NEWS FLASH

3 जुलाई : जानें इतिहास के पन्नों में आज का दिन क्यों है ख़ास!

3 जुलाई : जानें इतिहास के पन्नों में आज का दिन क्यों है ख़ास!

भारत का इतिहास हमेशा से ही अपने-आप में एक मिसाल के तौर पर उभरा है। यहाँ पर होने वाली सभी गतिविधियाँ हमेशा से ही अपने साथ इन दिनों की महत्ता लेकर आते हैं। इस देश का इतिहास अपने-आप में एक मिसाल है और हमेशा ही रहेगा। इस देश का हर एक दिन इतना ख़ास रहा है कि यह इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया है।

1972 में हुआ शिमला समझौते पर हस्ताक्षर :

  • 3 जुलाई 1972 को भारत-पाकिस्तान युद्ध के बाद शिमला में एक संधि पर हस्ताक्षर हुए।
  • जिसे शिमला समझौता कहा जाता है।
  • इसमें भारत की तरफ से इंदिरा गांधी और पाकिस्तान की तरफ से जुल्फिकार अली भुट्टो शामिल थे।
  • जुल्फिकार अली भुट्टो ने 20 दिसंबर 1971 को पाकिस्तान के राष्ट्रपति का पदभार संभाला।
  • उन्हें विरासत में एक टूटा हुआ पाकिस्तान मिला।
  • सत्ता सभालते ही भुट्टो ने यह वादा किया कि वह शीघ्र ही बांग्लादेश को फिर से पाकिस्तान में शामिल करा लेंगे।
  • पाकिस्तानी सेना के अनेक अधिकारियों को, देश की पराजय के लिए उत्तरदायी मान कर, बर्खास्त कर दिया गया था।
  • कई महीने तक चलने वाली राजनीतिक-स्तर की बातचीत के बाद जून 1972 के अंत में शिमला में भारत-पाकिस्तान शिखर बैठक हुई।
  • इंदिरा गाधी और जुल्फिकार भुट्टो ने, अपने उच्चस्तरीय मंत्रियों और अधिकारियों के साथ, उन सभी विषयों पर चर्चा की, जो 1971 के युद्ध से उत्पन्न हुए थे।
  • साथ ही उन्होंने दोनों देशों के अन्य प्रश्नों पर भी बातचीत की।
  • इनमें मुख विषय थे, युद्ध बंदियों की अदला-बदली, पाकिस्तान द्वारा बांग्लादेश को मान्यता का प्रश्न, भारत और पाकिस्तान के राजनयिक संबंधों को सामान्य बनाना, व्यापार फिर से शुरू करना और कश्मीर में नियंत्रण रेखा स्थापित करना।
  • लंबी बातचीत के बाद भुट्टो इस बात के लिए सहमत हुए कि भारत-पाकिस्तान संबंधों को केवल द्विपक्षीय बातचीत से तय किया जाएगा।
  • शिमला समझौते के अंत में एक समझौते पर इंदिरा गाधी और जुल्फिकार अली भुट्टो ने हस्ताक्षर किए।

अन्य कुछ झलकियां :

  • 1616 में मुग़ल बादशाह शाह जहाँ के पुत्र शाह शुजा (मुग़ल)  का जन्म हुआ था।
  • 1760 में मराठा सेना ने दिल्ली पर कब्जा किया।
  • 1879 में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बासुदेव बलवंत फड़के को गिरफ्तार कर लिया गया।
  • 1897 में भारत की प्रसिद्ध समाजसेवी, स्वतंत्रता सेनानी और शिक्षाविद हंसा मेहता का जन्म में हुआ था।
  • 1941 में मलयालम सिनेमा और भारत के चोटी के फ़िल्म निर्माता अदूर गोपालकृष्णन का जन्म हुआ था।
  • 1979 में दूसरे हावड़ा ब्रिज नाम से कोलकाता में मशहूर विद्यासागर सेतु का निर्माण शुरू हुआ।
  • 1996 में हिन्दी फ़िल्म अभिनेता राज कुमार का निधन हुआ था।
  • 2005 में महेश भूपति और मेरी पियर्स ने विंबलडन टेनिस का मिश्रित युगल ख़िताब जीता।
    2006 में कैरेबियाई द्वीप पर 35 साल बाद भारतीय क्रिकेट टीम ने पहली बार जीत दर्ज की।
  • 2007 में विवादास्पद लेखक सलमान रूश्दी ने अपनी पत्नी पद्म लक्ष्मी से तलाक लेने की घोणा की।
  • 2015 में भारत के सर्वोच्च न्यायालय के 36वें भूतपूर्व मुख्य न्यायाधीश योगेश कुमार सभरवाल  का निधन हुआ।

Share it
Share it
Share it
Top