री मोदी के लिए एक अच्छे चौराहे का चुनाव करने की.

 

आज कांग्रेस भाजपा के खिलाफ खोलेगी जन वेदना सम्मेलन मोर्चा!

केंद्र सरकार की जनविरोधी योजनाओं के खिलाफ इंडियन नेशनल कांग्रेस आज एक  दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित करेगी जिसमें केंद्र के खिलाफ आन्दोलन पर रणनीति तैयार की जायेगी.कल राहुल गंधी के छुट्टी से लौटने के बाद उनके आवास पर एक बैठक हुई जिसमे सोनिया गांधी,प्रियंका गांधी और कैप्टेन अमरिंदर सिंह मौजूद थे.इस बैठक में नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस में शामिल होने पर भी चर्चा हुई.

राहुल गांधी की अध्यक्षता में राष्ट्रीय सम्मलेन आयोजित

  • कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी कान्ग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित कर सकते हैं.
  • भारतीय जनता पार्टी और केंद्र के खिलाफ मोर्चा खोलने पर रणनीति तय होगी.
  • कांग्रेस महासचिव सी पी जोशी ने जानकारी दी की सम्मलेन तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित होगा.
  • सम्मलेन का नाम जन वेदना सम्मलेन होगा.
  • पार्टी के राष्ट्रीय नेता,राज्य नेता सांसद विधायक अध्यक्ष और जिला अध्यक्ष भाग लेंगें.
  • आन्दोलन करने का मकसद केंद्र द्वारा लायी गई नोट बंदी पर जारी परेशानियों को उजागर करना होगा.
  • भाजपा द्वारा चुनावों से पहले लाया जा रहा बजट भी इस आन्दोलन का मुद्दा रहेगा.
  • केंद्र सरकार द्वारा लाये गए जन विरोधी फैसलों का विरोध करेगी कांग्रेस.
  • नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस में एक दो दिन में शामिल हो सकते हैं.
  • भारतीय जनता पार्टी का साथ छोड़ कर सिद्धू इंडियन नेशनल कांग्रेस में शामिल हो रहे हैं.

विधानसभा चुनाव में तुरुप का इक्का साबित हो सकती है प्रियंका गाँधी !

देश के पांच राज्यों में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों में प्रियंका गांधी वाड्रा बड़ी भूमिका निभा सकती हैं। कांग्रेस मुख्यालय के बाहर लगे पोस्टरों को देख कर इस बात का अंदाजा साफ़ लगाया जा सकता है। कांग्रेस मुख्यालय के बाहर लगे पोस्टरों में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ प्रियंका गांधी की तस्वीर लगी हुई है।

कांग्रेस के लिए तुरुप का इक्का साबित हो सकती हैं प्रियंका गाँधी

  • देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।
  • ऐसे में कांग्रेस पार्टी के लिए प्रियंका गांधी वाड्रा बड़ी भूमिका निभा सकती हैं।
  • ख़ास कर के यूपी के लिए प्रियंका के प्रचार को ही तुरुप का इक्का माना जा रहा है।
  • बात दें की कांग्रेस मुख्यालय के बाहर लगे पोस्टरों में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ प्रियंका गांधी की तस्वीर लगी हुई है।
  • जिसे देख कर प्रियंका के राजनीतिक भविष्य की एक बार फिर चर्चा शुरू हो गई है।
  • गौरतलब हो की उत्तर प्रदेश के चुनाव में प्रियंका कांग्रेस के लिए रायबरेली, अमेठी में प्रचार करती रही हैं।
  • चर्चा है कि इस बार फिर से कांग्रेस पार्टी राज्य भर में प्रयंका से प्रचार कराएगी।
  • हालांकि यूपी में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर भी कई मौकों पर यह बात कही है।
  • कि कांग्रेस पार्टी चाहती है कि प्रियंका हमारे लिए प्रचार करें लेकिन ये उन्हें ही तय करना है।

ये भी पढ़ें:‘कालाधन बना पार्टीधन’ सभी पार्टियां अपना खाता करें सार्वजनिक!

नोटबंदी मुद्दे को लेकर होने वाली मीटिंग में टूटी विपक्ष की एकजुटता !

नोटबंदी के मुद्दे को लेकर विपक्ष शुरू से ही मोदी सरकार पर हमला करता रहा है। बता दें कि नोटबंदी के बाद हालात सामान्य करने के लिए पीएम मोदी ने देश वासियों से 50 दिन का समय माँगा था। ये अवधि  30 दिसंबर को समाप्त होने जा रही है। ऐसे में 27 दिसंबर को दिल्ली के कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में विपक्ष एक बार फिर एकजुट होकर सरकार को घेरने की योजना बना रहा है। लेकिन अब इस एकजुटता में फूट पड़ती दिख रही है।

वाम दल और जेडीयू के इस मीटिंग में शामिल होने की संभावना अब ना के बराबर

  • नोटबंदी के मामले को लेकर विपक्ष शुरू से ही मोदी सरकार पर हमला करता रहा है।
  • तृणमूल कांग्रेस की मुखिया ममता बनर्जी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने नोटबंदी के मुद्दे को लेकर सड़क से संसद तक मोदी सरकार पर करार प्रहार करते आये हैं।
  • गौरतलब है की नोटबंदी लागू होने के 50 दिन पूरे होने वाले हैं।
  • ऐसे में विपक्ष फिर से एक जुट होकर मोदी सरकार को घेरने की योजना बना रहा है।
  • पहले 26 दिसंबर को कांग्रेस पार्टी के वॉर रूम में 100 से ज्यादा नेता इकठ्ठा हो कर नोटंबदी पर चर्चा करेंगे।
  • इसके बाद 27 दिसंबर को दिल्ली के कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में 16 विपक्षी  दलों की एक मीटिंग होनी है।
  • इस मीटिंग में नोटबंदी के मुद्दे ओ लेकर आगे की रणनीति पर विचार करने का फैसला किया था।
  • लेकिन अब इस मीटिं में वाम दल और जेडीयू के शामिल होने की उम्मीद बहुत ही कम नज़र आ रही है।
  • CPI प्रमुख सीताराम येचुरी ने कहा कि वो इस जॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल नहीं होंगे।
  • उन्होंने ये भी कहा कि योजना ठीक से नहीं बनाई गई है।
  • येचुरी ने ये भी कहा की यदि प्रधानमंत्री नए घोषणा लेकर आते हैं तो वाम दल प्रदर्शन करेंगे।
  • वहीँ जेडीयू नेता केसी त्यागी का कहना है कि इस बैठक के पीछे की असली भावना के बारे में उन्हें पता नहीं है।
  • त्यागी का ये भी कहना है कि पार्टियों की मीटिंग के लिए कॉमन एजेंडा, जो कि होना चाहिए नहीं मिला।

ये भी पढ़ें: जब आम आदमी पार्टी में एक साथ शामिल हुआ बलात्कार आरोपी और इन्साफ की लड़ाई लड़ने वाला पिता!

मोदी सारकार पर हमला करने को तैयार प्रियंका गांधी वाड्रा !

नोटबंदी के मुद्दे को लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शुरू से ही मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। लेकिन अब इस मुद्दे को लेकर मोदी सरकार पर प्रियंका गांधी वाड्रा भी हमला बोलेंगी। बता दें की नोटबंदी के मुद्दे को लेकर मोदी सरकार को घेरने के लिए कांग्रेस पार्टी द्वारा बनाई गई कमेटी में प्रियंका गांधी वाड्रा का भी नाम सामिल है। बता दें की आगामी यूपी चुनाव को लेकर भी प्रियंका काफी सक्रीय हैं।

नोटबंदी पर कांग्रेस का रुख तय करने वाली समिति का हिस्सा बनी प्रियंका गांधी वाड्रा

  • राहुल गांधी शुरु से ही नोटबंदी के खिलाफ पीएम मोदी पर प्रहार करते आये हैं।
  • लेकिन अब इस मुद्दे पर उनकी बहन प्रियंका गाँधी वाड्रा भी मोदी सरकार पर हमला करेंगी।
  • गौरतलब हो की नोटबंदी पर पार्टी का रुख तय तय करने वाली समिति में अब प्रियंका गाँधी वाड्रा को भी शामिल किया गया है।
  • बता दें कि नोटबंदी के बाद हालात सामान्य करने के लिए पीएम मोदी ने देश वासियों से 50 दिन का समय माँगा था।
  • ये अवधि  30 दिसंबर को समाप्त हो रही है।
  • ऐसे में विपक्ष एक जुट होकर फिर से मोदी सरकार हमला बोलने की योजना बना रहा है।
  •  बता दें की 27 दिसंबर को दिल्ली के कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में विपक्षी दलों फिर से इकठ्ठा होने का फैसला किया है।
  • जहाँ पर 16 विपक्षी दलों के नेता एक जुट होकर आगे की रणनीति पर विचार करने का फैसला करेंगे।
  • यही नही इसके पहले 26 दिसंबर को कांग्रेस पार्टी के वॉर रूम में 100 से ज्यादा नेता इकठ्ठा हो कर नोटंबदी पर चर्चा करेंगे।

ये भी पढ़ें :सातवां वेतन आयोग : कर्मचारी संघों का 15 फरवरी को हड़ताल का ऐलान!