वीडियो: 11 मई 1998, जब दहल गयी थी पोखरण की जमीन!

हालांकि प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी ने परमाणु परीक्षण के बाद ये स्पष्ट भी कर दिया था कि भारत किसी भी देश पर पहले परमाणु बम का प्रयोग नहीं करेगा और ना ही उस देश के खिलाफ परमाणु बम का प्रयोग करेगा जो इसमें समर्थ नहीं हैं।

दरअसल, ये सब यूँही नहीं हो गया! बीजेपी के नेतृत्व वाली NDA सरकार के लिए पोखरण में परमाणु परीक्षण करने का फैसला लेना इतना आसान नहीं था। ये अटल बिहारी बाजपेयी के द्वारा लिया गया वो फैसला था जिस फैसले को लेने का साहस भारत की पूर्ववर्ती सरकारें नहीं कर पाई थी। लेकिन 2 महीने पुरानी सरकार ने ये फैसला लेने की साहस दिखाने के साथ ही सफलतापूर्वक परमाणु परीक्षण करके अमरीका को साफ-साफ सन्देश दे दिया था कि अब भारत भी परमाणु बम रखने वाले देशों में शामिल हो गया है।

About UP.org Editor

Journalist