रोजाना होने वाले 'मसल्स पेन' दे सकते हैं गंभीर बीमारी को न्योता!

रोजाना होने वाले

कहते हैं कि मांस पेशियों में दर्द (मसल्स पेन muscles pain problems) बुजुर्गों में होती है लेकिन आज युवा पीढ़ी भी इस दर्द से जूझ रही ही है। इसका मुख्य कारण है आज के समय में भाग-दौड़ वाली जिंदगी। कई बार मांस पेशियों में दर्द से निजात पाने के लिए लोग मसाज या दवा का सहारा लेते हैं। लेकिन रोजाना या अक्सर होने वाला आपका यह दर्द गंभीर बीमारी को न्योता दे सकता है। जानिए मांस पेशियों में दर्द के कारण किन-किन समस्यों का सामना करना पड़ सकता है।
यह भी पढ़ें... 
एक सिगरेट छोड़कर आप सतेंद्र कुमार की जिंदगी बचा सकते हैं, जानिए कैसे!

करना पड़ सकता है कई समस्याओं का सामना :

  • जब आपके शरीर में इंसुलिन का बैलेंस बिगड़ने लगता है तो मांस पेशियों में दर्द की समस्या उतपन्न हो जाती है।
  • इंसुलिन की कमी के कारण डायबिटीज की समस्या हो जाती है।
  • मांस पेशियों में दर्द का कारण आपके शरीर में प्रोटीन की कमी है इस कारण आपकी मसल्स कमजोर हो गई हैं।
  • कभी-कभी मांस पेशियों में दर्द के कारण गठिया जैसे रोग होने की आशंका हो सकती है।
  • जब आपके शरीर में पानी की कमी होती है तब भी मांस पेशियों में दर्द होता है।
  • यह दर्द आगे चलकर डिहाइड्रेशन की समस्या उत्पन्न कर देता है।
  • कई बार मांस पेशियों का यह दर्द शरीर के ब्लड सर्कुलेशन बिगड़ने का एक संकेत है।
  • मांस पेशियों या मसल्स पेन गठिया यानी आर्थराइटिस की तरफ भी इशारा करता है।
यह भी पढ़ें... गर्मी में पानी की कमी को दूर कर और फायदे पहुंचाएगा ‘गन्ने का रस’!

शरीर में पाई जाती है 3 प्रकार की मसल्स :

  • शरीर में तीन तरह की मसल्स पाई जाती है।
  • इन तीनों को स्केलेटल मसल्स, कार्डियक मसल्स और स्मूथ मसल्स के नाम से जाना जाता है।
  • यह शरीर के अलग-अलग हिस्सों में होती है।
  • स्केलेटल मसल्स मुख्यत: हड्डियों से जुड़ी होती है।
  • जबकि कार्डियक मसल्स हार्ट की दीवारों पर पाई जाती हैं।
  • स्मूथ मसल्स बॉडी के ऑर्गन्स जैसे स्टमक, यूटेरस और ब्लैडर में पाई जाती है।
यह भी पढ़ें... खुलासा: किन्नर की शादी के 18वें दिन निभाई जाती है ये दर्दनाक प्रथा!

Share it
Share it
Share it
Top