4  Dec  2016

वीडियो: 3 सेकंड मे हुआ हादसा, पैर फिसला और सेल्फी बनी मौत...

वीडियो: 3 सेकंड मे हुआ हादसा, पैर फिसला और सेल्फी बनी मौत का कारण

सेल्फी को जुनून की तरह नहीं, केवल एक शौक के तौर पर लेना चाहिए। शौक और जुनून के फर्क को समझें, क्योंकि आखिरकार यह केवल एक तस्वीर ही है, इसके अतिरिक्त और कुछ नहीं।

कोलंबिया एशिया अस्पताल के मनोचिकित्सा विभाग के डॉ आशीष मित्तल के अनुसार ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं जिनमें एक अच्छी तस्वीर लेने के लिए युवा जान जोखिम में डाल लेते हैं। इसे देखते हुए आदत और जुनून में फर्क करना जरूरी है।

TRENDING NEWS & VIDEOS

14000 करोड़ के कारोबारी महेश शाह को निजी टीवी चैनल के दफ्तर से गिरफ्तार किया गया.महेश शाह अपनी…

पीएम नरेन्द्र मोदी के 500 और 1000 के नोटों को बंद करने के फैसले के बाद से…

हाल ही में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का किडनी ट्रांसप्लांट ऑप्रेशन होना है जिसके लिए वे भले…

भारत को आजाद करवाने के लिए हमारी स्वंत्रता सेनानियों ने अपना बलिदान दिया है। भगत सिंह से…

About us | Contact us | Privacy Policy | Terms & Conditions