डॉ० अखिलेश दास गुप्ता बसपा छोड़ कांग्रेस में हुए शामिल!

उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव का पहला चरण 11 फरवरी से शुरू हो रहा है, जिसके तहत यूपी चुनाव से पहले बहुजन समाज पार्टी को एक झटका लगा है।

डॉ० अखिलेश दास गुप्ता कांग्रेस में शामिल:

  • यूपी चुनाव में अब एक महीने से भी कम का समय बचा हुआ है।
  • जिसके तहत बहुजन समाज पार्टी को एक बार फिर झटका लगा है।
  • बसपा नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ० अखिलेश दास गुप्ता भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल हो गए हैं।
  • डॉ० अखिलेश दास गुप्ता को यूपी प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने कांग्रेस की सदस्यता दिलाई।
  • सदस्यता कार्यक्रम कांग्रेस के मुख्यालय पर किया गया था।

घर वापसी हुई:

  • पूर्व केंद्रीय मंत्री और बसपा नेता डॉ० अखिलेश दास गुप्ता मंगलवार 31 जनवरी को कांग्रेस में शामिल हो गए हैं।
  • इस दौरान पूर्व बसपा नेता ने कहा कि, उन्हें अपने घर वापसी की बेहद ख़ुशी है।
  • डॉ० अखिलेश दास गुप्ता ने आगे कहा कि, सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी के सहयोग से घर वापसी का सहयोग मिला है।

कांग्रेस सपा के साथ गठबंधन में लड़ रही है चुनाव:

  • डॉ० अखिलेश दास गुप्ता मंगलवार को कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं।
  • वहीँ कांग्रेस पार्टी समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव लड़ रही है।

यूपी चुनाव से पहले SC ने बसपा सुप्रीमो को दी बड़ी राहत!

बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती को उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव से पहले देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट से राहत मिल गयी है।

सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की मायावती के खिलाफ याचिका:

  • देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट ने यूपी चुनाव से पहले बसपा सुप्रीमो को राहत दे दी है।
  • सुप्रीम कोर्ट ने बसपा सुप्रीमो मायावती के खिलाफ दायर याचिका को खारिज कर दिया है।
  • याचिका के अनुसार, बसपा सुप्रीमो मायावती ने धर्म और जाति के आधार पर टिकट देने का मामला बताया गया था।
  • गौरतलब है कि, सुप्रीम कोर्ट ने धर्म और जाति के आधार पर वोटिंग के तहत आदेश भी जारी किया था।

क्या कहा, सुप्रीम कोर्ट ने:

  • सुप्रीम कोर्ट ने यूपी चुनाव से पहले बसपा सुप्रीमो मायावती को राहत दे दी है।
  • जिसके तहत सुप्रीम कोर्ट ने मायावती के खिलाफ दायर याचिक को ख़ारिज कर दिया है।
  • सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि, राज्य में चुनाव प्रक्रिया जारी है, ऐसे में कोर्ट कुछ नहीं कर सकता है।

भाजपा नेता ने दायर की थी याचिका:

  • सुप्रीम कोर्ट ने बसपा सुप्रीमो मायावती को राहत दे दी है।
  • बसपा सुप्रीमो के खिलाफ भाजपा नेता नीरज शंकर सक्सेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी।
  • याचिका में बसपा सुप्रीमो के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गयी थी।

शिवपाल सिंह यादव आज भरेंगे अपना नामांकन!

उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव मंगलवार 31 जनवरी को आगामी विधानसभा चुनाव के तहत अपना नामांकन भरेंगे।

जसवंतनगर से प्रत्याशी और विधायक हैं:

  • समाजवादी पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव मंगलवार को अपना नामांकन भरेंगे।
  • शिवपाल सिंह यादव जसवंतनगर सीट से अपना नामांकन भरेंगे।
  • ज्ञात हो कि, शिवपाल सिंह यादव जसवंतनगर विधानसभा सीट से मौजूदा विधायक भी हैं।

सबसे अधिक मतों से जीतते हैं शिवपाल सिंह यादव:

  • मंगलवार को सपा नेता शिवपाल सिंह यादव अपना नामांकन भरेंगे।
  • जिसके तहत सभी तैयारियां कर ली गयी हैं।
  • ज्ञात हो कि, शिवपाल सिंह जसवंतनगर सीट से ही चुनाव लड़ते हैं।
  • साथ ही शिवपाल सिंह यादव के नाम अभी तक सबसे वोटों से चुनाव जीतने का रिकॉर्ड भी है।
  • साल 2012 में शिवपाल सिंह रिकॉर्ड 1 लाख 33 हजार मतों से जीते थे।

अखिलेश यादव ने दिया था टिकट:

  • समाजवादी पार्टी और परिवार में बीते कई दिनों से घमासान मचा हुआ था।
  • यह घमासान अखिलेश यादव और शिवपाल सिंह यादव के बीच मचा हुआ था।
  • जिसके बाद ऐसा माना जा रहा था कि, अखिलेश यादव शिवपाल सिंह यादव को टिकट नहीं देंगे।
  • लेकिन आख़िरकार सपा प्रमुख के दबाव के चलते शिवपाल सिंह यादव को टिकट दे दिया गया था।
  • हालाँकि, अखिलेश यादव ने शिवपाल के सभी करीबियों के टिकट काट दिए हैं।

पंजाब विधानसभा चुनाव : अमित शाह का अमृतसर से जनता के नाम संबोधन!

आगामी विधानसभा चुनावों के लिए भारतीय जनता पार्टी ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं. जिसके तहत पार्टी जनता को लुभाने का हर भरसक प्रयास कर रही है. इसी श्रेणी में बीजेपी के पार्टी प्रमुख अमित शाह पंजाब के अमृतसर में रैली को संबोधित कर रहे हैं.

पंजाब कांग्रेस पर साधा निशाना :

  • आगामी पंजाब विधानसभा चुनावों के मद्देनज़र सभी पार्टियां अपनी रैलियाँ करने में जुट गयी हैं.
  • इसी क्रम को आगे बढ़ाते हुए बीजेपी भी आज पंजाब के अमृतसर में रैली कर रही है.
  • इस रैली को पार्टी प्रमुख अमित शाह के नेतृत्व में कराया जा रहा है.
  • जहाँ वे अमृतसर की जनता को संबोधित कर रहे हैं.
  • बता दें कि अपने संबोधन में उन्होंने पंजाब की कांग्रेस पार्टी को निशाना बनाया है.
  • अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह किस तरह के कैप्टन हैं हमें समझ नहीं आता.
  • इसके साथ ही उन्होंने कहा कि उन्हें हमेशा ही राहुल बाबा के आदेशों का पालान करना पड़ता है.
  • अमित शाह ने बीजेपी से गठबंधन की हुई शिरोमणि अकाली दल पर भी प्रकाश डाला.
  • जिसके तहत उन्होंने पार्टी प्रमुख प्रकाश सिंह बादल की तारीफ़ के पुलिंदे गाड़े.
  • उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि पता नहीं क्यों कुछ लोग बादल जी का नाम गलत तरह से इस्तेमाल करते हैं.
  • परंतु अगर देखा जाए तो पंजाब आज भी उन्ही के नाम से जाना जाता है.

गोवा विधानसभा चुनाव : राहुल गाँधी आज करेंगे गोवा को संबोधित!

आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनज़र सभी पार्टियाँ अपनी तैयारियों में जुट गयी हैं. ऐसे में कांग्रेस पार्टी भी पंजाब व गोवा में अपनी जीत के लिए भरसक प्रयास कर रही है. जिसके तहत कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी पंजाब की जनता को संबोधित करने के बाद आज गोवा की जनता को संबोधित करेंगे. साथ ही रैली भी निकालेंगे.

बीजेपी पर साधेंगे निशाना :

  • बीते दिनों पंजाब में लगातार कई रैलियाँ करने के बाद आज राहुल गोवा में अपनी रैली करेंगे.
  • बता दें कि इस रैली में वे बीजेपी पर निशाना साधेंगे.
  • दरअसल बीते दिनों बीजेपी से गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने गोवा की जनता को संबोधित किया था.
  • साथ ही अपने इस संबोधन में उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधा था.
  • जिसपर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी आज पलटवार कर सकते हैं.
  • आपको बता दें कि राजनाथ सिंह ने अपनी रैली में कांग्रेस को जमकर कोसा था.
  • साथ ही नसीहत भी दी थी कि राजनीति केवल सरकारबनाने के लिए नहीं होती,
  • बल्कि राजनीति देश के विकास के लिए की जानी चाहिए.
  • यही नहीं अपनी पंजाब रैली में राहुल ने बीजेपी को जमकर कोसा था.
  • साथ ही [पंजाब की शिरोमणि अकाली दल पर भी जमकर निशाना साधा था.
  • जिसके बाद आज वे गोअया रैली को संबोधित करने वाले हैं.

लखनऊ में आज मनाया जायेगा ‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’!

उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव का पहला चरण 11 फरवरी से शुरू हो रहा है, जिसके तहत चुनाव आयोग ने अपनी सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। बुधवार 25 जनवरी को भारतीय निर्वाचन आयोग की स्थापना हुई थी। तबसे इस दिन को राष्ट्रीय मतदाता दिवस के रूप में मनाया जाता है।

कार्यक्रम का आयोजन:

  • 25 जनवरी को भारत निर्वाचन आयोग की स्थापना हुई थी।
  • जिस संदर्भ में पूरे देश में राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है।
  • इसी सन्दर्भ में सूबे की राजधानी लखनऊ में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।
  • यह कार्यक्रम लखनऊ स्थित इंदिरा गाँधी प्रतिष्ठान में आयोजित किया गया है।
  • इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान मे कार्यक्रम में उपनिर्वाचन आयुक्त विजय देव मुख्य अतिथि होंगे।
  • साथ ही कार्यक्रम में जिला निर्वाचन अधिकारी टी वेंकटेश भी शामिल होंगे।

अफसरों को किया जायेगा सम्मानित:

  • लखनऊ में बुधवार को राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जा रहा है।
  • कार्यक्रम का आयोजन लखनऊ स्थित इंदिरा गाँधी प्रतिष्ठान में आयोजित किया गया है।
  • कार्यक्रम में चुनावों में बेहतर प्रदर्शन करने वाले अफसर को सम्मानित किया जायेगा।
  • इसके साथ ही कार्यक्रम में मतदाताओं को शपथ शपथ दिलाई जाएगी।
  • इस दौरान कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के कई अफसर भी मौजूद रहेंगे।

ये भी पढ़ें: CM अखिलेश के प्रचार वाहन में लगी प्रियंका, राहुल की तस्वीर!

95 साल की निर्दलीय प्रत्याशी जल देवी ने आगरा से भरा नामांकन!

उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव का पहला चरण 11 फरवरी से शुरू हो रहा है। गौरतलब है कि, यूपी विधानसभा चुनाव कुल 7 चरणों में संपन्न होगा। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश के आगरा जिले से एक महिला ने भी निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन किया है।

महिला की उम्र 95 साल है:

  • यूपी विधानसभा चुनाव में अब एक महीने से भी कम का समय बचा हुआ है।
  • जिसके तहत सभी तीन चरणों के लिए प्रत्याशियों का नामांकन किया जा रहा है।
  • इसी बीच सूबे के आगरा जिले से एक महिला भी नामांकन के लिए पहुंची हैं।
  • महिला का नाम जल देवी है और उनकी उम्र 95 साल है।
  • जल देवी एक निर्दलीय प्रत्याशी हैं।
  • निर्दलीय प्रत्याशी जल देवी ने आगरा के खैरागढ़ से अपना नामांकन भरा है।

इस उम्र में भी काफी उत्साहित हैं जल देवी:

  • आगरा की रहने वाली जल देवी ने 95 साल की उम्र में खैरागढ़ से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन किया है।
  • 95 साल की अवस्था में भी जल देवी नामांकन को लेकर काफी उत्साहित हैं।
  • उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि, उनका एजेंडा है कि, वो भ्रष्टाचार को जड़ से खत्म कर दें।
  • साथ ही उन्होंने कहा कि, उनकी विधानसभा में सारी व्यवस्थाएं सुचारू रूप से चलती रहें।

यूपी चुनाव के बचे हुए प्रत्याशियों की लिस्ट जारी करेगी भाजपा!

उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव का पहला चरण 11 फरवरी से शुरू हो रहा है। जिसके तहत भारतीय जनता पार्टी गुरुवार 19 जनवरी को बाकी बचे हुए प्रत्याशियों की सूची जारी कर सकती है। इसके साथ ही भाजपा उत्तराखंड के बाकी बचे हुए प्रत्याशियों की सूची भी जारी कर सकती है।

बुधवार को अमित शाह के आवास पर हुई थी बैठक:

  • उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में अब एक महीने से भी कम का समय बचा हुआ है।
  • वहीँ भारतीय जनता पार्टी ने यूपी चुनाव के तहत 149 प्रत्याशियों की सूची जारी की थी।
  • जिसके बाद अन्य प्रत्याशियों के नाम पर पार्टी में चर्चा चल रही थी।
  • बुधवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के आवास पर सूची को लेकर बैठक हुई थी।
  • बैठक में अमित शाह, यूपी प्रभारी ओम माथुर, यूपी प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य शामिल हुए थे।

सेंट्रल इलेक्शन कमेटी की बैठक के बाद बनी थी पहली सूची:

  • भाजपा यूपी चुनाव के लिए गुरुवार को अपने बाकी बचे प्रत्याशियों की सूची जारी करेगी।
  • अपनी पहली सूची में भाजपा ने 149 प्रत्याशियों की सूची जारी की थी।
  • यह फैसला भाजपा ने सेंट्रल इलेक्शन कमेटी की बैठक में लिया था।
  • गौरतलब है कि, भाजपा में भी टिकट वितरण के बाद घमासान मचा हुआ है।

जब पिता की बात नहीं सुनते तब जनता का दर्द क्या समझेंगे मुख्यमंत्री!

समाजवादी पार्टी मौजूदा समय में पूरी तरह से ध्वस्त नजर आ रही है। एक ओर जहाँ आगामी विधानसभा चुनाव के तहत समाजवादी पार्टी की तैयारियां न के बराबर हैं। वहीँ मुख्यमंत्री अखिलेश और सपा प्रमुख के बीच दूरियां बढ़ती ही जा रही हैं। जिसके चलते पार्टी कार्यकर्ताओं में भी निराशा का प्रसार हो चुका है।

सपा प्रमुख का छलका दर्द:

  • वहीँ सोमवार को नेताजी सपा कार्यालय पहुंचे थे। जहाँ एक बंद कमरे में सपा प्रमुख ने पार्टी कार्यकर्ताओं से बात की।
  • इस दौरान सपा प्रमुख ने अपना दर्द कार्यकर्ताओं से साझा किया।
  • नेताजी इतने व्यथित थे कि, उन्होंने ये तक कह दिया कि, यदि अखिलेश नहीं मानें तो उनके खिलाफ चुनाव लडूंगा।
  • सपा प्रमुख ने यह भी कहा कि, मैंने अखिलेश को इतनी बार बुलाया पर वो सिर्फ एक मिनट रूककर मेरी बात सुने बिना ही हर बार चले गए।

चुनाव की रेस में पिछड़ी सपा:

  • अगर सपा प्रमुख की बातों को सही मान लिया जाये तो इसका मतलब यह हुआ कि, सुलह की हर कोशिश अखिलेश यादव तक आकर ही खत्म हुई है।
  • ऐसे में मुख्यमंत्री अखिलेश की क्या जिम्मेदारी है, क्या वो सत्ता के नशे में इतना चूर हो चुके हैं कि,
  • “अपने पिता तक की बात सुनना उन्हें गंवारा नहीं है?”
  • मुख्यमंत्री अखिलेश को अभी यह लगता है कि, वे अपने विकास कार्यों के बल पर दोबारा से सरकार बना सकते हैं।
  • जिसका सीधा मतलब यह है कि, मुख्यमंत्री अखिलेश को अपने विकास कार्यों की जमीनी हकीकत मालूम नहीं है।
  • उसके अलावा सूबे की जनता के सामने एक सन्देश यह भी गया होगा कि,
  • “जब CM अपने पिता की नहीं सुनते तो जनता की क्या सुनेंगे”।
  • फिर चाहे कितना भी मुख्यमंत्री कहें की अपराधियों के खिलाफ मैंने ऐसा किया,
  • तो जनाब अपराधियों की याद आपको चुनाव के समय ही आई? उससे पहले तो उन्हीं अपराधियों को आपने मंत्रालय बांटे हुए थे।
  • साथ ही साथ मुख्यमंत्री उस वक़्त क्या करेंगे जब नेताजी उन्हीं के खिलाफ प्रचार करना शुरू कर देंगे।
  • इस बात से तो सभी को इत्तेफाक होना चाहिए कि, नेताजी मतलब समाजवादी पार्टी।
  • मुख्यमंत्री अखिलेश से तो इस स्तर पर अभी तक पहुंचे भी नहीं है।
  • विधानसभा चुनाव अब सिर पर हैं, ऐसे में अखिलेश यादव की जिद पहले से पिछड़ चुकी सपा को गर्त में पहुंचा सकती है।