वीडियोः एक युवक के सवाल पर नहीं सूझा मदनी को कोई जवाब

 

 

राजनीति में वैचारिक भिन्नता हो सकती है और यह सर्वमान्य है परन्तु यदि कोई कार्य मुसलमानों के हित में किया जाता है तो क्या उसका विरोध करना भी सही है।