झूठी मुस्कुराहट से नहीं पायी जा सकती असली ख़ुशी!

झूठी मुस्कुराहट से नहीं पायी जा सकती असली ख़ुशी!

हम आपको बता दें दिखावें के लिए मुस्कुराने वालों के लिए यह ध्यान देने वाली बात हैं अगर ऐसा करके वें मानते या दिखाते हैं कि खुश हैं तो यह गलत एक शोध के मुताबिक पता चला हैं कि दिखावे के लिए हंसना यह तो आपकी अंतरात्मा जानती होगीं इसलिए शरीर को वों फायदा नहीं मिलता जो स्वाभाविक रूप से मुस्कुराने या हंसने से मिलता हैं.

झूठी मुस्कुराहट आपके लिए हैं बेकार :

  • हॉलैंड के एम्सटर्डम में शोधकर्ताओं ने मुंह में पेन लगाकर इस तरह से मुस्कुराने का एक प्रयोग 1,894 लोगों पर आजमाया हैं.
  • इसमें देश भर की 17 प्रयोगशालाओं का  सहयोग लिया गया हैं.
  • इस प्रयोग के बाद जो परिणाम आया हैं इससे साफ़ नजर आता हैं कि मन से हंसना जरूरी हैं.
  • झूठी मुस्कुराहट और दिखावा करने का कोई मतलब नहीं हैं.
  • मन से हंसना सेहत के लिए भी अच्छा रहता हैं.
  • शोध के अनुसार दिल से हंसने से ज्यादा ख़ुशी मिलती हैं न की झूठी मुस्कुराहट से.

यह भी पढ़ें : काले घने बालों के लिए अपनाएं यें नुस्खे!

यह भी पढ़ें : सर्दियों में होठों की ऐसे करें देखभाल!

Share it
Share it
Share it
Top