सपा में विधानमंडल दल के नेता को लेकर चर्चा हुई तेज, इनका नाम सबसे ऊपर!

उत्तर प्रदेश चुनाव में बड़ी शिकस्त झेलने वाली समाजवादी पार्टी में विधानमंडल के नेता के चयन को लेकर चर्चा तेज हो गई है। विधानसभा चुनाव में गठबंधन के साथ मिलकर 300 से ज्यादा सीटें जीतने का दावा करने वाली सपा व कांग्रेस महज 54 सीटों पर सिमट गई। इसमें से सपा को 47 सीटों से ही संतोष करना पड़ा। हालांकि अखिलेश यादव ने अभी हार नहीं मानी है और इस हार को लेकर समीक्षा करने में जुट गए हैं।

अगले पेज पर जान इस नेता का नाम

बैठक में तय होगा नाम

  • समाजवादी पार्टी में इस समय चुनाव में इतनी बड़ी हार को लेकर समीक्षा का दौर चल रहा है।
  • वहीं 47 सीटों पर जीतने वाली सपा में विधानमंडल के नेता के चुनाव को लेकर चर्चा तेज हो गई है।
  • इसके लिए 16 मार्च को सभी नवनिर्वाचित विधायकों की सपा कार्यालय में बैठक होगी।
  • इस बैठक की अध्यक्षता सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव करेगें।

इनके नाम पर लग सकती है मोहर

  • सपा एक बार फिर हार की समीक्षा कर 2019 और 2022 चुनाव की तैयारी कर रही है।
  • वहीं फिलहाल सपा के सामने सबसे पहले विधानमंडल का नेता चुनने की है।
  • विधानमंडल के नेता के तौर पर आजम खान का नाम सबसे ऊपर है।
  • वहीं राम गोविंद चौधरी का नाम दूसरे नंबर पर रखा गया है।
  • फिलहाल सपा अन्य नेताओं के नाम पर भी विचार कर रहे हैं।

विधानसभा चुनाव नतीजे : जानें किस राज्य में कौन बनने जा रहा है ‘बाहुबली’!

देश में पांच राज्यों में विधानसभा के चुनाव पूर्ण हो चुके हैं. इन राज्यों में गत चार फरवरी से चुनाव शुरू हुए थे. जिसके बाद अब इन चुनावों के नतीजे घोषित हो रहे हैं. सभी राजनैतिक पार्टियां अपनी जीत की कामना करते हुए इन नतीजों का इंतज़ार कर रहीं हैं. बता दें कि उत्तर प्रदेश समेत उत्तराखंड, गोवा, पंजाब व मणिपुर में विधानसभा की सीटों के लिए चुनाव हुए थे. जिसमे उत्तर प्रदेश की 403 सीट, उत्तराखंड की 70 सीट, पंजाब की 117 सीट, मणिपुर की 60 सीटगोवा की 40 सीटों के मतदान हुआ था.

जाने इन राज्यों में किसकी हो रही है जीत :

पंजाब(117 सीटें) :

  • शिरोमणि अकाली दल+ बीजेपी(गठबंधन)18 सीटें
  • पंजाब कांग्रेस-77 सीटें
  • आम आदमी पार्टी-20 सीटें
  • अन्य-02
  • रुझान-117/117

उत्तराखंड(70 सीटें) :

  • भारतीय जनता पार्टी-56 सीटें
  • उत्तराखंड कांग्रेस-12 सीटें
  • अन्य-02 सीटें
  • रुझान-70/70

मणिपुर(60 सीटें) :

  • भारतीय जनता पार्टी-21 सीटें
  • मणिपुर कांग्रेस-27 सीटें
  • नागा पीपल्स फ्रंट-04 सीटें
  • अन्य-08 सीटें
  • रुझान-60/60

गोवा(40 सीटें) :

  • भारतीय जनता पार्टी-13 सीटें
  • कांग्रेस-17 सीटें
  • अन्य-10 सीटें
  • रुझान-40/40

जाने किस राज्य में हुई किसकी जीत :

  • पंजाब की 117 सीटों पर हुए मतदान में पंजाब कांग्रेस ने भारी बहुमत के साथ जीत हांसिल की है.
  • वहीँ उत्तराखंड की 70 विधानसभा सीटों के लिए होने वाले मतदान में बीजेपी ने भारी बहुमत के साथ जीत हांसिल की है.
  • इसके अलावा गोवा राज्य में 40 सीटों पर होने वाले मतदान के बाद अब नतीजों में गोवा कांग्रेस नंबर वन पार्टी बनी है.
  • इसके अलावा मणिपुर में भी कांग्रेस को बहुमत नहीं मिल सकी है और वह नंबर वन पार्टी बनी है.

बसपा नेता बज्मी सिद्दीकी पर लगा गैंगरेप का आरोप पुलिस ने हटाया!

उत्तर प्रदेश चुनाव नतीजे घोषित होने से ठीक एक दिन पहले बसपा और पार्टी के नेता बज्जी सिद्दीकी को बड़ी राहत मिली है। गैंगरेप के आरोप में जेल में बंद बसपा के अयोध्या से प्रत्याशी बज्मी सिद्दीकी और उसके साथियों पर से पुलिस ने गैंगरेप का आरोप हटा दिया है। हालांकि मेडिकल रिपोर्ट में पीड़ित महिला के साथ मारपीट की पुष्टि हुई है। ऐसे में बसपा प्रत्याशी अभी जांच पूरी होने तक जेल में बंद है।

बसपा प्रत्याशी ने किया था सरेंडर

  • अयोध्या से बसपा प्रत्याशी बज्मी सिद्दिकी पर पीड़िता ने फरवरी में गैंगरेप करने का आरोप लगाया था।
  • बज्मी सहित उनके 7 साथियों पर गैंगरेप का आरोप लगा है।
  • इस मामले में 6 आरोपियों को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी।
  • इसके बाद 3 मार्च को बज्मी सिद्दिकी ने कोर्ट के सामने सरेंडर कर दिया था।

पीड़िता के आरोप

  • पीड़िता के आरोप के मुताबिक बीते 23 फरवरी की रात बज्मी अपने साथियों के साथ उसके घर पहुंचे।
  • वहां पीड़िता और उसके परिवार के साथ जमकर मारपीट की गई।
  • इसके बाद प्रत्याशी समेत सभी साथियों ने उसके साथ गैंगरेप किया।
  • पीड़िता के आरोप के मुताबिक उसके साथ दूसरी बार यह वारदात की गई।
  • उसने इससे पहले भी बसपा प्रत्याशी और उसके साथियों के खिलाफ रेप केस दर्ज कराया था।
  • लेकिन पुलिस ने इस मामले से बसपा प्रत्याशी का नाम हटा दिया था।

छठें चरण के चुनाव के दिन ही शिवपाल ने किया यह ट्वीट!

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों के लिए सभी पार्टियां अपनी पूरी ताकत झोंक कर सरकार बनाने में लगी हुई है। इसी क्रम में सत्ताधारी दल समाजवादी पार्टी भी सत्ता में अपनी दूसरी पारी की शुरुआत के लिए पूरी तरह तैयार है। मगर इस बीच शिवपाल यादव का एक ट्वीट आया है जो कई नयी बातें खड़ी कर रहा है।

शिवपाल यादव ने की मतदान की अपील :

  • सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव लगातार पार्टी प्रत्याशियों के लिए जनसमर्थन हासिल करने में जुटे हुए है।
  • मगर इस पूरे चुनाव अभियान में अखिलेश को डिम्पल के अलावा अन्य किसी बड़े पार्टी नेता का साथ नहीं मिला है।
  • पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने भी पार्टी के प्रचार अभियान से लगातार दूरी बनाये रखी है।
  • आज छठवें चरण के मतदान के दिन शिवपाल यादव ने एक ट्वीट किया है।
  • उन्होंने कहा कि आज के मतदान में सभी को शामिल अवश्य होना चाहिए।
  • साथ ही उन्होंने कहा कि सभी लोग लोकतंत्र के इस उत्सव में शामिल हों और भारी संख्या में मतदान करें।
  • आपको बता दें कि यूपी विधानसभा चुनाव अब अपने अंतिम चरण में पहुँच चुका है।
  • 5 राज्यों में हुए चुनावों के नतीजे एक साथ 11 मार्च को घोषित किये जाएँगे।

मुलायम सिंह को अखिलेश ने दिया राजनीतिक वनवास-सुनील सिंह

उत्तर प्रदेश चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी में हुआ हाईवोल्टेज परिवार के बिखराब और चुनाव चिन्ह की खिचतान का ड्रामा खत्म नहीं हुआ है। लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह ने मुलायम सिंह के सार्वजनिक मंचों से गायब होने को लेकर बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है। सुनील सिंह ने आरोप लगाया है कि नेताजी को उन्हीं के करीबियों ने नज़रबंद कर लिया है। साथ ही इशारों में अखिलेश यादव पर इसका आरोप लगाते हुए जमकर वार किया।

अखिलेश ने दिया पिता को राजनीतिक वनवास

  • सुनील सिंह का आरोप है कि 25 साल में पार्टी बनाने वाले नेता जी आज कल नज़रबंद है।
  • उन्होंने कहा कि नेता जी को राजनीतिक वनवास दे दिया गया है।
  • नेताजी शिवपाल और अपर्णा की जनसभा के अलावा कहीं नहीं दिखें।
  • उन्हें उनके पुत्र के द्वारा राजनीतिक वनवास पर भेज दिया गया है।
  • उन्होंने सवाल किया कि क्या वजह है कि नेता जी इस चुनाव में सक्रिय नहीं हैं।

राजनीतिक वनवास छोड़कर मैदान में आये नेताजी

  • सुनील सिंह ने कहा कि नेताजी अपना राजनीतिक वनवास छोड़कर मैदान में आये।
  • उन्होंने कहा कि जनता चाहती है कि नेता जी बाहर आये।
  • सुनील सिंह ने कहा कि नेता जी बहुत परेशान है इस उनका बाहर आना जरूरी है।
  • उन्होंने कहा कि नेता जी लोक दल के रहे है।
  • ऐसे में मैं चाहता हूं कि वह फिर लोक दल के साथ आये और पूरे देश में आगे बढ़ाये।
  • उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह को लोकदल राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद देने को तैयार है।

नवनीत सहगल पर साधा निशाना

  • प्रेसवार्ता के दौरान रघुनन्दन सिंह काका ने नवनीत सहगल पर भी निशाना साधा।
  • उन्होंने कहा कि इस सरकार में एक कोई सहगल है जो प्रेस और टीवी मैनेज करता है।
  • वहीं उन्होंने अखिलेश यादव के लिए कहा कि शायद एक्सप्रेस वे के घोटाले में चुनाव बाद उन्हें जेल भी जाना पड़ जायेगा।

विजय कुमार मिश्रा मंत्रिमंडल से किए गए बाहर!

उत्तर प्रदेश चुनाव के बीच में सपा का साथ छोड़कर बसपा में शामिल होने वाले विजय कुमार मिश्रा को मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया गया है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के यादव कि सिफारिश के बाद विजय कुमार मिश्रा को मंत्रिमंडल से हटाने की मांग राज्यपाल राम नाईक ने स्वीकार कर ली है।

मंत्रिमंडल से बाहर हुए विजय कुमार मिश्रा

  • विजय कुमार मिश्रा ने कुछ दिन पहले सपा छोड़कर बसपा ज्वाइंन कर ली थी।
  • बसपा ज्वाइंन करते ही विजय ने अखिलेश यादव के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था।
  • विजय कुमार मिश्रा ने बसपा ज्वाइंन करने से पहले सपा और मंत्री पद से इस्तीफा,
  • अखिलेश यादव और राज्यपाल को भेज दिया था।
  • लेकिन अखिलेश यादव की तरफ से इस पर सहमति न आने पर राज्यपाल ने इस पर कोई फैसला नहीं लिया था।
  • वहीं शनिवार को अखिलेश यादव ने मिश्रा को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने के लिए राज्यपाल से सिफारिश की थी।
  • इस सिफारिश को राज्यपाल ने स्वीकार करते हुए, विजय कुमार मिश्रा को मंत्रिमंडल से हटा दिया है।

आजम खान एनडीए में हो जाएं शामिल-अनुप्रिया पटेल

उत्तर प्रदेश चुनाव में नेताओं के बीच जुबानी जंग जारी है। यूपी विधानसभा चुनाव में सभी पार्टियों के नेता एक-दूसरे पर जमकर आरोप लगा रहे हैं, साथ ही नसीहत देने का सिलसिला भी जारी है। इसी बीच केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने सपा के कैबिनेट मंत्री आजम खान को नसीहत दी है।

अनुप्रिया पटेल का सपा-कांग्रेस पर हमला

  • विवादित बयानों के कारण चर्चा में रहने वाले आजम खान को इस बार अनुप्रिया पटेल ने नसीहत दी है।
  • उन्होंने आजम खान पर तंज कसते हुए कहा कि यदि उनका मन नहीं लग रहा तो वह एनडीए में शामिल हो जाएं।
  • साथ ही अनुप्रिया पटेल ने कहा कि सपा और अखिलेश यादव पर भी हमला किया।
  • उन्होंने कहा कि अखिलेश खुद कहते है वह ट्रेनी मुख्यमंत्री है।
  • ऐसे में प्रदेश की जनता को अब ट्रेनी मुख्यमंत्री की नहीं, विकास करने वाले की जरूरत है।
  • उन्होंने कहा कि अखिलेश झूठे और गलत वादे कर जनता का ध्यान भटका रहे हैं।
  • उन्होंने कांग्रेस उपाध्यक्ष पर निशाना साधा,
  • अनुप्रिया पटेल ने कहा कि राहुल गांधी को उनके ही पार्टी के नेता अपरिपक्व कहते हैं।
  • ऐसे में यूपी में सपा-कांग्रेस का यह गठबंधन काम नहीं करने वाला है।

राजनाथ सिंह ने सपा-कांग्रेस और बसपा पर लगाया भ्रष्टाचार का आरोप!

1

उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर बीजेपी विरोधियों पर काफी हमलावर हो चुकी है। बीजेपी लगातार सपा और कांग्रेस गठबंधन की नाकामियों को निशाना बना रही है। साथ ही बसपा को पत्थर वाली सरकार बताकर हमला कर रही है।

सपा कांग्रेस का गठबंधन नहीं ठगबंधन

  • केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह बुधवार को संतकबीरनगर के चुनावी दौरे पर थे।
  • उन्होंने यहां विरोधियों पर जमकर निशाना साधा।
  • उन्होंने कहा कि अखिलेश सरकार का विकास जमीन पर दिखाई नहीं देता।
  • इनकी सरकार में मंत्रियों नेताओं में भ्रष्टाचार व आपराधिक मामले है।
  • उन्होंने कहा कि सपा कांग्रेस का गठबंधन नहीं ठगबंधन है।
  • बसपा के शासन में भी प्रदेश में खुब भ्रष्टाचार हुआ।
  • उन्होंने कहा कि सपा-बसपा के शासन काल में किसानों का भला नहीं हुआ।

बीजेपी के दावे

  • गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि बीजेपी की सरकार बनते ही किसानों को बिना ब्याज कर्ज देंगे।
  • साथ ही कहा कि बेरोजगारों के लिए 20 हजार करोड़ का पैकेस दिया जाएगा।
  • उन्होंने कहा कि सरकारी नौकरी न सही, लेकिन सबको हुनरमंद जरूर बनाएंगे।
  • बेटियों के पैदा होने पर 50 हजार का बांड फिक्स किया जाएगा।
1

पुलिस अफसर पर गांव वालों ने लगाया जबरन वोट डालवाने का आरोप!

1

उत्तर प्रदेश चुनाव में दबंगों द्वारा जबरन वोट डलवाने के बहुत से मामले सामने आते रहे हैं, लेकिन इस बार यह आरोप यूपी पुलिस के एक अधिकारी पर लगा है। इस वाक्ये के बाद उत्तर प्रदेश के चुनाव में यूपी पुलिस की भूमिका पर बड़ा सवाल खड़ा हो गया है। इससे पहले भी बीजेपी व अन्य पार्टियां यूपी के डीजीपी व कई अन्य आधिकारियों को हटाने की मांग कर चुके है।

औरैया में सीओ की दबंगई

  • यूपी पुलिस पर जबरन वोट डलवाने का यह आरोप औरैया के एक गांव में ग्रामीणों लगाया है।
  • यह दो महिलाओं ने क्षेत्र की सर्कल ऑफिसर(सीओ) पर वोट के लिए जबरदस्ती करने का गंभीर आरोप लगाया है।
  • इसका एक वीडियो भी सबूत के तौर पर सामने आया है।
  • इस वीडियो में औरैया जिले के सदर विधानसभा क्षेत्र के भरतौल गाँव में रहने वाली महिलाओं ने सीओ पर आरोप लगाया है।
  • यह दोनों महिलाएं सरकारी रसोइये व रोजगार सेवक के रूप में काम करती है।
  • महिलाओं का आरोप है कि उन्हें सीओ ने उसके कहने पर वोट न देने पर नौकरी से निकालने की धमकी दी।
  • महिलाओं को सीओ की धमकी के आगे मजबूर होकर उसके अनुसार वोट करना पड़ा।

ग्रामीण वोट का कर रहे बहिष्कार

  • औरैया जिले के सदर विधानसभा क्षेत्र के भरतौल गाँव में रहने वाले ग्रामीण चुनाव का बहिष्कार कर रहे हैं।
  • उनका कहना है कि सरकार ने उनके क्षेत्र में विकास के नाम पर सड़क तक नहीं दी।
  • ऐसे में उनका कहना है कि सड़क नहीं तो, वोट नहीं।
  • गांव वालों का आरोप है कि सीओ ने काम पर गई दोनों महिलाओं को धमकी देकर वोट डालवा दिया।

1