4  Dec  2016

देश के 5 सबसे अद्भुत और अनसुलझे रहस्य!

देश के 5 सबसे अद्भुत और अनसुलझे रहस्य!

Nidhi Van, Vrindavan

3. रंग महल

उत्तर प्रदेश के वृन्दावन में स्थित यह मंदिर आज भी अपने में कई रहस्य समेटे हुए हैं। माना जाता है कि आज भी निधिवन में रास रचाने के बाद भगवान श्रीकृष्ण और श्रीराधा रंग महल में विश्राम करते हैं। मंदिर में प्रतिदिन अँधेरा होने से पहले माखन मिश्री का प्रसाद रखा जाता है और सोने का एक पलंग लगाया जाता है। रात होते ही मंदिर के दरवाजे अपने आप बंद हो जाते हैं और सुबह बिस्तर देखने पर ऐसा लगता है जैसे कोई रात में यहाँ सोया हो, साथ ही उसने रखे गए प्रसाद को भी ग्रहण किया हो। मान्यता है कि रात में मंदिर में रुकने वाले किसी भी प्राणी की मृत्यु हो जाती है। यह मंदिर आज भी लोगों के बीच एक रहस्य बना हुआ है।

Yam Dwar, Tibet

4. यमद्वार:

तिब्बत में स्थित यमद्वार भी उन रहस्मयी जगहों में से एक है, जहां रात में रुकने पर मृत्यु हो जाती है। तिब्बती लोग इसे चोरटेन कांग नग्यी नाम से बुलाते हैं, जिसका मतलब है दो पैरों वाला स्तूप। कैलाश पर्वत के रास्ते में पड़ने वाली इस जगह को यमराज के घर का द्वार माना जाता है। इस जगह के निर्माण के बारे में आज तक कोई प्रमाण नहीं मिले हैं।

Asirgarh Fort, Burhanpur, Madhya Pradesh

5. अश्वत्थामा:

पौराणिक मान्यता के अनुसार अश्वत्थामा ने अपने पिता द्रोणाचार्य की मौत का बदला लेने के लिए अभिमन्यु के पुत्र परीक्षित पर ब्रह्मास्त्र चलाया था। लेकिन भगवान श्रीकृष्ण ने परीक्षित की रक्षा की और अश्वत्थामा को युगों-युगों तक भटकने का श्राप दिया। मध्यप्रदेश के बुरहानपुर शहर के पास एक पहाड़ी पर बने असीरगढ़ के किले के आस-पास आज भी अश्वत्थामा को देखने का दावा करते हैं। लोगों का कहना है कि आज तक जिसने भी अश्वत्थामा को देखा है वह बीमार हो गया। कहते हैं कि असीरगढ़ के किले में बने शिव मंदिर में आज भी अश्वत्थामा पूजा करने आते हैं।

TRENDING NEWS & VIDEOS

14000 करोड़ के कारोबारी महेश शाह को निजी टीवी चैनल के दफ्तर से गिरफ्तार किया गया.महेश शाह अपनी…

पीएम नरेन्द्र मोदी के 500 और 1000 के नोटों को बंद करने के फैसले के बाद से…

हाल ही में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का किडनी ट्रांसप्लांट ऑप्रेशन होना है जिसके लिए वे भले…

भारत को आजाद करवाने के लिए हमारी स्वंत्रता सेनानियों ने अपना बलिदान दिया है। भगत सिंह से…

About us | Contact us | Privacy Policy | Terms & Conditions